Statistician kaise bane/How to become statistician?

Statistician kaise bane

Statistician kaise bane:- ऐसे कई स्टुडेंट है जिन्हें आंकड़ों से लगाव होता है। वे डेटा से संबधित काम में जैसे प्रेजेंटेशन, एनालिसिस, इंटरप्रेटेशन में जबरजस्त रुचि रखते है। क्यों आप उनमें से हैं तो आप के लिए स्टेटिस्टिक्स के तौर पर करियर बनाना अच्छा साबित हो सकता है आज के इस लेख में करियर पीडिया लाया है स्टेटिस्टीशियन कैसे बनें इस करियर ऑप्सन पर महत्वपूर्ण जानकारी, इस करियर के बारे में फुल जानकारी के लिए इस लेख को लास्ट तक जरूर पढ़े।

इस लेख में आप को statistician kaise bane के तहत  What is statistician,What to do statistician, How to become statistician, Educational Qualification for statistician statistician course,  Top Institute and university, Required skills career scope Job Provider, Salary आदिके बारे में जानकारी दे रहे है। इस करियर ऑप्सन के महत्वपूर्ण जानकारी के में जानने के लिए लेख को लास्ट तक जरुर पढ़े।

Statistician kaise bane/How to become statistician?

कई स्टुडेंट को अक्सर सांख्यिकी को लेकर कन्फ्यूजन हो है कि यह गणित है लेकिन ऐसा नहीं है। सांख्यिकी की अपनी एक अलग दुनिया है और इस फील्ड में करियर के कई आकर्षक विकल्प हैं। यहां पर ऐसे समझ सकते है कि, मान लिजिए का आप को सोडा शॉप खोलनी है, और शॉप को खोलने के लिए आप के पास में दो जगह है एक ऐसी जगह यहां स्कूल या कॉलेज हो या फिर मेट्रो स्टेशन इस को सही जबाब  स्टेटिस्टीशियन अच्छे से दे सकता है।

स्टेटिस्टीशियन (Statistician kaise bane) का काम मैथ को पढ़ना नहीं होता है  डेटा को कलेक्ट करना, विशलेषण करना, इंटरप्रेट करना, डिस्पले करना, ताकि इस डाटा को कंपनी और कई प्रकार से समझना कि इसे फ्युचर टेंड क्या है, जिससे कि कंपनी अपने काम ला सकें जैसे बिजनेस, फैशन, प्रोडक्ट ट्रेंड हो सकते है

आज के समय में छोटी से बड़ी कंपनी के लिए डाटा का होना मायने रखता है स्टेटिस्टीशियन (Statistician kaise bane) के तौर पर करियर बनाने के लिए सबसे बड़ी बात यह है कि इस काम में लिए जाने वाले सॉफ्टवेयर के बारें में अच्छी नॉलेज को होना सबसे जरुरी है ।

स्टेटिस्टीशियन कौन है/ Who are statistician?

एक स्टेटिस्टीशियन / सांख्यिकीविद् (statistician) वह होता है जिसके काम में आंकडें संग्रह करना, उनको आवशयकता के अनुसार सूचीबद्ध करना, उनसे अलग-अलग जानकारी जमा करना, और उस जानकारी को ग्राफ, चित्र , टेबल के माध्यम इंटरप्रेट करना होता है। या यूं कहें कि संखिय्की एक ऐसा विज्ञानं है जिसमे स्टेटिस्टीशियन आंकड़ों (Data) से खेलते है।

अब ये सूचनाये और आंकडें विभिन्न क्षेत्रो (field) से हो सकते है, जैसे – अर्थशास्त्र, वाणिज्य, भौतिकी, मेडिसिन, खेल, मनोविज्ञान, प्रबंधन आदि आपकी रूचि और विषय की उपलब्धता पर निर्भर करंता है की आप इनमे से कौन सा क्षेत्र चुनते है।

यह भी पढ़े:-Dogecoin cryptocurrency kya hai/What is Dogecoin cryptocurrency?

Video game Journalist kaise bane/ Best career option in 2021

NFT kya hai/What Is NFT?

Zoologist kaise bane/ How to become a zoologist ?

What is neo bank/Neo bank kya hai

आज के समय में डेटा की उपयोग और जरुरत के चलते दुनिया उन्हें बिजनेस एनालिस्ट, रिस्क एनालिस्ट, डेटा साइन्टिंस्टऔर क्वालिटी एनालिसिस भी कहती है। स्टेटिस्टिक्स में डिग्री कोर्स कर चुकें कैडिडेट के लिए अवसर असीमित हैं। Google, लिंक्डइन जैसी टेक कंपनियों के साथ काम करें या फिर बैंकिंग और वित्तीय कंपनियां जैसे एक्सिस बैंक, आईसीआईसीआई बैंक या डेलॉइट, मैकेंज़िक जैसी शोध फर्म में काम कर सकते है।

Statistician  क्या करते हैं/Statistician work?

स्टेटिस्टिक्स (Statistics) को हिन्दी में सांख्यिकी कहा जाता है। गणितीय तरीके से डेटा के प्रेजेंटेशन, एनालिसिस, इंटरप्रेटेशन करने के विज्ञान को स्टेटिस्टिक्स कहते हैं। एक सरकारा पॉलिसी से लेकर छोटे बिजनेस से लेकर बड़े बिजनेस में डेटा का महत्वपुर्ण काम होता है। दुनिया के हर काम में डेटा का उपयोग किया जाता है।

आज के समय में बिग डेटा के चलते इसका इस्तेमाल टेक कंपनिया, मार्केटिंग, एग्रीकल्चर, फार्मा, मीडिया सहित कई अन्य जगहों पर होता है। सांख्यिकी में करियर बनाना गणित में करियर की तुलना में ज्यादा कठिन नहीं है। ऐसा इसलिए कि पहले, सांख्यिकीविदों को अर्थशास्त्री, गणितज्ञ, वैज्ञानिक आदि के रूप में भी जाना जाता था।

Statistician kaise bane

सांख्यिकीविद् बनने के लिए सांख्यिकी में स्नातक की डिग्री होनी चाहिए। सांख्यिकी के किसी भी स्नातक कार्यक्रम में आवेदन करने के लिए, गणित के साथ 10 + 2 उत्तीर्ण होना चाहिए और न्यूनतम 50% प्राप्त करना चाहिए।  ऐसे कई सर्टिफिकेट, डिप्लोमा और मास्टर कोर्स हैं जिन्हें सांख्यिकीविद् बनने के लिए सबसे अच्छा कोर्स माना जाता है।

Course

Certificate & Diploma courses:-

  • Certificate in Statistical Methods and Applications
  • Diploma Courses in Statistics

Bachelor Courses:

  • Bachelor of Arts (BA) in Statistics
  • Bachelor in Statistics
  • Bachelor of Science (Hons) in Statistics

Master Courses:

  • Master of Arts in Statistics
  • Master in Statistics
  • Master of Science (Hons) in Statistics

Doctoral Courses:

  • Master of Philosophy in Statistics
  • PhD in Statistics

इन कोर्सो में स्नातक और परास्नातक शिक्षा के स्तर पर रिजनिंग, स्टेटिस्टकल रिजनिंग, मैंथ, मूल्यांकन डेटा, एनालिस्ट डेटा और रिसर्च मैथड को सिखाया जाता है, यादि  आप ट्रैक बदलना चाहते हैं तो सांख्यिकी में स्नातक या परास्नातक के बाद किसी विशेष क्षेत्र में प्रवेश करना चाहते हैं, तो यह भी संभव है।  तो चलिए इस संभावित कोर्सों के जानतें है

  • Data Science
  • Business/Data Analytics
  • Actuarial Science
  • Finance
  • Economics
  • Bioinformatics
  • Biostatistics or Epidemiology
  • Public Health
  • Astronomy & Astrophysics
  • Marketing / Digital Marketing
  • MBA

Competitive Exams for Statistics course

किसी भी करियर के लिए जरुरी है कि एक छात्र को अच्छे संस्थान में कोर्स करें । प्रमुख सांख्यिकी कॉलेजों में एडमिशन के लिए एक प्रतियोगी परीक्षा उत्तीर्ण करनी होती है। देश में शीर्ष सांख्यिकी कॉलेजों में शामिल होने के लिए कुछ प्रतियोगी परीक्षाएं हैं-

  • ISI – Indian Statistical Institute Entrance Exam
  • Aligarh Muslim University: Department of Statistics and Operations Research Entrance Exam (AMU)
  • Delhi University
  • University of Pune Entrance Exam
  • Kalinga Institute of Industrial Technology Entrance Examination

Top Institutes for Statistics in India

  • भारतीय सांख्यिकी संस्थान, नई दिल्ली/Indian Statistical Institute, New Delhi.Bangalore,Kolkatta
  • जेवियर्स कॉलेज, अहमदाबाद/Xavier’s College, Ahmedabad
  • दिल्ली विश्वविद्यालय, नई दिल्ली/University of Delhi, New Delhi
  • देवी अहिल्या विश्व विद्यालय: सांख्यिकी विद्यालय, इंदौर/Devi Ahilya Vishwa Vidyalaya: School of Statistics, Indore
  • अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय: सांख्यिकी और संचालन अनुसंधान विभाग, अलीगढ़.Aligarh Muslim University: Department of Statistics and Operations Research, Aligarh
  • कलिंग इंस्टीट्यूट ऑफ इंडस्ट्रियल टेक्नोलॉजी एंट्रेंस एग्जामिनेशन/Kalinga Institute of Industrial Technology Entrance Examination.
  • सेंट जेवियर्स कॉलेज, कोलकाता/St. Xavier’s College, Kolkata.
  • चेन्नई भारतीय सांख्यिकी संस्थान/Chennai Indian Statistical Institute
  • हिंदू कॉलेज, नई दिल्ली/Hindu College, New Delhi.

Top Online Courses on Statistics

Statistics for Genomic Data Science – Johns Hopkins University

introduction to Probability and Data – Duke University

Basic Statistics – University of Amsterdam

Understanding Clinical Research: Behind the Statistics – University of Cape Town

Statistical Inference – Johns Hopkins University

Inferential Statistics – University of Amsterdam

Bayesian Statistics: From Concept to Data Analysis – University of California, Santa Cruz

Statistics with R – Duke University

Decision Tree: Theory, Application, and Modelling using R (Udemy)

Methods and Statistics in Social Sciences – University of Amsterdam

Major Job Titles:

  • Statisticians
  • Business Analyst
  • Mathematician
  • Risk Analyst
  • Data Analyst
  • Content Analyst
  • Biostatistician
  • Econometrician
  • Data Scientist

Required skills

  • स्टेटिस्टीशियन बनने के लिए कैडिडेट को एनालिस्ट, मैथ्स स्किल , प्रॉबलम सोल-विंग स्किल जरूरी होनी चाहिए।
  • इस क्षेत्र मे बेहतर करियर बनाने के लिए स्टुडेंट को मैंथ मे रुचि होना जरूरी है ताकि लंबे समय तक काम करते हुए उन्हे बोरियत महसूस न हो।
  • स्टुडेंट के अंदर कम समय मे विभिन्न पहलुओं के ज्यादा से ज्यादा निष्कर्ष निकालने की कैपिसिटी होनी चाहिए।
  • इस क्षेत्र का ज्यादातर वर्क डेटा केलुकेलशन से जुड़ा हुआ है इसलिए छात्रों का विवेकशील होना बेहद आवश्यक है क्योंकि जल्दबाजी मे गलत स्टेटिस्टिकल टूल के इस्तेमाल से आपको गलत परिणाम मिल सकते है।
  • स्टेटिस्टिकल में काम में लाए जाने वाले सॉफ्टवेयर में भी अच्छी जानकारी होनी चाहिए जैसे Microsoft Excel, SPSS (IBM), SAS (Statistical Analysis Software), Minitab आदि सॉफ्टवेयर को इस फील्ड में यूज किया जाता है।

Salary

हर इंडस्ट्री में स्टेटिस्टीशियन की हमेशा मांग रहती है। सरकारी और टीचिंग में एक स्टेटिस्टीशियन को अच्छी खासी सैलरी की मिलती। प्राइवेट और टेक कंपनिया में स्टेटिस्टीशियन को अच्छी सैलरी मिल सकती है। भारत में एक शुरुआती तौर पर स्टेटिस्टीशियन की सैलरी लगभग तीन से पांच लाख का सालाना पैकेज मिल सकता है। इसके बाद में अनुभव होने के बाद में यह सैलरी में बढौत्तरी होती है। लगभग पाँच से सात वर्ष के अनुभव के बाद आपकी सैलरी 70 हजार से एक लाख रुपये प्रति माह तक भी जा सकती है।

Career Pedia को उम्मीद है कि इस पोस्ट में दी गई  जानकारी आपको पसंद आई होगी। अगर आपके कोई भी सवाल, सुझाव या इस लेख में कोई त्रुटि रह गई है तो हमे कॉमेंट और Email कर सकते हैं। हमारे You Tube ChannelFacebook page Linkdin pageInstragram और  Telegram channel पर जुड़ सकते है। वहां से करियर जानकारी के पोस्ट व वीडियों के लेटेस्ट नोटिफिकेशन पा सकते है। धन्यवाद !!

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *