Oceanography me career/ Career in oceanography/ ओशनोग्राफी में कैसे करियर बनाएं?

oceanography me career

Oceanography me career:- पृथ्वी के बड़े धरातल पर समुद्र पर कब्जा है। महासागर पृथ्वी के लगभग 71 प्रतिशत भाग में फैले हुए हैं। विश्व के महासागरों एवं सागरों का क्षेत्रफल 367 मिलियन वर्ग किलोमीटर है। महासागर में अनेकों खनिज, लवण से भरी पढ़ी हुईं है। सबसे बड़ी बात यह है कि दुनिया के देश में सबसे ज्यादा व्यापार के लिए समुद्री मार्ग के द्वारा किया जाता है समुद्र और उसके आसपास के वातावरण के अध्ययन में रुचि रखने वाले लोगों के लिए समुद्र विज्ञान का क्षेत्र सबसे अच्छा करियर विकल्प है। तो चलिए आज के इस लेख में समुद्र विज्ञान में करियर कैसे बनाए Oceanography me career आइए जानतें है।

इस लेख में oceanography me career के तहत, what is oceanography, How make career in oceanography, Education Qualification, oceanography course in India, career Scope, best oceanography collage in India, Salary आदि के बारे में जानेगें…

oceanography me career

 जैसा कि आप को पता है कि पृथ्वी की सतह का तीन-चौथाई हिस्सा पानी से घिरा है और यही कारण है कि समुद्री विज्ञान उन स्टुडेंट के लिए बहुत आकर्षक और चुनौतीपूर्ण क्षेत्र है जो समुद्र विज्ञान के समुद्र और इसके असपास के वातावरण साथ उसके सभी जटिल संबंधों का अध्ययन करना चाहते है। यात्रा के लिए जलमार्गों का प्रयोग कम ही होता है,  लेकिन एक बड़ स्तर पर एक दुसरे देशों में मालढुलाई का काम समुद्र के जरिए होता है। सामान के अंतर्राष्ट्रीय निर्यात और आयात के लिए विभिन्न देश जहाजों तथा अन्य समुद्री जलयानों पर ही निर्भर होते हैं।

ओशोनग्राफी में  मौसम, महासागरीय धाराओं और समुद्री जीवन और महासागर से जुड़े हर दूसरे विषय का अध्ययन शामिल है।  ओशोनग्राफर समुद्र के पानी की गति और संचलन का अध्ययन करते हैं, महासागरों के भौतिक और रासायनिक गुण, और ये गुण तटीय क्षेत्रों, जलवायु और मौसम को कैसे प्रभावित करते हैं। क्योंकि आए दिन ओशोन में मौसम खराब होने की खबरें आती रहती है जिससे काम करने में बाधा पंहुचाती है, जिससे समुद्र में जैसे काम को रोकना पड़ता है इसके अलावा इसमें कई प्रकार के स्टडी की जाती है

समुद्र विज्ञान को लेकर देशों को इसके स्टडी करना जरुरी हो (Oceanography me career) जाता है।  समुद्र विज्ञान में कैडिडेंट को विभिन्न बांन्चे मिलती है जिसमें जा सकते है, जैसे Physical oceanography , Chemical oceanography ,Chemical oceanography , Biological oceanography, Geological oceanography, जैसे बांन्चों में जा सकते है। तो चालिए आइए जानतें है समुद्र विज्ञान में कैसे करियर बनाए इसके महत्वपूर्ण जानकारी के बारे में ….

What is oceanography/ विज्ञान क्या है?

समुद्र विज्ञान (oceanography)  जिसे समुद्र विज्ञान के रूप में भी जाना जाता है, पृथ्वी विज्ञान का क्षेत्र है जिसमें समुद्र की धाराओं (ocean currents),  लहरों (Waves),  समुद्र तल के भूविज्ञान ( sea level geology), समुद्र के भीतर और इसकी सीमाओं के भौतिक गुणों का अध्ययन के विषयों की एक विशाल श्रृंखला शामिल है। यह उन सभी चीजों का स्टडी है जो समुद्र से संबंधित हैं।

समुद्र विज्ञान में इकोलॉजी स्ट्रक्चर और समुद्री जीवन, प्लेट टेक्टोनिक्स, समुद्र तल का भूविज्ञान और महासागर परिसंचरण, समुद्र के रासायनिक और भौतिक गुणों सहित विषयों की एक विशाल श्रृंखला शामिल है।

आसान भाषा में कहें तो, समुद्र विज्ञान ‘महासागरों का स्टडी  है। समुद्र के रहस्यों को जानने और इसके भीतर के विकास को समझने के लिए समुद्र विज्ञानियों को जीव विज्ञान, रसायन विज्ञान, भूविज्ञान और भौतिकी की गहन समझ की आवश्यकता है।

 समुद्र के स्टडी को चार शाखाओं में विभाजित किया गया है, अर्थात् जैविक समुद्र विज्ञान (marine biology), रासायनिक समुद्र विज्ञान (marine chemistry), भौतिक समुद्र विज्ञान (marine physics  और भूवैज्ञानिक समुद्र विज्ञान (marine geological ) ओशोनग्राफर वह साइटिंस्ट हैं जो ओशोन का स्टडी करते हैं। ) ओशोनग्राफी में खनिज शोषण (mineral exploitation), नौवहन (Shipping), मत्स्य पालन (Fishing), तटीय निर्माण (Costal Constriction), मौसम की भविष्यवाणी (weather forecasting) और जलवायु परिवर्तन (Climate change) हैं।

 Career scope

आज के समय में विभिन्न महासागरों  स्टडी की आवश्यकता मौजूद है, यही कारण है कि ओशोनग्राफी की मांग दिन-वे-दिन बढ़ती जा रही है। ओशोनग्राफर समुद्र के पानी और समुद्री जीवन, मौसम और कई अन्य पर उनके प्रभावों का अध्ययन ही नहीं करते बल्कि ओशोनग्राफर ओशोन संरक्षण से लेकर तेल उद्योग तक के क्षेत्रों में काम कर सकते हैं।

कोर्स करने के इस क्षेत्र में स्पेशलाइजेशन के आधार पर जॉव के प्रोफाइल अलग-अलग होते हैं। ऐसे में ओशोनग्राफर के रुप में काम करने के लिए ओशोनग्राफी के लिए एक अच्छी जगह ग्रेजूएट की डिग्री के साथ में स्पेशल तौर पर एक अच्छे अनुभव से शुरू कर सकते है। रोजगार के मौके यानि मांग पर्यावरण संरक्षण और जल प्रबंधन में अधिकतर देखी जा रही है।

Branches of Oceanography

  • जैविक समुद्र विज्ञान या समुद्री जीव विज्ञान Biological Oceanography or Marine Biology: समुद्री पारिस्थितिक तंत्र का अध्ययन, जलीय पौधों और जानवरों की जैविक संरचना और वितरण
  • रासायनिक समुद्र विज्ञान या समुद्री रसायन विज्ञान /Chemical Oceanography or Marine Chemistry: चूंकि समुद्र में विभिन्न रसायन होते हैं, पेशेवर इसकी संरचना और गठन का अध्ययन करते हैं। रासायनिक यौगिकों के बीच संबंध, समुद्र में रासायनिक इनपुट इसे कैसे प्रभावित करते हैं, समुद्र के रसायन विज्ञान पर जैविक, भूवैज्ञानिक और भौतिक कारकों का भी अध्ययन किया जाता है।
  • भौतिक समुद्र विज्ञान या समुद्री भौतिकी/Physical Oceanography or Marine Physics: समुद्र की भौतिक विशेषताओं का अध्ययन जैसे पानी की गति और बल जो उपग्रह प्रौद्योगिकी का उपयोग करके गति (हवा, लहरें और ज्वार) का कारण बनते हैं। डेटा को मान्य करने के लिए सिद्धांत, टिप्पणियों और प्रयोगों का एक विस्तृत संयोजन किया जाता है।
  • भूगर्भीय समुद्र विज्ञान या समुद्री भूविज्ञान/ Geological oceanography or marine geology: सुदूर संवेदन प्रौद्योगिकी का उपयोग करते हुए कटक और घाटी जैसे समुद्री तलों का मानचित्रण किया जाता है। तलछट की विशेषताओं जैसे आकार, आकार, रंग, आयु, उत्पत्ति, परिवहन की विस्तार से जांच की जाती है।

How make career in oceanography/ oceanography

Oceanography me career में जाने के लिए 12वीं में साइन्स स्ट्रीम के तहत देश में कई संस्थान/विश्वविद्यालय इस क्षेत्र में ग्रेजूएट डिग्री प्रदान करते हैं। ऐसे में अधिकांश ओशोनग्राफी में जाने के लिए ओशोनग्राफी  में मास्टर और डॉक्टरेट की डिग्री रखते हैं। ऐसे इसलिए की ओशोनग्राफी एक मूल रूप से रिसर्च का फील्ड क्षेत्र है।

Courses 

Graduate Courses:-

  • B.Sc. Marine Science(3 years)

 Master Courses:-

  • Master of Science (M.Sc) in Oceanography
  • Master of Science in Marine Biology
  • M.Tech in Ocean Engineering
  • M.Tech in Ocean Technology

Doctoral Courses:-

  • M.Phil in Marine Biology
  • M.Phil in Chemical Oceanography
  • PhD in Oceanography

Eligibility Criteria:-

For UG Courses/ यूजी कोर्स के लिए:- समुद्र विज्ञान में स्नातक करने के लिए, रसायन विज्ञान, भौतिकी और गणित या जीव विज्ञान के साथ आपकी इंटरमीडिएट परीक्षा में न्यूनतम   55% अंकों से पास होना चाहिए।

For PG Courses/ पीजी कोर्स के लिए:-

जिन उम्मीदवारों ने B.Sc. में Zoology/Botany/Chemistry/Fishery Science/Earth Science/Physics/Agriculture/Microbiology/Applied Sciences से किया है, तो इस क्षेत्र में समुद्र विज्ञान में एमएससी कोर्स को करने के लिए योग्य है

For M.Tech Courses/ M.Tech कोर्स के लिए:

एम.टेक कोर्स में प्रवेश के लिए न्यूनतम शैक्षिक योग्यता 60% अंकों के साथ सिविल इंजीनियरिंग/पर्यावरण विज्ञान में बी.टेक या समकक्ष डिग्री/एएमआईई (इंजीनियरिंग संस्थान का सहयोगी सदस्य) है। इसके अलावा इससे संबंधित क्षेत्र में एमएससी डिग्री रखने वाले भी पात्र हैं।

इस कोर्स में प्रवेश के लिए विभिन्न कॉलेजों द्वारा विभिन्न प्रवेश परीक्षाएं आयोजित की जाती हैं। प्रवेश प्रक्रिया अधिकांश विश्वविद्यालय / संस्थान प्रवेश परीक्षा के माध्यम से प्रवेश प्रदान करते हैं। उम्मीदवार समुद्र विज्ञान में एम.टेक करना चाहते हैं, उन्हें इंजीनियरिंग में ग्रेजुएट एप्टीट्यूड टेस्ट (गेट 2021) देना होगा। विभिन्न संस्थान अपने पीएचडी में छात्रों को प्रवेश देने के लिए अलग प्रवेश परीक्षा आयोजित करते हैं।

यह भी पढ़े-

What is neo bank/Neo bank kya hai

Election analyst kaise bane/How to become election analyst?

Astrobiology me career/How to make career in Astrobiology?

Museology क्या है? Museology Me Career Kaise Banaye?

 Main institute and university

  • भौतिक समुद्र विज्ञान विभाग: कोचीन विज्ञान और प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय /Department of Physical Oceanography: Cochin University of Science and Technology
  • अन्ना विश्वविद्याल/Anna University
  • महासागर प्रबंधन संस्थान, चेन्नई/ Institute for Ocean Management, Chennai
  • राष्ट्रीय समुद्र विज्ञान संस्थान, गोवा/National Institute of Oceanography, Goa
  • अन्नामलाई विश्वविद्यालय, समुद्री जीव विज्ञान में उन्नत अध्ययन केंद्र, तमिलनाडु/Annamalai University, Centre for Advanced Study in Marine Biology, Tamil Nadu
  • बरहामपुर विश्वविद्यालय, बरहामपुर, उड़ीसा/Berhampur University, Berhampur, Orissa

 Career scope

ओशेनग्राफी में कोर्स कर चुके ( Oceanography me career) प्रोफेशनल को सरकारी से प्राइवेट में मौके उपल्बध हो रहे है। ओशेनग्राफर का काम आम तौर पर रिसर्च ओरिएंटड होता है। वे सर्वेक्षण करते हैं, नमूने एकत्र करते हैं और समुद्र में डेटा का विश्लेषण करते हैं। इस क्षेत्र में काम करने वाले प्रोफेशनल के लिए रोजगार के अवसर अपार  हैं। जैसा कि पहले बताया कि ओशेनग्राफर के लिए नौकरियां सार्वजनिक और निजी दोनों क्षेत्रों में उपलब्ध हैं।

सफलतापुर्वक कोर्स करने के बाद, आप एक वैज्ञानिक के रूप में सार्वजनिक क्षेत्र, निजी क्षेत्र और विभिन्न सरकारी में रोजगार प्राप्त कर सकते हैं। निजी क्षेत्र और विभिन्न सरकारी क्षेत्रों में वैज्ञानिक, इंजीनियर या तकनीशियन के रूप में रोजगार प्राप्त कर सकते हैं। सार्वजनिक क्षेत्र में, उम्मीदवार ऑयल इंडिया में भी करियर के अवसरों का लाभ उठा सकते हैं। उम्मीदवार सरकारी क्षेत्र में रोजगार पा सकते हैं जैसे सरकारी क्षेत्र के संगठनों जैसे भारतीय भूवैज्ञानिक सर्वेक्षण (Geological Survey of India), भारतीय मौसम सर्वेक्षण (Meteorological Survey of India), समुद्र विज्ञान विभाग (Department of Oceanography), आदि में भी नौकरी मिल सकती है।

अगर आप विभिन्न कॉलेजों या विश्वविद्यालयों में पढाने में इच्छुक हैं तो इसमें बतौर टीचिंग लाइन में जा सकते है इसके अलावा अनुसंधान केंद्रों में शोध अध्ययन के लिए जा सकते हैं ऐसे में उम्मीदवार अधिकांश प्रतिष्ठित में शिक्षण पेशा भी चुन सकते हैं।

 Oceanographer Job Duties 

एक Oceanographer के काम समुद्री गतिविधियों में कई काम होते है समुद्री गतिविधियों जैसे की जांच, आयोजन, योजना बनाना भविष्य के रिकॉर्ड के लिए डेटा एकत्र करना, सिद्धांत का परीक्षण करें और इसे और विकसित करें, निष्कर्षों के आधार पर कागजात और रिपोर्ट तैयार करें, तटीय और समुद्री संसाधनों और पर्यावरण पर नीतियां बनाने जैसे काम करते है।

ऐसे Oceanographer को अक्सर बड़े पैमाने पर यात्रा करना पड़ता है, शारीरिक कार्य करना और जोखिम भरे जीवों या परिदृश्यों का सामना करना पड़ता है जो उनके सभी कौशल का परीक्षण करते हैं। समुद्र विज्ञानी के दिन-प्रतिदिन के कर्तव्य व्यापक रूप से भिन्न हो सकते हैं, हालाँकि, उनके द्वारा की जाने वाली प्रत्येक गतिविधि उनके प्राथमिक कार्य: अनुसंधान से संबंधित होती है।

समुद्र विज्ञानी अनुसंधान करने में बहुत समय लगाते हैं, जिसका अर्थ है अध्ययन के कई पृष्ठ पढ़ना, प्रयोग चलाना, डेटा एकत्र करना और फिर अपने परिणामों के बारे में लिखना और अपने निष्कर्षों को दुनिया के साथ साझा करना। इस काम के बहुत से प्रयोगशाला में किए जाते हैं,   कुछ समुद्र विज्ञानी गोता लगाना सीखते हैं, अन्य डेटा एकत्र करने के लिए नाव या पनडुब्बी में समय बिताते हैं।

कई समुद्र विज्ञानी दुनिया (Oceanography me career) भर के संस्थानों में काम करते हैं जहाँ वे समुद्र के बारे में व्याख्यान देने या सिखाने में बहुत समय लगाते हैं। जाहिर है, कई सबसे प्रतिष्ठित समुद्र विज्ञान संस्थान समुद्र तट के पास स्थित हैं। वे अपने ज्ञान को नए छात्र वैज्ञानिकों को देते हैं जो कल के समुद्र विज्ञानी बनने के लिए प्रशिक्षण ले रहे हैं।

career profile in Oceanographer

  • Marine biologist
  • Marine chemist
  • Marine physicist
  • Marine geologist

Salary

भारत में समुद्र विज्ञानी का वेतन 20,000 रुपये से 30,000 रुपये प्रति माह से शुरू होता है। आपको अनुभव और क्षेत्र के आधार पर वेतन मिलेगा जिसमें आप स्पेलाइजेशन प्राप्त कर रहे हैं। अगर आप विदेश में जाने के इच्छूक हैं तो आप को बेहतर करियर की संवभावनाए मिलती है। जैसे यूके, यूएस, फ्रांस जैसे विदेशी देश समुद्र विज्ञानी को अच्छा वेतन पैकेज प्रदान करते हैं। विदेशों में उनकी सैलरी पचास हजार डॉलर से अस्सी हजार ड़लर सालाना मिल सकते है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *