How to Become a Nutrition and Dietetics (Dietitian)

Nutrition and Dietetics or dietitian kaise bane

Career as Nutrition and Dietetics (Dietitian) in Hindi: न्‍यूट्रीशन और डायटिशन (Nutrition and Dietetics (Dietitian) वह हेल्थ प्रोफेशनल होते हैं जो लोगों के लिए डाइट (Diet) बनाते हैं। ये मरीजों को सिखाते हैं कि खान-पान अच्छा रखना हमारी पहली ड्यूटी है, साथ ही साथ यह दवा और न्‍यूट्रीशन (Nutrition) के विकास के बारे में सावधान रहने के बारे में बताते हैं।  हालांकि, न्यूट्रिशन (Nutrition) और डायटेटिक्‍स (Dietetics) के बीच अंतर है- डायटेटिक्‍स (Dietetics) फ़ूड मैनेजमेंट पर फोकस करता है, जबकि न्‍यूट्रीशन (Nutrition) हेल्दी फूड के द्वारा स्वास्थ्य को बढ़ावा देने पर फोकस करता है।

Nutrition and Dietetics or Dietitian kaise bane:

आज के समय न्यूट्रिशन (Nutrition) और डायटेटिक्‍स (Dietetics) के करियर क्षेत्र में दोनों भारत और विदेश में बेशुमार अवसर हैं। लोगों की बदलती लाइफस्टाइल और डाइटरी संबंधी आदतों के साथ, और लोगों के अपनी हेल्थ के प्रति सचेत होने के कारण डाइट और हेल्थ एक्सपर्ट की भरी मांग है। अगर आप नए और उपलब्ध जॉब्स ऑप्शन  खोज रहे हैं, तो  यह निश्चित रूप से एक अच्छा करियर हो सकता है।

 Nutrition and Dietetics (Dietitian) Meaning?

डायटीशियन(Dietitians): वे हॉस्पिटल, क्लिनिक, हेल्थ सेंटर, स्पोर्ट सेंटर और खुद के प्राइवेट क्लिनिक सभी जगह मरीजों की डाइट को (डायबिटीज, फ़ूड एलेर्जी, पेट में इन्फेक्शन जैसी मेडिकल कंडीशन क साथ) प्लान, मॉनिटर और सुपरवाइज़ करते हैं। डायटीशियन (Dietitian) मरीजों के स्वास्थ्य, लाइफस्टाइल, उम्र, संभावित एलर्जी और खाने की पसंद को ध्यान में रखते हुए उचित खान-पान के साथ सही फ़ूड और खाने की आदतों की सलाह देते हैं।

डायटीशियन (Dietitians) बनने के लिए आपको डायटेटिक्स (Dietetics) में बैचलर डिग्री और/या मास्टर डिग्री/पीजी डिप्लोमा करना अनिवार्य है (जिसमें न्‍यूट्रीशन (Nutrition) एक एडिशनल सब्जेक्ट हो सकता है) कुछ देशों जैसे-  USA/Canada में डायटीशियन (Dietitians) कोर्स करने के बाद प्रैक्टिस करने के लिए लाइसेंस/रजिस्ट्रेशन पाने के लिए अलग से अतिरिक्त एग्जाम पास करना पड़ता है।

न्यूट्रिशनिस्ट्स(Nutritionists): वे मेडिकल प्रॉब्लम्स वाले मरीजों की डाइट प्लान नही कर सकते हैं। हालांकि वे लोगों को हेल्थ और फूड के विकल्पों पर सलाह देकर बेहतर स्वास्थ्य पाने में मदद करते हैं। पब्लिक हेल्थ न्‍यूट्रीशन, कम्यूनिटी हेल्थ (सार्वजनिक स्वास्थ्य) और न्‍यूट्रीशन से संबंधित tertiary education में इनकी विशेष जानकारी होती है।

न्‍यूट्रीशन (Nutrition) रिसर्च की फील्ड में जाने के साथ-साथ न्‍यूट्रीशन कंसल्टेंट और एडवाइजर, पब्लिक हेल्थ और हेल्थ प्रमोशन ऑफिसर, कम्यूनिटी डेवलपमेंट ऑफिसर, क्वालिटी और न्‍यूट्रीशन को-ऑर्डिनेटर्स और फूड टेक्नोलॉजिस्ट की तरह भी काम कर सकते हैं।

एक न्‍यूट्रीशन (Nutrition) आवशयक डायटेटिक्स (Dietetics) का कोर्स करके और एक लाइसेंस प्राप्त करके डायटीशियन (Dietitian) हो सकता है।

एक डायटीशियन (Dietitian) खुद को न्यूट्रिशनिस्ट्स या डायटीशियन-न्यूट्रिशनिस्ट्स मान सकता है, लेकिन एक न्यूट्रिशनिस्ट्स खुद को डायटीशियन (Dietitian) नहीं मान सकता है।

एक हेल्दी डाइट की सहायता से न्यूट्रिशनिस्ट्स/डायटीशियन अपने मरीजों के जीवन की गुणवत्ता (Quality) और सबकुछ कुछ अच्छा करने में मदद करते हैं। न्यूट्रिशनिस्ट्स/डायटीशियन अस्पतालों और निजी क्लीनिकों भी कई संस्थानों जैसे नर्सिंग होम, स्कूलों, जेलों, सामुदायिक स्वास्थ्य कार्यक्रमों और घरेलू स्वास्थ्य देखभाल एजेंसियों में भी भोजन योजना (meal plans) बनाने में मदद करते हैं।

Skills for Nutrition and Dietetics (Dietitian) in Hindi):

  • ऑर्गनाइजेशनल एबिलिटी
  • टीमवर्क
  • साइंस में रूचि
  • हेल्थ और डाइट में बहुत ज्यादा रूचि
  • अलग-अलग क्षेत्रों के लोगों को समझने की क्षमता

बेहतर कम्युनिकेशन स्किल आपके काम बहुत काम आती है, क्योंकि आपका काम लोगों को डाइट और न्यूट्रिशनल प्लान के बारे में समझाना और सलाह देना होता है, साथ ही मरीजों के उनके स्पेसफिक न्यूट्रिशनल और डायटेटिक्स (Nutritional and dietetics) गोल्स को पाने के लिए प्रेरित करते हैं।

और जैसा कि हर मेडिकल प्रोफेशन में होता है, न्यूट्रिशनिस्ट्स/डायटीशियन (Nutritionists/dietitian) अपने मरीजों के साथ मिलकर काम करते हैं, साथ ही यह बहुत जरूरी है कि एक डायटीशियन (Dietitian) मरीज की व्यक्तिगत जरूरतों के लिए सहानुभूतिशील, सहनशील, प्रेरक और  संवेदनशील हो।

 Nutrition and Dietetics (Dietitian) Courses Eligibility Criteria

न्‍यूट्रीशन और डायटेटिक्स (Nutrition and Dietetics) में डिप्लोमा, अंडरग्रेजुएट और पोस्ट-अंडरग्रेजुएट लेवल पर कोर्स ऑफर किये जाते हैं। भारत में ऐसे इंस्टीट्यूट और युनिवर्सिटी हैं जो पीजी डिप्लोमा इन न्‍यूट्रीशन और डायटेटिक्स (PG Diploma in Nutrition and Dietetics), बी.एससी (फ़ूड साइंस और न्‍यूट्रीशन)- B.Sc (Food Science and Nutrition) और एम.एससी (न्‍यूट्रीशन)- M.Sc (Nutrition) करवाते हैं। इन कोर्सेज में एडमिशन मेरिट के आधार पर होता है और एडमिशन के लिए एंट्रेंस एग्जाम भी होता है।

न्यूट्रीशन (Nutrition) में M.Sc कोर्स करने के लिए साइंस में बेसिक ग्रेजुएट डिग्री होना जरूरी है। ग्रेजुएशन इन फ़ील्ड्स, जैसे- माइक्रोबायोलॉजी, केमस्ट्री, होम साइंस, मेडिसन, होटल मैनेजमेंट या कैटरिंग टेक्नोलॉजी से होना चाहिए। नए ग्रेजुएट्स को हॉस्पिटल के F&B डिपार्टमेंट द्वारा प्रशिक्षित (trained) किया जाता है। पीजी डिप्लोमा कोर्स के लिए कम से कम साइंस में डिग्री होनी ही चाहिए।

न्‍यूट्रीशन और डायटेटिक्स (Nutrition and Dietetics) में 12वीं साइंस में फिजिक्स, केमिस्ट्री और बायोलॉजी से किया हुआ होना चाहिए। B.Sc (फ़ूड साइंस और न्‍यूट्रीशन) तीन साल का कोर्स होता है।

How to become a Registered Dietitian in Hindi?

भारत में रजिस्टर्ड डायटीशियन (dietitian) बनने के लिए इंडियन डायटेटिक एसोसिएशन (www.idddia.com) द्वारा आयोजित आरडी परीक्षा (RD exam) को पूरा करने की आवश्यकता होती है।

और इस परीक्षा को देने योग्य बनने के लिए आपके पास:

1- फूड्स और न्यूट्रिशन (Foods and Nutrition) में B.Sc होम साइंस किया हो।

2- पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा इन न्यूट्रिशन एंड डायटेटिक्स (Nutrition and dietetics) या एम.एससी फूड्स और न्यूट्रिशन (Foods and Nutrition) हो।

(यह एक 3+1 फॉर्मेट है जहां कंड़ीडेट ने होम साइंस या फूड्स, न्यूट्रिशन एंड डायटेटिक्स (Nutrition and Dietetics) में कम से कम चार साल करना होगा।

3- आईडीए वेबसाइट पर सूचीबद्ध मान्यता प्राप्त अस्पताल से 6 महीने लगातार इंटर्नशिप (3 + 3 महीने) या एक मल्टीस्पेशलिटी हॉस्पिटल में 2 साल का अनुभव।

Nutrition and Dietetics (Dietitian) Careers in Hindi:

यहां पर विभिन्न प्रकार के पद हैं- क्लिनिकल डायटीशियन, कम्यूनिटी डायटीशियन, मैनेजमेंट डायटीशियन और डायटीशियन एडवाइजर। हइन पदों में से प्रत्येक अलग-अलग करियर ऑप्शन प्रदान करता है। जैसे कि हॉस्पिटल्स में फ़ूड न्यूट्रिशन सर्विस, पब्लिक हेल्थ एजेंसी और फिटनेस क्लब में न्यूट्रिशन कॉउंसलिंग या फ़ूड सर्विस सिस्टम में क्लिनिकल मैनेजमेंट।

Salary- Nutrition and Dietetics (Dietitian) in Hindi):

न्‍यूट्रीशन और डायटेटिक्स (Nutrition and Dietetics) एक जटिल या विवेकी करियर ऑप्शन है। इस फील्ड में काम करने वाले प्रोफेशनल्स सोसाइटी अमीर तबके या वर्ग से जुड़े होते हैं। इसलिए कमाई की कोई सीमा नहीं है। एक ट्रेनी जो प्राइवेट हॉस्पिटल में काम करता है वह 10000/- रूपये महीने पा सकता है और एक साल या उससे अधिक अनुभव प्राप्त करने के बाद सैलरी 35000/- रूपये महीने तक जा सकती है। जो प्रोफेशनल्स रिसर्च फ़ील्ड्स, टीचिंग या फूड्स मैन्युफैक्चरिंग यूनिट में काम करते हैं, वह अन्य भत्तों और लाभों के साथ बढ़िया सैलरी पाते हैं। हालांकि कसल्टेंट डायटीशियन निजी प्रैक्टिस में अपने स्किल और प्रतिष्ठा के आधार पर बहुत अधिक कमाते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *