NFT kya hai/What Is NFT?

NFT kya hai, What Is NFT

NFT kya hai:- हाल ही में NFT टेक्नोलॉजी के बारे में तेजी से चर्चा हो रही है। आप ने भी NFT blockchain (Non-Fungible Tokens) का नाम जरुर सुना होगा। काफ़ी सारे लोग Digital arts , painting बेच रहे है और NFT का प्रयोग करके बेच रहे है। ऐसे में आप के लिए NFT टेक्नोलॉजी के बारें में जानना जरुरी हो जाता है। जिससे की आप को कोई स्किल हो इसका फायदा उठा सकें। आज के इस लेख में NFT टेक्नोलॉजी क्या है इसके संबधित जानकारी देने वाले है।

इस लेख में  What Is NFT,  NFT की शुरुआत, How Does NFT Work, NFT Ethereum’s Block chain, NFT with example, NFT market place,  Benefit of NFT, NFT हानियां, why is  NFT importance,  और आदि के बारें में बात करेगें।

NFT kya hai, What Is NFT?

हाल ही के दिनों में आप ने NFT टेक्नोलॉजी (NFT kya hai) के बारे में नाम जरुर सुना होगा। यह सुना होगा कि कैसे आपने एक खास तरह के टेक्नोलॉजी अमीर बन रहे है है। ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी पर आधारित NFT भी काफी पॉप्युलर है और पूरी दुनिया में इसका क्रेज बढ़ रहा है। पिछले दिनों NFT टेक्नोलॉजी के बारे यहां पर दे उदाहरण बता रहे है। जिसके बारे में पिछले दिनों चर्चा खूब रही है। जिसमें पहला है सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म ट्विटर Twitter CEO जैक डोर्सी का पहला ट्वीट हाल ही में 21 करोड़ रुपये से ज्यादा में बिका।

वही इसी तरह का एक आर्टवर्क “Everydays: the First 5000 Days.” को NFT के रूप में बेचा गया था और इसकी बिक्री 69.3 मिलियन डॉलर यानी करीब 500 करोड़ रुपए में हुई थी। ऐसे में आखिर NFT (non-fungible token) क्या होता है इसकी जानकारी जरूरी है। तो चलि आइए जानतें है NFT टेक्नोलॉजी से संबधित जानकारी के बारें में….

 What Is NFT?

NFT क्या है ये समझने से पहले , आपको फंजिबिलिटी fungibility को समझना होगा। फंजिबिलिटी fungibility या फंजिबल आइटम ऐसी परिसंपत्तियां हैं जिन्हें एक निश्चित मूल्य बिंदु fixed price पर इंटरचेंज किया जा सकता है।

NFT क्या है इसे हम आसान भाषा में समझे तो NFT का मतलब नॉन-फंजिबल टोकन है। यह एक क्रिप्टोग्राफिक टोकन (Cryptographic Tokens) हैं जो एक Block chain पर आधारित यूनिक चीज को दर्शाता है और उन्हें दोहराया नहीं जा सकता है।

किसी व्यक्ति के पास NFT का होना इसे दर्शाता है कि उसके पास कोई यूनिक या एंटीक डिजिटल आर्ट वर्क है जो दुनिया में और किसी के भी पास नहीं है। NFT यूनिक टोकन्स होते हैं या यूं कहा जाए कि ये डिजिटल असेट्स होते हैं जो वैल्यू को जनरेट करते हैं। उदाहरण के तौर पर- अगर दो लोगों के पास बिटकॉइन हैं तो वो उन्हें एक्सचेंज कर सकते हैं। ये एक जैसे ही हैं इसलिए इनकी कीमत एक जैसी होगी।

हालांकि, NFT को विनिमय यानि एक्सचेंज नहीं किया जा सकता है। क्योंकि ये यूनिक आर्ट पीस होते हैं और इसका हर टोकन भी अपने आप में यूनिक होता है। बिटकॉइन एक डिजिटल असेट है। जबकि NFT एक यूनिक डिजिटल असेट है। इसके हर टोकन की वैल्यू भी यूनिक होती है।

इस आप और NFT kya hai को आसान भाषा में समझे() तो अगर किसी डिजिटल आर्ट वर्क को तकनीक की दुनिया में स्थापित किया जाए तो उसे NFT यानी नॉन-फंजिबल टोकन कहा जाएगा। ब्लॉकचेन में जब आप किसी को बिटकॉइन भेजते हैं तो लेजर में एंट्री की जाती है। वहीं, NFT के लिए भी इसमें एंट्री की जाती है लेकिन इसमें फाइल का एड्रेस भी दिया जाता है जो NFT के स्वामित्व को स्थापित करता है।

इसके खास बात यह है कि टोकननजिंग (Tokenizin) ये रियल वर्ड दुनिया की मूर्त संपत्ति (real-world tangible assets) धोखाधड़ी की संभावना को कम करते हुए उन्हें खरीदने, बेचने और अधिक कुशलता से व्यापार करने की अनुमति देती है। NFT का उपयोग लोगों की पहचान, संपत्ति के अधिकार और बहुत कुछ का प्रतिनिधित्व करने के लिए भी किया जा सकता है। प्रत्येक एनएफटी के अलग-अलग निर्माण में कई उपयोग के मामलों की क्षमता है।

उदाहरण के तौर समझे तो, वे अचल संपत्ति और कलाकृति जैसी भौतिक संपत्ति (physical assets ) का डिजिटलl रूप से प्रतिनिधित्व करने के लिए एक आदर्श माध्यम हैं। क्योंकि वे ब्लॉकचैन पर आधारित हैं, NFT का उपयोग बिचौलियों को हटाने और दर्शकों के साथ कलाकारों को जोड़ने या पहचान स्थापित करने के लिए भी किया जा सकता है। NFT बिचौलियों को दूर कर सकते हैं, लेनदेन को सरल कर सकते हैं और नए बाजार बना सकते हैं।

 NFT की शुरुआत

NFT की शुरुआत दुनिया हाल ही के दिनों में हुई है। जोकि पिछले दिनों NFT टेक्नोलॉजी के बारे पिछले दिनों चर्चा खूब रही है। जिसमें पहला है सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म ट्विटर Twitter CEO जैक डोर्सी का पहला ट्वीट हाल ही में 21 करोड़ रुपये से ज्यादा में बिका।

वही इसी तरह का एक आर्टवर्क “Everydays: the First 5000 Days.” को NFT के रूप में बेचा गया था और इसकी बिक्री 69.3 मिलियन डॉलर यानी करीब 500 करोड़ रुपए में हुई थी।

How Does NFT Work/ कैसे काम करता है NFT?

 नॉन-फंजिबल टोकन का इस्तेमाल डिजिटल असेट्स या सामानों के लिए किया जा सकता है जो एक दूसरे से अलग होते हैं। इसमें कोई-सी भी चीज हो सकती है, एक गाना भी हो सकता है, किसी ने MS-Paint में कुछ पेंटिंग फोटोग्राफ़ बनाई या कोई भी वीडियो, डॉक्युमेंट, आदि बनाया उसको आप ब्लॉकचैन में अपलोड करके टोकन ले सकते है।

इससे उनकी कीमत और यूनिकनेस साबित होती है। ये वर्चुअल गेम्स से आर्टवर्क तक हर चीज के लिए स्वीकृति प्रदान कर सकते हैं। ब्लॉकचैन में आप गेमिंग, कोई भी आर्ट, म्यूजिक, डॉक्यूमेंट आदि तो रजिस्टर कर सकते है जैसे है आप किसी भी फ़ाइल को अपलोड करते है आपका एक यूनिक टोकन आईडी जेनरेट कर दिया जाता है उस आईडी की सहायता से कोई भी व्यक्ति यह सत्यापित कर सकता है कि इस आर्ट को बनाने वाला या इसका ऑनर को है।

यह पढ़े:-

Zoologist kaise bane/ How to become a zoologist ?

What is neo bank/Neo bank kya hai

Election analyst kaise bane/How to become election analyst?

Astrobiology me career/How to make career in Astrobiology?

स्टॉकब्रोकर क्या है/ Stock broker kaise bane?

वही NFT को स्टैंडर्ड और ट्रेडिशनल एक्सचेंजेज में ट्रेड नहीं किया जा सकता है। इन्हें डिजिटल मार्केटप्लेस में खरीदा या बेचा जा सकता है। जानकार बताते है कि भारत में NFT का कॉन्सेप्ट एकदम नया है। यहां पर इसे ट्रेंड पकड़ने में कुछ समय लग सकता है। NFT को भारत में लॉन्च करने के लिए क्रिप्टो एक्सचेंज में Dazzle बजीरएक्स जैसे वेबसाइटें है।

NFT कैसे बनाया जा सकता है।

उम्मीद करते आप को NFT kya hai समझ आ गया होगा। यदि आपका डिजिटल आर्ट फॉर्म पर अच्छी प्रैक्टिस है। इसे बनाने के लिए, आपको एक आर्टिंस्ट बनना होगा। यहां नहीं आप को इसके साथ ही डिजिटल दुनिया के बारे में भी कुछ जानकारी लेनी होगी। आप अपने NFT को एक मंच पर रख सकते हैं जहां इसकी प्रशंसा आती हो दुनिया अच्छे प्लेटफार्म में से हो। इस तरह के कुछ प्लेटफॉर्म रेरिबलओपेन सीफाउंडेशन और सोरारे (Rearable, Open Sea, Foundation Sorare) हैं।

NFT के क्या लाभ हैं/ What are the benefit NFT?

एनएफटी द्वारा डिजिटल इंटरैक्शन को बदल दिया गया है। आइए इस क्रिप्टोकरेंसी के कुछ फायदों के बारे में बात करते हैं।

  • Easily Transferable: एनएफटी यूनिक मार्केट में खरीदे और बेचे जाते हैं। एनएफटी का उपयोग उनकी यूनीकनेस पर आधारित है।
  • Trustworthy: ब्लॉकचैन टेक्नॉलॉजी में नॉन-फंजीबल टोकन का उपयोग किया जाता है।  एक व्यक्ति को किसी फ़ाइल को बेचने, व्यापार करने या स्थानांतरित करने की अनुमति देते हैं, यहां तक ​​​​कि अन्य यजर्स द्वारा भी इसकी नकल की संभावना नहीं है।
  • Maintain Ownership Rights:: यह एनएफटी के आकार के साझा प्लेटफॉर्म के नेटवर्क को संदर्भित करता है, जहां कोई खरीदार बाद में डेटा को बदल नहीं सकता है। जिससे ऑनर के राइटस सुरक्षित रहते है।

एनएफटी का क्या महत्व है/ What is the importance of NFT?

एनएफटी का उपयोग डिजिटल मार्केटप्लेस में फिजिकल एसेट खरीदने और बेचने के लिए किया जा सकता है क्योंकि वे रियल दुनिया की एसेट का डिजिटल संग्रह हैं। ऐसे में कहा जा सकता है कि यह दुर्लभ और मूल्यवान वस्तु खरीद और बिक्री में एनएफटी क्रांति शुरू करने की शक्ति रखता है।

Career Pedia को उम्मीद है कि इस पोस्ट में दी गई  जानकारी आपको पसंद आई होगी। अगर आपके कोई भी सवाल, सुझाव या इस लेख में कोई त्रुटि रह गई है तो हमे कॉमेंट और Email कर सकते हैं। हमारे You Tube Channel, Facebook page Linkdin page, Instragram और  Telegram channel पर जुड़ सकते है। वहां से करियर जानकारी के पोस्ट व वीडियों के लेटेस्ट नोटिफिकेशन पा सकते है। धन्यवाद !!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *