Marine Engineer Kaise Bane/ Career in marine engineering/ How to become a marine engineer?

Marine Engineer Kaise Bane- आज के इस लेख में इंजीनियरिंग के एक ओनोखे और खास करियर फील्ड के बारे में बात करने वाले है। आज के इस लेख में मरीन इंजीनियरिंग में  करियर कैसे बनाएं इसके बारे में जानेगें। इस लेख में marine engineering kya hai, Course, best institute, career scope,  Marine Engineering Course Fees, Job provider company आदि के बारे में जानेगें

Marine Engineer Kaise Bane

मरीन इंजीनियरिंग (Marine Engineer Kaise Bane) में हाल के कुछ बर्षों में स्टूडेंट का रुझान बढ़ा है। मरीन इंजीनियरिंग अपने आप में एक आकर्षण का फील्ड है। मरीन इंजीनियरिंग  देश-विदेश में घूमने की सहूलियत मिलती है इंजीनियरिंग की दूसरी ब्रांचेस के मुकाबले अच्छी सैलरी मिलती है।  इसके साथ ही साल के छह महीने जहाज पर रहना और बाकी महीने अपनी जिंदगी जीना। इसके अलावा कई एक आकर्षक सुविधाएं मिलती है।यही वजह है कि बड़ी संख्या में स्टूडेंट इस फील्ड में आ रहे हैं।

Marine Engineer Kaise Bane/ Career in marine engineering?

एक अनुमान के मुतबिक समुद्री इंजीनियरों (Marine Engineer Kaise Bane) और नौसेना आर्किटेक्ट्स की मांग वर्ष 2016 से 2016 12 प्रतिशत से   बढ़ने की उम्मीद है। समुद्री इंजीनियरों को शिपिंग फर्मों, भारतीय नौसेना, शिपयार्ड, इंजन निर्माण कंपनियों, शिप डेवेलपमेंट फर्मों, शिप डिजाइन फर्मों, मरीन यूनिवर्सिटी रिसर्च इंस्टीट्युट, आदि में जॉव मिलती है।

What is marine engineering

मरीन इंजीनियरिंग इंजीनियरिंग(Marine Engineer Kaise Bane) की एक ब्रांच है जो समुद्री जहाजों की आट्रिटेक्चर और साइन्स से संबंधित है। मरीन इंजीनियरिंग में कंस्ट्रक्शन,  इंस्टालेशन, ओपरेशनल वर्क, रिपेरिंग और मेंनटेनेस जैसे वर्क होते है। इसमें ऑटोमेटिक वर्क, पाइपिंग कार्य, या समुद्री जहाजों के कंट्रोंल सिस्टमपर काम करना भी शामिल है।

समुद्री इंजीनियरिंग एक मांग वाला क्षेत्र है और इस क्षेत्र में सफल होने के लिए कैडिडेट को एक स्पेशल स्किल्स की नीड होती है। अगर आप एक सफल मरीन इंजीनियर बनाना चाहते  है  तो आपके अंदर कुछ जरुरी स्किल जरूर। होनी चाहिए। जैसे-  ​इफैक्टिव कंम्युकेशन स्किल्स ,एनालाटिक्ल और मैथमैटिक्स स्किल्स, अच्छी मेंनजमेंट और अप्लांनिग स्किल्स के अलावा  और भी जरुरी स्किल्स होना चाहिए।

एक समुद्री इंजीनियर क्या करता है? 

समुद्री इंजीनियर के (Marine Engineer Kaise Bane) कार्यों में विभिन्न कार्स शामिल होते है। समुद्री इंजीनियर शिप और अन्य शिप पर मशीनों, मैकेनिकल सिस्टम, एक्युमेंट की निगरानी और मेंटनेस करना। सिस्टम और मशीनरी का सटीक रिकॉर्ड रखना और योजना बनाना। मशीनों और उपकरणों के टूटने के दौरान मरम्मत करना और हेल्प प्रदान करना। अंडर वाटर रिसर्च करना। इसके अलावा औऱ भी जरुरी कार्य करने होते है।

Courses & Qualifications

मरीन इंजीनियरिंग एक चुनौतीपूर्ण फील्ड (Marine Engineer Kaise Bane) है। इस फील्ड में करियर बनाने के लिए अंडरग्रैजुएट कोर्स से इंट्री की जा सकती है भारत में बहुत कम संस्थान इंजीनियरिंग की इस ब्रांच में डिग्री या डिप्लोमा संचालित कर रहे हैं। इन कोर्सों में एडमिशन लेने के लिए एंट्रेंस टैस्ट भी देना पड़ता है। उन्हीं  स्टुडेंट को एडमिशन लेने का अवसर मिलता है। तो चलिए आप को बताते है इन कोर्सों  और इसके योग्यता के बारे में.

Marine Engineering Course Details

Graduation Course: इस कोर्स में अप्लाई करने के लिए कैडिंडेट के 12 वीं में पीसीएम बैंकग्रांउड के साथ न्यूनतम 60% अंकों के साथ 10+2 और अंग्रेजी में 50% अंकों होना चाहिए । इस कोर्स की अवधि आम तौर पर 4 साल है।

  • बीटेक इन मरीन इंजीनियरिंग
  • बीटेक इन नेवल आर्किटेक्ट एंड ओशन इंजीनियरिंग
  • बीई इन मरीन इंजीनियरिंग

Post Graduate course: इंजीनियरिंग की इस  ब्रांच ग्रेंजूएट कोर्स  केवल कुछ  कॉलेजों द्वारा प्रदान किया जाता है। पीजी कोर्स करने में एडमिशन लेने के लिए बी.टेक डिग्री या और कोई समान डिग्री के 60 % न्यूनतम अंकों से पास होना चाहिए GATE ME में क्लालिफाई कैडिडेंट कर सकते है।  इस कोर्स के लिए अधिकतम आयु सीमा 28 वर्ष है।

  • एमटेक इन मरीन इंजीनियरिंग
  • एमटेक इन नेवल आर्किटेक्ट एंड ओशन इंजीनियरिंग
  • एमई मरीन इंजीनियरिंग

डिप्लोमा कोर्स: डिप्लोमा कोर्स 2 महीने से 2 वर्ष की अवधि के लिए पेश किए जाते हैं और  ये कोर्स किसी विशिष्ट, विशेषज्ञता पर संचालित किया जाते है।

  • डिप्लोमा इन मरीन इंजीनियरिंग

पीएचडी कोर्स: ऐसे कैडिडेंट जो इस फील्ड हॉयर स्टडी के लिए जाना चाहते है और इस फील्ड में रिसर्च करना चाहते है। पीएचडी कोर्स कर सकते है। कैडिडेंट इन-हाउस या फील्ड रिसर्च के माध्यम से नॉलेज कलेक्ट करते हैं। और एक थीसिस के रूप में अपनी समझ और रिसर्च रिजल्ट प्रस्तुत करते हैं।

शारिरिक मांपडड/physical standard

  • कैडिडेंट की लंबाई 150 सेंटीमीटर होनी चाहिए।
  •  फीमेल कैंडिंडेट की लंबाई 145 सेंटीमीटर होनी चाहिए।
  • आखं में कोई रोग ना हो।
  • कैडिडेंट की विजन 6/6 और 6/9 होना आनिवार्य है।

Marine engineering entrance exam

मरीन इंजीनियरिंग से संबधित कोर्स करने के लिए एंट्रेंट एक्जाम देना पड़ता है । भारत में टॉप इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षाओं की एक लिस्ट है जिसके माध्यम से आप इस कोर्स में एडमिशन ले सकते हैं।

  •  जेईई मेन नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (एनटीए)/JEE Main National Testing Agency (NTA)
  • बिटसेट बिड़ला इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी एंड साइंस/BITSAT Birla Institute of Technology and Science
  • वीआईटीईईई वीआईटी विश्वविद्यालय/VITEEE VIT UNIVERSITY
  • UPES DAT यूनिवर्सिटी ऑफ पेट्रोलियम एंड एनर्जी स्टडीज/UPES DAT UNIVERSITY OF PETROLEUM AND ENERGY STUDIES
  • एमएचटी सीईटी महाराष्ट्र स्टेट कॉमन एंट्रेंस टेस्ट सेल/MHT CET Maharashtra State Common Entrance Test Cell
  • MU-OET मणिपाल विश्वविद्यालय/MU-OET Manipal University

Top Colleges For Marine Engineering

  • भारतीय समुद्री विश्वविद्यालय, विशाखापत्तनम/Indian Maritime University, Visakhapatnam
  • भारतीय समुद्री विश्वविद्यालय, कोलकाता/ Indian Maritime University, Kolkata
  • भारतीय समुद्री विश्वविद्यालय, मुंबई/ Indian Maritime University, Mumbai
  • तोलानी समुद्री संस्थान, पुणे/Tolani Maritime Institute, Pune
  • भारतीय समुद्री विश्वविद्यालय, कोचीन/ Indian Maritime University, Cochin
  • समुंद्र इंस्टीट्यूट ऑफ मैरीटाइम स्टडीज, मुंबई /Applied Research International, New Delhi
  • प्रशिक्षण पोत रहमान, मुंबई/Training Ship Rahman, Mumbai
  • विश्वकर्मा समुद्री संस्थान, पुणे/Vishwakarma Maritime Institute, Pune

career Scope & Career Opportunities

वर्तमान समय मे मरीन इंजीनियरिंग करियर (Marine Engineer Kaise Bane) में काफी स्कोप है। इन दिनों में शिप में मॉर्डन टेक्नोलॉजी और मॉर्डन इक्विपमेंट का ज्यादा से ज्यादा प्रयोग होने लगा है। इन कार्य को हैंडल करने के लिए Marine Engineer की जरूरत होती है। एंटरनेशनल स्तर पर शिपिंग कंपनीज की काफी बढ़ोतरी हो रही है। जिसके वजह से इस सेक्टर में प्रोफेशनल लोंगो की काफी डिमांड रही है।

यह भी पढ़ें-MTech in defense technology in hindi

Biotechnologist kaise bane/ बायोटेक्नोलॉजी में करियर कैसे बनाएं?

Nanotechnology me career kaise banaye

Metallurgical engineering me career: Courses, Career Scope, Colleges and Salary

मरीन इंजीनियर अपना करियर शिप पर फोर्थ इंजीनियर या थर्ड असिस्टेंट इंजीनियर के रूप में शुरू कर सकते हैं। इसके अलावा इंजन प्रोडक्शन फर्म्स, शिप बिल्डिंग फर्म्स, रिसर्च बॉडीज, शिप डिजाइन फर्म्स या भारतीय नौसेना में भी काम करने के मौके मिल सकते हैं।

बंदरगाहों पर स्थित मरीन वर्कशॉप्स में भी मरीन इंजीनियर्स की जरूरत होती है। अनुभवी मरीन इंजीनियर्स की आईटी सेक्टर, कंसल्टेंसी फर्म्स, कंस्ट्रक्शन कंपनीज, पावर सेक्टर, स्टील और इलेक्ट्रॉनिक इंडस्ट्री में भी अच्छी डिमांड है।

एक मरीन इंजीनियर भारतीय नौसेना में नौकरी पा सकता है। वे टेक्निशनयन या पायलट के रूप में नौसेना का हिस्सा हो सकते हैं। उन्हें मालवाहक जहाजों या पनडुब्बियों के टेक्निकल कर्मचारियों के रूप में भी काम पर रखा जा सकता है।

भारत में सरकार का शिपिंग कारोबार व्यापक है जो तेजी से बढ़ रहा है। भारत में क्रूज-आधारित व्यवसाय की वृद्धि के साथ, करियर का दायरा भी अच्छी गति से बढ़ रहा है। इसकी तुलना में मरीन इंजीनियर्स का शुरुआती पैकेज भारत के किसी भी इंजीनियरिंग सेक्टर से बेहतर है।

Top Recruiters

  • Transport Corporation Of India Ltd.
  • Toyo Engineering India Limited
  • Apeejay Surrendra Group
  • Chidambaram Institute of Maritime Technology
  • The Great Eastern Shipping Co Ltd.
  • Vishwakarma Maritime Institute
  • Shipping Corporation of India Ltd.
  • Cochin Shipyard Ltd.

Salary

इस क्षेत्र में शुरुआत से ही काफी (Marine Engineer Kaise Bane) अच्छा वेतन पैकेज मिलता । मर्चेंट नेवी में बतौर जूनियर इंजीनियर काम करने वाला व्यक्ति भी 25000 से 30000 रुपए प्रतिमाह आसानी से कमा सकता है। एक मरीन इंजीनियर शुरुआती स्तर पर भी 7.5 से 10 लाख रुपए सालान पैकेज मिल सकता है ।

खास बात यह है कि रैंक बढ़ने पर यह कमाई डेढ़ लाख से बढ़कर छह लाख या फिर उससे अधिक भी हो सकती है। अनुभव के बाद दूसरे सेक्टर्स में भी अच्छी सैलरी मिलती है।

Career Pedia को उम्मीद है कि इस पोस्ट में दी गई  जानकारी आपको पसंद आई होगी। अगर आपके कोई भी सवाल, सुझाव या इस लेख में कोई त्रुटि रह गई है तो हमे कॉमेंट और Email कर सकते हैं। हमारे You Tube Channel, Facebook page Linkdin page, Instragram और  Telegram channel पर जुड़ सकते है। वहां से करियर जानकारी के पोस्ट व वीडियों के लेटेस्ट नोटिफिकेशन पा सकते है। धन्यवाद !!

2 thoughts on “Marine Engineer Kaise Bane/ Career in marine engineering/ How to become a marine engineer?”

Leave a Comment