Mutual Fund Agent kaise bane: How to become a Mutual Fund Agent

Mutual Fund Agent kaise bane: आज के समय में निवेश करने के कई तरीके है। जिसमें एक है म्यूचुअल फंड में निवेश करना। जीं हां आज के समय में म्यूचुअल फंड (Mutual Fund) में इन्वेस्ट करना एक पॉपुलर तरीका बनकर लोगों के सामने आ रहा है। आज के इस ब्लॉग में ऐसे ही करियर के बारे में बात करने जा रहें है।

अगर आप को म्यूचुअल फंड में इन्वेस्ट अगर आप Mutual Fund में इंटरेस्ट रखते हैं और म्यूचुअल फंड एजेंट या फिर म्यूचुअल फंड डिस्ट्रीब्यूटर  बनना चाहते हैं तो इस आर्टिकल में आपको इसकी पूरी इंफॉर्मेशन प्राप्त होगी।

आज हम जानेंगे म्यूचुअल फंड एजेंट (Mutual Fund Agent kaise bane, How to become a Mutual Fund Agent) करियर के तहत म्यूचुअल फंड एजेंट कौन होता है? Who are Mutual Fund Agent? म्यूचुअल फंड एजेंट का काम / Work of a Mutual Fund Agent?, म्यूचुअल फंड डिस्ट्रीब्यूटर और एजेंट में क्या अंतर है?,

म्यूचुअल फंड डिस्ट्रीब्यूटर एजेंट बनने के लिए जरूरी Skills,  Mutual Fund Agent kaise bane step by step, और सैलरी / कमाई आदि के बारे में जानेगें। पूरी जानकारी के लिए इस पोस्ट को लास्ट तक जरूर पढे़ं।

Mutual Fund Agent kaise bane: How to become a Mutual Fund Agent?

म्यूचुअल फंड बहुत तेजी से लोगों के बीच पॉपूलर हो रहा है। अधिक से अधिक लोग अपने पैसे इसमें निवेश कर रहे हैं। इस प्रक्रिया में सबसे महत्त्वपूर्ण भूमिका एक म्यूचुअल फंड एजेंट निभाता है। म्यूचुअल फंड एजेंट अपने क्लाइट को सही फंड का चुनाव करने में उनकी हेल्प करता है। निवेश करने के आसान रास्ते खुल रहें हैं। आप तो आप फोन पर किसी ऐप पर म्यूचुअल फंड  में निवेश किया जा सकता है।

कोरोना महामारी के बीच में लाखों डिमेट अंकाएट खोले गए हैं। ऐसे में इंवेस्टमेंट फंड हाउस या एजेंसियों के पास वर्कलोड बढ़ गया हैं। इन फंड की बढ़ती मांग के कारण म्यूचुअल फंड एजेंट की भी मांग बढ़ी है और यह स्टूडेंट के लिए एक पॉपूलर करियर में से एक बन चुका है।

यदि आप भी इस फील्ड में अपना करियर बनाना चाहते हैं तो आइए जानते हैं कि म्यूचुअल फंड एजेंट कैसे बनें (mutual fund agent kaise bane)  इसके में फील्ड में जाने किए कोर्स, सर्टिफिकेट, आदि के बारे में..

म्यूचुअल फंड एजेंट कौन होता है? Who are Mutual Fund Agent?

Who are Mutual Fund Agent? एक ऐसा परसन जो  इंवेस्टर के माध्यम से म्यूचुअल फंड की buying और selling की सुविधा प्रदान करता है और जिसे म्यूचुअल फंड स्कीम के लिए इंवेस्टर को लाने के लिए कमीशन दिया जाता है, म्यूचुअल फंड एजेंट के रूप में जाना जाता है।

म्यूचुअल फंड एजेंट फाइनेंस और इंवेस्टमेंट एनलाइज करने के लिए भी जिम्मेदार हैं और सामान्य रूप से मार्केट, इंडस्ट्री, और इकॉनमी में महत्वपूर्ण विकास की निगरानी करते हैं। इस फील्ड के लिए म्यूचुअल फंड, स्टॉक्स मार्केट, हाई और वैल्यूऐवल नॉलेज की नीड होती है। ऐसे कई कोर्स, ट्रेनिगं य प्रोग्राम हैं जो स्टुडेंट म्यूचुअल फंड एजेंट बनने की प्रक्रिया में आवश्यक स्किल्स और अनुभव प्रदान करते हैं।

इस आसान शब्दों में समझें तो जो व्यक्ति पर्सनली लोगों को म्यूच्यूअल फंड की सेलिंग करने का काम करता है उसे म्युचुअल फंड एजेंट या फिर म्युचुअल फंड डिस्ट्रीब्यूटर कहा जाता है। यह शेयर मार्केट, स्टॉक्स मार्केट से जुड़े हुए होते हैं और इन्हें स्टॉक मार्केट की अच्छी खासी समझ होती है।

म्यूचुअल फंड एजेंट का काम / Work of a Mutual Fund Agent?

जैसा कि इसके नाम से ही प्रतीत हो रहा है कि एक म्यूचुअल फंड एजेंट अथवा म्यूचुअल फंड डिस्ट्रीब्यूटर  को उस कंपनी के म्युचुअल फंड को सेल करने के लिए ग्राहक को समझाना होता है, जिस कंपनी के लिए वह काम करता है। हालांकि अगर म्यूच्यूअल फंड एजेंट स्वतंत्र रूप से काम करता है तो वह किसी भी कंपनी के म्युचुअल फंड को सेल करने के लिए ग्राहकों को कन्वेंस कर सकता है।

अपने investors या क्लाइंट की जरूरतों को समझना एक म्यूचुअल फंड एजेंट का सबसे प्रमुख कर्तव्य है। यह महत्वपूर्ण है कि वे अपने क्लाइंट के गोल के साथ-साथ उन्हें पूरा करने की time limit को समझें।

म्यूचुअल फंड एजेंट की अगला रोल वर्तमान में उपलब्ध financial products के बारे में अपने client को बताना है। कुछ मामलों में म्यूचुअल फंड एजेंट को गहराई तक जाना पड़ सकता है और investors को investment barriers के बारे में शिक्षित करना पड़ सकता है।
Investment options की विविधता का आकलन करना और ग्राहकों को curated options पेश करना MF agents की भूमिकाओं में से एक है।
म्यूचुअल फंड एजेंट अपने अधिकांश clients के लक्ष्य के रूप में portfolio diversification पर ध्यान केंद्रित करते हैं। Agent का लक्ष्य किसी के portfolio को अनुकूलित करके जोखिम को कम करना होता है।
इनका एक अन्य आवश्यक काम अपने clients के फायनेंसियल रिकॉर्ड को बनाना है। इन रिकॉर्ड में लेनदेन का जानकारी, इंकम स्टेटमेंट  और भी बहुत कुछ शामिल हैं।

म्यूचुअल फंड डिस्ट्रीब्यूटर और एजेंट में क्या अंतर है?

म्यूचुअल फंड डिस्ट्रीब्यूटर ही म्यूचुअल फंड एजेंट है। यह clients को mutual fund खरीदने और बेचने में मदद करता है।

ये भी पढ़ें-

How to make career in business analytics

Business administration career/ Best career option in 2022

career in international business/ Best career option in 2022

career in actuarial science/ actuarial science में करियर कैसे बनाएं

म्यूचुअल फंड डिस्ट्रीब्यूटर एजेंट बनने के लिए जरूरी Skills

म्यूचुअल फंड एजेंट (Mutual Fund Agent kaise bane) के तौर करियर बनाने को सोच रहें कैडिडेंट के पास में कौन-सी Skills होनी चाहिए इन Skills के बारे में जानतें है।

  • Communication skills- ऐसे कैडिडेंट को Mutual Fund Agent के तौर करियर देख रहें है। ऐसे कैडिडेंट की communication skills काफी अच्छी होनी चाहिए क्योंकि यह एक ऐसी job profile है जिसमे आपको विभिन्न लोगों से मिलना है उनके साथ काम करना है। यदि आपकी communication skill weak है तो आप अपने clients के साथ अच्छे से communicate नहीं कर पाएंगे, जो आपकी जॉब के लिए अच्छा नहीं है।
  • Leadership skills- आपके अंदर leadership का गुण होना चाहिए।
  • Friendly Behavior आपका स्वभाव friendly होना चाहिए, क्योंकि अक्सर ग्राहकों द्वारा mutual fund agent के friendly behavior को सराहा जाता है। इसके जरिए आप अपने client से अच्छे से घुल मिल सकते हैं।
  • काम करने का जज्बा होना चाहिए साथ ही अपनी बात मनवाने का talent भी आप में होना चाहिए।
  • Mutual fund से संबंधित सभी प्रकार की information आपके पास होनी चाहिए।

Mutual Fund Agent kaise bane

म्यूच्यूअल फंड एजेंट कैसे बनें (Mutual fund agent kaise bane ) जानने के लिए यह भी जानें कि म्यूच्यूअल फंड एजेंट बनने की योजना बनाने वालों के लिए कोई स्पेशल डिग्री कोर्स नहीं है, आप इस क्षेत्र के बारे में जानने के लिए Investment Banking, Stock Training और Finance में डिग्री हासिल कर सकते हैं।

म्यूच्यूअल फंड मेनेजमेंट में करियर अच्छी कमाई प्रदान करता है, आपके पास BBA जैसी Bachelor egree या finance और investment में डिग्री होनी चाहिए।

इसके आलावा Finance में MBA और कुछ stock market courses के प्रमाण पत्र की भी कभी-कभी आवश्यकता हो सकती हैं। तो चलिए जानतें है। Mutual fund agent कैसे बन सकते है? भारत में म्यूच्यूअल फण्ड एजेंट बननें के लिए आपको तीन स्टेप से गुजरना होता है –

पहला स्टेप है – NISM V-A certification exam पास करना

म्यूच्यूअल फण्ड एजेंट बंनने के लिए आपको NISM यानि नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ़ V-A certification exam पास करना होता है, इस एग्जाम के लिए आपको NSIM की वेबसाइट पर जाकर NISM V-A certification exam के लिए रजिस्ट्रेशन करना होता है,

रजिस्ट्रेशन के लिए Eligibility Requirements

  • इस एग्जाम में रजिस्ट्रेशन के लिए पढाई के लिए कोई न्यूनतम योग्यता नहीं है, यानि अगर आप सिर्फ 10वीं पास इसमें  आप आसानी से NSIM EXAM के लिए रजिस्ट्रेशन कर सकते है।
  • इसके आलावा मुख्य डॉक्यूमेंट के रूप में आपके पास पैन कार्ड और आधार कार्ड का होना अनिवार्य है, इसके अलावा अन्य सामान्य व्यक्तिगत जानकारी ही चाहिए।
  • एग्जाम रजिस्ट्रेशन की फीस लगभग 1500 रूपये होती है, पूरी अपडेटेड जानकारी आप NSIM की वेबसाइट पर इस लिंक से चेक कर सकते है।
  • ये है- NSIM वेबसाइट लिंक
  • एक बार रजिस्ट्रेशन करने के बाद आपको एग्जाम के लिए सभी आवश्यक जानकारी EMAIL पर भेज दी जाती है
  • इसके बाद आप जैसे ही एग्जाम दे देते है उसके बाद आपको इसका रिजल्ट बहुत जल्द ही मिल जाता है, और रिजल्ट तथा सर्टिफिकेट भी आपको ईमेल द्वारा मिल जाता है।

NISM V-A certification का रिजल्ट प्राप्त होने के बाद म्यूच्यूअल फण्ड एजेंट बनने का दूसरा कदम है –

दूसरा स्टेप है – ARN NUMBER प्राप्त करना

  • ARN नंबर का फुल फॉर्म होता है – AMFI Registration Number और यहाँ पर AMFI का मतलब है – Association of Mutual Funds in India
  • ARN नंबर को आप सामान्य भाषा में म्यूच्यूअल फण्ड एजेंट का एजेंट कोड भी कह सकते है।
  • ARN नंबर के साथ आपको एक EUIN यानी Employees Unique Identification Number भी प्राप्त हो जाता है।
  • और एक बार जब आपको URN और EUIN नंबर मिल जाने का मतलब ये है कि आप MUTUAL FUND AGENT बन चुके है।

अब एक एजेंट के तौर पर  म्यूच्यूअल फंड बेचने और उस से कमीशन का लाभ कमाने के लिए आपको म्यूच्यूअल फण्ड एजेंट बनने के लिए एक और स्टेप फॉलो करना होगा

तीसरा स्टेप है – म्यूच्यूअल फंड हाउस (AMC) के साथ CONTRACT करना

  • जैसा कि आप जानते है अलग अलग बहुत सारे म्यूच्यूअल फंड हाउसेस और उनके अलग अलग बहुत सारे म्यूच्यूअल फंड स्कीम बाजार में उपलब्ध है, अब ऐसे में आप जो भी म्यूच्यूअल फंड स्कीम बेचना चाहते है, तो आपको उस म्यूच्यूअल फंड के फंड हाउस के साथ बात करनी होगी।
  • म्यूच्यूअल फंड हाउस के साथ आपको एक कॉन्ट्रैक्ट या अग्रीमेंट करना होगा, और उस एग्रीमेंट या कॉन्ट्रैक्ट के अनुसार ही आपको उस फंड हाउस द्वारा आपके द्वारा बेचे गए म्यूच्यूअल फंड स्कीम पर कमीशन और अन्य लाभ मिलेगा।
  • तो इस तरह आप फाइनली एक म्यूच्यूअल फंड एजेंट बन जाते है और अब ये आपके ऊपर है कि आप म्यूच्यूअल फंडएजेंट के रूप में कितना अच्छा काम करते है।
  • क्योकि सिर्फ म्यूच्यूअल फंड  एजेंट बन जाना आपकी सफलता तय नहीं करता है, असली सफलता एजेंट बन जाने के बाद एजेंट के रूप में बेहतर काम करने से ही तय होगा।

Mutual fund agent कितना कमाता है?

म्यूच्यूअल फंड एजेंट के लिए Highest Salary ₹38,080 प्रति माह है वहीं minimum salary ₹25,000 प्रति माह है। खास बात यह है इस फील्ड में कमाई करने के कई ऑप्सन होते है। आप कमीशन के रूप में पैसिव इनकम कमा सकते है। आप म्यूच्यूअल फण्ड एजेंट के तौर पर अकेले फुल टाइम या पार्ट टाइम भी कर सकते है।

आप लोगो को जरूरत के अनुसार म्यूच्यूअल फंड बेचने और उस से कमीशन कमाने का एक बिज़नस शुरू कर सकते है। आप म्यूच्यूअल फंड एजेंट के रूप में ऑनलाइन वेबसाइट/ब्लॉग बनाकर घर बैठे ही काम कर सकते है। आप जितना बेहतर और जितना अधिक काम करते है, उतनी अधिक कमाई कर सकते है।

Career Pedia को उम्मीद है कि इस पोस्ट में दी गई  जानकारी आपको पसंद आई होगी। अगर आपके कोई भी सवाल, सुझाव या इस लेख में कोई त्रुटि रह गई है तो हमे कॉमेंट और Email कर सकते हैं। हमारे You Tube Channel, Facebook page Linkdin page, Instragram और  Telegram channel पर जुड़ सकते है। वहां से करियर जानकारी के पोस्ट व वीडियों के लेटेस्ट नोटिफिकेशन पा सकते है। धन्यवाद !!