stenographer kaise bane/ How to become stenographer

stenographer kaise bane

Stenographer kaise bane. क्या आप स्टेनोग्राफर बनना चाहते है क्या स्टेनोग्राफर कैसे बनें इसके बारे में जानकारी चाहते तो आप सही लेख पढ़ रहे है।  इस लेख में आप को सरकारी औऱ प्राइवेट जॉव के तहत स्टेनोग्राफर के बारे में जानकारी दे रहे है। इस लेख में हम जानगें कि Stenographer kaise bane, What is stenographer , qualification, आदि के बारे में

Stenographer kaise bane

आज के समय में कई स्टुडेंट के 12 वीं के बाद में कंपटीशन जॉब से तैयारी की जाए जिससे की जल्द जॉब मिल सकें। ऐसे में स्टुडेंट के लिए स्टेनोग्राफर बनना अच्छा साबित हो सकता है। सबसे अच्छी बात यह है कि 12वीं क्लास पास करने के बाद किसी सरकारी विभाग या प्राइवेट फर्म में स्टेनोग्राफर की जॉब ज्वाइन करना चाहते हैं तो स्टेनोग्राफर का पे-स्केल किसी टाइपिस्ट या क्लर्क से ज्यादा होता है।

एक स्टेनोग्राफर एक बढ़िया टाइपिस्ट तो हो सकता है लेकिन हरेक टाइपिस्ट अक्सर एक स्टेनोग्राफर नहीं होता है। इसी तरह, किसी क्लर्क को टाइपिंग तो आ सकती है लेकिन, शॉर्टहैंड का स्किल हरेक क्लर्क के पास नहीं होता है। स्टेनोग्राफर्स किसी टीवी शो में बोलने वाले व्यक्तियों की बातचीत टाइप करना, किसी कोर्टरूम में जज, वकील या गवाह जो कुछ बोलते हैं, उसे तुरंत टाइप करने वाला व्यक्ति ही दरअसल एक स्टेनोग्राफर होता है।

Starting of stenography

पिटमैन शॉर्टहैंड को सबसे पहले वर्ष 1837 में इंग्लिश टीचर सर इसाक पिटमैन ने शुरू किया था। तबसे शॉर्टहैंड में कई बार सुधार हो चुका है। पिटमैन के सिस्टम को पूरी दुनिया में इंग्लिश-स्पीकिंग लोग इस्तेमाल करते हैं और अब तक लैटिन भाषा सहित कई अन्य भाषाओँ में शॉर्टहैंड का विकास हो चुका है।

What is stenographer

शॉर्टहैंड, जिसे स्टेनोग्राफी के तौर पर भी जाना जाता है, इन्सटेंट राइटिंग का एक तरीका/ सिस्टम है जिसमें  लेटर्स, वर्ड्स या फ्रेजेस के लिए सिंबल या एबरीविएशन्स का इस्तेमाल किया जाता है। शॉर्टहैंड या स्टेनोग्राफी का इस्तेमाल बोले जाने वाले शब्दों के ट्रांसक्रिप्शन या प्रतिलेखन के लिए काफी स्पीड से लिखने के लिए किया जाता है। यह एक ऐसी स्पेशल स्टेनोटाइप मशीन होती है जिसे स्टेनोग्राफर या स्टेनो राइटर शॉर्टहैंड के लिए इस्तेमाल करता है। इसमें केवल 22 कीज़ होती हैं और अक्सर स्टेनोग्राफर एक बार में कई कीज़ को एक-साथ प्रेस करता है।

How to become a stenographer

इसमें करियर बनाने लिए आप क्या करना पड़ेगा सबसे पहले आप को 12वी में किसी भी विषय के साथ में पास होना चाहिए। एसएससी स्टेनोग्राफर रिक्रूटमेंट एग्जाम में शामिल होने के लिए, कम से कम एजुकेशनल क्वालिफिकेशन के तौर पर, आपने किसी मान्यताप्राप्त बोर्ड या यूनिवर्सिटी से 10+2 का एग्जाम पास किया हो या आपके पास इसके समान एजुकेशनल क्वालिफिकेशन होनी चाहिए.इसके बाद में स्टेनोग्राफर पद पर नियुक्ति के लिए अभ्यर्थी को किसी भी संकाय में मान्यता प्राप्त संस्थान से स्नातक की परीक्षा उत्तीर्ण होना चाहिए | शार्ट हैंड सीखने के लिए अभ्यर्थी को इंटरमीडियट की परीक्षा उत्तीर्ण होना चाहिए |

स्टेनोग्राफर बनने की प्रक्रिया दो चरणों में पूरी होती है, जिसमें पहली है स्टेनोग्राफर को सीखना – इसके अन्तर्गत आपको स्टेनो टाइपिंग सीखना होगा, टाइपिंग सीखने के लिए आप पॉलिटेक्निक या आईटीआई संस्थान में प्रवेश प्राप्त कर सकते है, आप निजी संस्थान से भी टाइपिंग सीख सकते है, परन्तु वह सरकार द्वारा मान्यता प्राप्त होना चाहिए |

सेकंड स्टेप– इस स्टेप  में आपको स्टेनो टाइपिंग सीखने के बाद इसकी गति को बढ़ाना होगा। जिससे की आप टेस्ट में पास कर सकें। आपकी टाइपिंग स्पीड हिंदी भाषा में 80 शब्द प्रति मिनट और अंग्रेजी भाषा में 80 शब्द प्रति मिनट होनी चाहिए | स्टेनोग्राफर की पोस्ट पर सिलेक्शन  के लिए टाइपिंग मुख्य भूमिका निभाती है।

Age limit

स्टेनोग्राफर की पोस्ट के लिए 18 – 25 वर्ष की आयु के लोग एसएससी का स्टेनोग्राफर एग्जाम देने के लिए योग्य होते हैं लेकिन भारत सरकार और राज्य सरकारों द्वारा विभिन्न आरक्षित वर्गों के लिए निर्धारित नियमों के अनुसार अधिकतम आयु में छूट दी जाती है।

Salary package

आमतौर पर किसी स्टेनोग्राफर का पे-स्केल लगभग रु. 5200-20200/- रु. और ग्रेड-पे रु. 2600/- है। अर्थात प्रति माह लगभग 30,000 रुपये टोटल पे मिलती है। अगर आप ग्रेजुएशन और पोस्टग्रेजुएशन की डिग्री प्राप्त कर लेते हैं तो आपके पे-स्केल में भारत सरकार के निर्धारित नियमों के अनुसार इजाफ़ा होता है। हालांकि जानकारी के लिए के लिए बता दें कि  ग्रेड-पे विभाग के अनुसार अलग हो सकती है। इसके अलावा मल्टी-नेशनल कंपनियों और प्राइवेट सेक्टर में भी हरेक कंपनी का पे-स्केल अलग-अलग होता है।

Career scope

देश के सरकारी से लेकर गैर सरकारी संस्थाओ में ऐसे कैडिडेट को हॉयर किया जाता है जो विभिन्न मंत्रालयों विभागों लिए एसएससी, यूपीएससी द्वारा विज्ञापन निकाले जाते है। जो विभिन्न संगठन स्टेनोग्राफर की पोस्ट के लिए एप्लीकेशन्स न अन्य प्रमुख इंस्टीट्यूट्स में मल्टी-नेशनल कंपनियां, सेंट्रल सेक्ट्रेरियेट, फॉरेन सर्विस, रेलवे, हेडक्वार्टर्स ऑफ़ आर्म्ड फोर्सेज, रिसर्च,  बैंकिंग सेक्टर आदि हैं। आदि ऐसे सेक्टर में स्टेनोग्राफर से स्किल्ड कैडिडेट को हॉयर किया जाता है।

Career Pedia को उम्मीद है कि इस पोस्ट में दी गई  जानकारी आपको पसंद आई होगी। अगर आपके कोई भी सवाल या सुझाव हैं तो हमे कॉमेंट कर सकते हैं। हमारे You Tube Channel, Facebook page Linkdin page और Instragram पर जुड़ सकते है। वहां से करियर जानकारी के पोस्ट व वीडियों के लेटेस्ट नोटिफिकेशन पा सकते है। धन्यवाद !!

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *