Sports me Career Kaise Banaye : How to make carer in Sports

Sports me Career Kaise Banaye: आपने यह कहावत तो सुनी ही होगी कि ‘पढोगे लिखोगे तो बनोगे नवाब, खेलोगे कूदोंगे तो बनोगे खराब, लेकिन अब अगर मैं इस कहावत को बदला दूं कि ‘खेलोगे कूदोंगे तो बनोगे नवाब’ तो आप सोच में पड़ जाएंगे कि क्या ऐसा भी होता है, लेकिन आपने बिलकुल सही सुना। आज के बदलते दौर में सिर्फ पढ़ लिखकर ही नहीं बल्कि खेलकर भी ऊंचा मुकाम हासिल कर सकते हैं।

Sports me Career Kaise Banaye

वैसे देखा जाए तो हम अपने बचपन से ही कोई न कोई खेल खेलना शुरू कर देते हैं। यानी हमें बचपन से ही खेलना काफी पसंद होता है। अब अगर आप अपने खेल को पैशन बना लें और इसे सही दिशा दे दें तो आप इसमें अच्छा करियर बना सकते हैं। चलिए हम आपको विस्तार से समझाते हैं।

खेल की बात की जाए तो इसमें काफी रोमांच होता है और साथ ही अच्छी-खासी हैल्थी एक्टिविटी भी हो जाती है। अब अगर खेल एक जूनून बन जाए तो यह आपके लिए और फायदेमंद हो सकता है। यह आपके लिए satisfying करियर भी हो सकता है। पहले इसे भारत में खासतौर पर ट्रेडिशनल और एक शौक के रूप में माना जाता था, लेकिन बदलते समय के साथ अब इसे सीरियस करियर ऑप्शन के तौर में लिया जाने लगा है।

हाल ही में एक अंतरराष्ट्रीय खेल आयोजन में लोगों ने खेलकर जो सफलता हासिल की उसे देखकर लोगों का ध्यान खेल करियर पर केंद्रित हुआ। खेलकूद आपके शरीर को शारीरिक रूप से फिट बनाने और दिमाग को अच्छा रखने में आपकी मदद करता है। लेकिन अगर आप खेल को करियर के रूप में चुनते हैं, इससे आपको बहुत सारा पैसा, नाम और शोहरत मिल सकती है। यहीं नहीं दिव्यांगों के लिए भी इस क्षेत्र में बहुत अच्छा स्कोप है जिससे उन्हें आगे बढ़ने और अपने जीवन को सुधारने में मदद मिलती है।

How to make carer in Sports

आप किस खेल में अच्छा performance देते हैं या आपको कौन से खेल में ज्यादा दिलचस्पी है, इस आधार पर आप एक खास स्पोर्ट्स कैटेगरी को चुनकर उसे अपना करियर बना सकते हैं। यानी आपको जो खेल ज्यादा पसंद है उसे अपना करियर बना सकते है। इनमें कई स्पोर्ट्स कैटेगरी जैसे क्रिकेट, बैडमिंटन, वॉलीबॉल, फुटबॉल, बास्केटबॉल, मुक्केबाजी, जिमनास्टिक, हॉकी, टेबल टेनिस, कुश्ती, साइकिलिंग आदि हैं।

बता दें कि 1982 भारत में खेलों के विकास के लिए एक महत्वपूर्ण साल था। भारत में पहली बार एशियाई खेलों का आयोजन दिल्ली में किया गया था। चलिए अब स्पोर्ट्स कोर्सेज और कोर्स अवधि के बारे में जानते हैं।

इंडियन स्पोर्ट्स अथॉरिटी के कई ऐसे संस्थानें है जहां पर आप एक खिलाडी के रूप में ट्रेनिंग ले सकते हैं। भारत में Sports Authority of India यानी SAI के तहत कई ऐसे संस्थान यानी इंस्टीट्यूशन और एकेडमीज (acadmies) हैं जो इच्छुक युवाओं को प्रतिभाशाली खिलाड़ियों में बदलने के लिए ट्रेनिंग देती हैं। SAI के अलावा स्टेट लेवल पर कई ऐसे प्राइवेट ऑर्गेनाइजेशन हैं जो खेल के लिए इंट्रेस्टेड लोगों का सपोर्ट करते हैं।

स्पोर्ट्स में करियर बनाने के लिए योग्यता

सबसे पहले आपका 12वीं पास होना बेहद ही जरूरी है। इसके साथ ही शारीरिक शिक्षा में ग्रेजुएशन की डिग्री होनी चाहिए। आपको बॉडी से फिट और एनर्जेटिक होना होगा। 10+2 की परीक्षा पूरी करने के बाद आपको यूजी कोर्स में प्रवेश मिलेगा।
पीजी कोर्स करना चाहते हैं तो आपको ग्रेजुएशन की डिग्री लेनी होगी। एमबीबीएस डिग्री के बाद, आप स्पोर्ट्स मेडिसिन में डिप्लोमा कोर्स कर सकते हैं। आम तौर पर, एडमिशन मेरिट लिस्ट के बेसिस पर होंगे। क्वालिफिकेशन एग्जाम में मिले मार्क्स के बेसिस पर मेरिट लिस्ट तैयार की जाएगी।

स्पोर्ट्स में करियर बनाने के लिए कोर्सेज

 डिप्लोमा कोर्सेज

  • Diploma in Sports Medicine
  • Diploma in Sports Coaching
  • Diploma in Sports Management
  • Diploma in Sports Science & Nutrition

अंडरग्रेजुएट कोर्सेज

  • B.Sc in Physical Education, Health Education and Sports Sciences
  • Bachelor of Physical education
  • Bachelor of Arts (BA) in Sports Management
  • B.Sc (Hons) in Sports Science
  • B.Sc in Sports and Recreation Management
  • Bachelor of Sports Management (BSM)
  • Bachelor of Business Administration (BBA) in Sports Management

पोस्टग्रेजुएट कोर्सेज

  • Master of Physical education
  • M.Sc in Sports Coaching
  • Post Graduate Diploma in Sports Medicine
  • Post Graduate Diploma in Sports Management
  • Post Graduate Diploma in Sports Business
  • MBA in Sports Management
  • Master of Sports Management (MSM)
  • M.Sc in Sports Science

 डॉक्ट्रेट डिग्री कोर्सेज

  • Ph.D in Physical Education
  • M.Phill in Physical Education
  • Ph.D in Sports Management

टॉप इंडियन कॉलेज

आइए अब आपको कुछ टॉप इंडियन कॉलेज के बारे में बताते हैं जहां पर आप स्पोर्ट्स में करियर बनाने के लिए पढ़ाई कर सकते हैं।

  • National Institute of Sports, Patiala
  • Indira Gandhi Institute of Physical Education and Sports Sciences, New Delhi
  • Lakshmibai National Institute of Physical Education, Gwalior
  • Lakshmibai National College for Physical Education, Thiruvananthapuram
  • Tata Football Academy, Jamshedpur
  • National Cricket Academy, Bangalore
  • Delhi University

 जरूरी स्किल्स

स्पोर्टस में करियर बनाने के लिए सबसे जरुरी बात यह है कि जिसेक बारे में आप को बताते हैं

  • आपका Physical Energy and Stamina बेहतरीन होना चाहिए।
  • आपको चाहिए की आप एनर्जेटिक (Energetic) हों। साथ ही Enthusiastic भी
    Physically fit तो होना ही चाहिए।
  • आपका Patience लेवल बेहद अच्छा होना चाहिए।
  • इसी के कम्युनिकेशन और इंटरपर्सनल स्किल मजबूत होनी चाहिए।
    सबसे खास आपके पास मोटिवेशनल स्किल का तो होना बेहद ही जरूरी है।

स्पोर्ट्स से जुड़े एसोसिएशन और आर्गेनाइजेशन

  • National Basketball Association
  • National Hockey League
  • National Football League
  • All India Tennis Association
  • National Institute of Sports
  • Indian Olympic Association

स्पोर्ट्स में करियर और जॉब

स्पोर्ट्स में जॉब्स के कई अवसर हैं और कई करियर ऑप्शंस हैं। अब खेलों ने भारत में युवाओं के लिए करियर के लिए कई अवसर के दरवाजे खोलें। स्पोर्ट्स पर्सन बनने के लिए चुने हुए खेल में टैलेंट का होना बहुत जरूरी है। टैलेंट के साथ दृढ़ निश्चय और कुछ करने की लगन होनी चाहिए।

हर खिलाड़ी के लिए अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अपने देश का प्रतिनिधित्व करना एक सपना होता है। आप स्कूल और कॉलेज स्तर पर अपना करियर शुरू कर सकते हैं और राज्य स्तर, क्षेत्रीय स्तर पर खेलना शुरू कर सकते हैं और फिर राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अवसरों की खोज कर सकते हैं।

वास्तव में एक एक्टिव प्लेयर होने के अलावा, करियर के अन्य अवसर हैं: स्पोर्ट्स बिज़नेस, कोचिंग, एथलेटिक एकेडमी (academy), स्पोर्ट्स मेडिकल, स्पोर्ट्स एडवरटाइजिंग, स्पोर्ट्स साइकोलॉजी आदि है ।

खिलाड़ी पर्सनल और पब्लिक सेक्टर में जानें का प्लान कर सकता है। भारत सरकार और आर्म्ड फोर्स में असाधारण खेल प्रतिभाओं के लिए विशेष भर्ती अभियान भी है। आप इस क्षेत्र में अनुभव प्राप्त करने के बाद खेल उपकरण के निर्माण में अपना खुद का व्यवसाय भी शुरू कर सकते हैं।

 Job Profiles in Sports

  • Teacher
  • Biomechanics
  • Sport psychologist
  • Sport journalist
  • Sports Player
  • Sports Coach & Instructor
  • Commentator
  • Sports Photographer
  • Personal Trainer
  • Professional Athlete
  • Physical Education Teacher
  • Health Advice Officer
  • Health & Public Services Leader

इसके अलावा और ऐसे फील्ड हैं जिसमें करियर बनाया जा सकता है।

  •  Media, Sports & Advertising Companies
  • Sports Management Industry
  • Educational Institutions & Colleges
  • Merchandising (Retail) Companies

 Salary

यह ऐसा फील्ड जहां पर पैसे कोई कमी नहीं है। यानी यहां पर सैलरी पैकेज बहुत ही शानदार है। खिलाड़ियों की सैलरी पूरी तरह से उस खेल पर निर्भर करता है जिसे उन्होंने चुना है। खेल के सेक्टर में, न सिर्फ सालों का एक्सपीरियंस मायने रखता है, बल्कि खिलाड़ी की लगातार बेहतरीन परफॉरमेंस देने की क्षमता भी काफी मायने रखती है।

खिलाड़ी का शुरुआती सैलरी लगभग 3लाख से 5लाख रुपये सालाना होती है। जब आप एक स्टार खिलाड़ी बन जाते हैं, तो आप हर साल करोड़ों में कमा सकते हैं। सैलरी आपके जॉब प्रोफाइल पर भी निर्भर करता है।

Leave a Comment