Hydrologist Kaise Bane/ Become a Hydrologist/ Career in Hydrology/ हाइड्रोलॉजिस्ट कैसे बनें?

Hydrologist Kaise Bane: ‘जल ही जीवन’ इसके बिना पृथ्वी जीवन संभव नहीं है। पृथ्वी के लगभग 71 प्रतिशत हिस्से में पानी मौजूद है लेकिन फिर भी, दुनिया के कई देश पीने लायक पानी की कमी की गंभीर समस्या से लगातार जूझ रहे हैं।  ये कैसी बिडंमना है कि दुनिया के देश अर्थ पर जल की कद्र नहीं करते है और किसी दुसरे ग्रह पर जल की खोज में लगे हुए। खैर आज हम जिस करियर ऑप्सन के बारे में बात करने बाले है जिसका नाम है हाइड्रोलॉजिस्ट में कैसे करियर (Hydrologist Kaise Bane) बनाएं जी हां आज के इस लेख में इसी टॉपिक पर बात करने वाले है।

इस लेख में करियर पीडिया आप के लिए लाया है (Hydrologist Kaise Bane, Become a Hydrologist, Career in Hydrology) हाइड्रोलॉजिस्ट कैसे बनें? इस करियर ऑप्सन के तहत हाइड्रोलॉजिस्ट कैसे बनें/ Become a Hydrologist, What is Hydrology/ हाइड्रोलॉजी क्या है, Hydrologist क्या करते हैं?

जैसा की पहले बताया कि  पृथ्वी के लगभग 71 प्रतिशत हिस्से में पानी मौजूद है लेकिन फिर भी, दुनिया के कई देश पीने लायक पानी की कमी की गंभीर समस्या से लगातार जूझ रहे हैं,  और ये समस्या लगातार बढ़ती जा रही है।  आजकल हमारे देश  के विभिन्न गावों, कस्बों और शहरों में पानी की कमी की खबरें आती रहतीं है।

देश में वाटर रिसोर्सेज की वैसे तो कमी नहीं है फिर भी, लगातार बढ़ती हुई जनसंख्या और एनवायर्नमेंटल पोल्यूशन, वाटर, लैंड, रेडिएशन, थर्मल आदि  जैसे कई कारण से साफ़ पानी की कमी से आज भारत के कई कस्बे, गांव और शहर जूझ रहे हैं। यही कारण है कि, वाटर कंजर्वेशन सहित वाटर रिलेटेड अन्य महत्वपूर्ण कार्यों को अंजाम देने के लिए देश में एक्सपर्ट हाइड्रोलॉजिस्ट्स की काफी अधिक मांग और जरूरत है। किसी एक्सपर्ट हाइड्रोलॉजिस्ट (Hydrologist Kaise Bane) के तौर पर अपना करियर शुरू करने के लिए आपके पास सूटेबल एजुकेशनल क्वालिफिकेशन, स्किल सेट और जरुरी जानकारी के बारे में हम जानने वालें है।

हाइड्रोलॉजी का परिचय/Introduction to Hydrology

जल विज्ञान जिसे हम हाइड्रोलॉजी (Hydrologist Kaise Bane) भी कहते है। जल विज्ञान (Hydrology) के तहत लैंड सरफेस और अंडरग्राउंड वाटर तक एटमोस्फियर के माध्यम से पानी के संचरण या मूवमेंट को शामिल किया जाता है। हाइड्रोलॉजी के काम करने वाले को हाइड्रोलॉजिस्ट्स यानि जल वैज्ञानिक कहा जाता हैं।  हाइड्रोलॉजिस्ट के काम में देश-दुनिया में वाटर एनवायरनमेंट को सुरक्षित रखने से संबंधित सारे कामकाज इनकी प्रमुख जिम्मेदारी होते हैं।

हाइड्रोलॉजिस्ट्स ओपन वाटर फ़ील्ड्स जैसेकि रीवरबेड, लेकसाइड आदि में वाटर सैंपल्स कलेक्ट करने के साथ-साथ अपने ऑफिस में विभिन्न वाटर सैंपल्स और वाटर रिसोर्सेज से संबंधित डाटा को एनालाइज करते हैं। और इस डाटा एनालिसिस के आधार पर अपने रिजल्ट्स की रिपोर्ट्स तैयार करते हैं ताकि वाटर रिसोर्सेज को पूरी तरह सुरक्षित रखा जा सके और उपलब्ध साफ़ तथा शुद्ध पानी का बेहतरीन इस्तेमाल किया जा सके है।

हाइड्रोलॉजी क्या है/ what is Hydrology?

जल (Water ) एक आवश्यक संसाधन है जो पृथ्वी पर सभी जीवन के लिए आवश्यक है। जल विज्ञान पानी की आवाजाही, उपलब्धता और क्वालिटी का अध्ययन किया जाता है । इस काम के करने वाले प्रोफेशनल  को हाइड्रोलॉजिस्ट कहा जाता है। हाइड्रोलॉजिस्ट अपने काम में रासायनिक गुणों, जैविक अंतःक्रियाओं और जल चक्र को नियंत्रित करने वाली भौतिक प्रक्रियाओं का अध्ययन करते हैं।

Hydrologist क्या करते हैं/What do hydrologists do?

जल एक अत्यंत मूल्यवान प्राकृतिक संसाधन है। हाइड्रोलॉजिस्ट (Hydrologist) तेजी से अधिक महत्वपूर्ण होते जा रहे हैं क्योंकि जलवायु परिवर्तन और ह्युमन एक्टिविटी के कारण इस संसाधन को खतरा है। एक जलविज्ञानी ( हाइड्रोलॉजिस्ट) एक  (साइन्टिंस्ट) है जो पानी की गुणवत्ता और उपलब्धता से संबंधित समस्याओं का समाधान करता है।

हाइड्रोलॉजिस्ट जल चक्र का स्टडी करते हैं और भूमिगत और सतही (underground and superficial) जल के गुणों पर रिसर्च करते हैं। वे जल और जल प्रवाह पर आसपास के पर्यावरण के प्रभावों का भी विश्लेषण करते हैं, और जल संरक्षण योजनाओं को विकसित करने के लिए अन्य पर्यावरण वैज्ञानिकों के साथ काम करते हैं। Hydrologist के काम में वर्षा को देखना, प्रदूषकों की पहचान करना और भूजल स्तर को मापना।

Hydrologist (Hydrologist Kaise Bane)का काम जल विज्ञानी (Hydrologist Kaise Bane) अपना समय ऑफिस और वर्क फील्ड के बीच बांटते हैं। Hydrologist नमूने एकत्र करने के लिए दुर्गम क्षेत्रों और ऊबड़-खाबड़ इलाकों में दौरा करते है। यहां से डेटा कलेक्ट करते हैं। जलविज्ञानी अपने द्वारा कलेक्ट किए गए डेटा का विश्लेषण करने के लिए ऑफिस में बहुत समय व्यतीत करते हैं।

जलविज्ञानी (Hydrologist ) केन्द्र या  राज्य सरकारों के लिए काम करते हैं। जलविज्ञानी  अन्य इंजीनियरिंग फर्मों और इसी तरह के संगठनों के लिए काम करते हैं, और उच्च शिक्षा संस्थानों में Hydrologist पढ़ा सकते हैं और अनुसंधान कर सकते हैं।

इसके अलावा Hydrologist पर्यावरण न्याय के मुद्दों पर केंद्रित गैर-लाभकारी संगठनों के लिए काम करके या इन संगठनों के लिए स्वेच्छा से के साथ काम काम करते हैं।

How to become a Hydrologist step by step?

हाइड्रोलॉजिस्ट्स के लिए एलिजिबिलिटी क्राइटेरिया और जरुरी एजुकेशनल कोर्सेस

स्टेप1.हाइड्रोलॉजिस्ट्स बनने के लिए (Hydrologist Kaise Bane) सबसे पहले स्टूडेंट्स किसी मान्यता प्राप्त एजुकेशनल बोर्ड से अपनी 12वीं क्लास मुख्य रुप से जियोग्राफी सब्जेक्ट में अच्छे मार्क्स से पास करना होगा। इसके बाद में किसी मान्यताप्राप्त कॉलेज या यूनिवर्सिटी से बैचलर डिग्री कोर्स, पीजी डिप्लोमा,एडवांस्ड डिप्लोमा, पोस्ट ग्रेजुएट कोर्स, यहां तक की पीएचडी भी कर सकते हैं।

स्टेप2.भारत में जल विज्ञान (हाइड्रोलॉजी) में बीएससी कोर्स संचालित करने वाले कॉलेजों की संख्या सीमित है। ऐसे में भारत में अंडरग्रेजुएट लेवल पर हाइड्रोलॉजी में कुछ ही स्पेशल कोर्स उपलब्ध है। हालांकि सिविल इंजीनियरिंग, जियोग्राफी, एनवायर्नमेंटल साइंस एंड मैनेजमेंट जैसे ग्रेजुएशन कोर्सेज के एक हिस्से के तौर पर हाइड्रोलॉजी को पढ़ाया जाता है।

स्टेप3. यूजी डिग्री पूरी करने के बाद आप एमएससी कर सकते हैं। भारत या विदेश में जल विज्ञान (हाइड्रोलॉजी) में मास्टर लेवल के कोर्स की ड्युरेशन आमतौर पर दो वर्ष होती है।

स्टेप4. मास्टर्स करने के बाद, आप  बेहतर करियर की संभावनाओं को बढ़ाने के लिए पीएचडी या एमफिल के लिए जा सकते हैं।

Course

  • वाटर रिसोर्सेज इंजीनियरिंग – एमटेक/ एमई (Water Resources Engineering- MTech/ME)
  • हाइड्रोलॉजी – एमएससी/ एमटेक/ एमई (Hydrology-MSc/ MTech/ ME)
  • हाइड्रोलॉजी – पीजी डिप्लोमा (Hydrology-MSc/ MTech/ ME ())
  • वाटर रिसोर्सेज इंजीनियरिंग – एडवांस्ड डिप्लोमा (Water Resources Engineering-Advanced Diploma)
  • वाटर रिसोर्सेज- इंजीनियरिंग पीएचडी /(Water Resources Engineering PhD)

Essential Skills

किसी एक्सपर्ट हाइड्रोलॉजिस्ट (Hydrologist Kaise Bane) के तौर पर अपना करियर शुरू करने के लिए आपके पास क्या स्किल्स होने चाहिए इनके बारे में आप को बताते है।

  • बेहतरीन कम्युनिकेशन स्किल्स
  • एनालिटिकल एंड रिसर्च स्किल्स
  • प्रोजेक्ट मैनेजमेंट एंड टीम कोऑर्डिनेशन
  • बेहतरीन न्यूमेरिकल और मैथमेटिकल स्किल्स
  • क्रिटिकल थिंकिंग ताकि वाटर इश्यूज़ और प्रॉब्लम्स को अच्छी तरह समझकर सॉल्व किया जा सके।
  • फिजिकल फिटनेस ताकि दूर-दराज और ऊंची-नीची वाटर लोकेशन्स पर पहुंच सकें।
  • फ्लेक्सिबल वर्क-एप्रोच
  • कंप्यूटर एफिशिएंसी और टाइम मैनेजमेंट

हाइड्रोलॉजिस्ट में जॉब रोल्स/Types of Job Roles Hydrologist

हाइड्रोलॉजी में कोर्स कर चुके कैडिडेंट हाइड्रोलॉजिस्ट के अलावा कई क्षेत्र में नौकरी के लिए जा सकते है।

मरीन हाइड्रोलॉजिस्ट/Marine Hydrologist –ये प्रोफेशनल समुद्र के पानी के संबंध में रिसर्च करके अपनी फाइंडिंग रिपोर्ट्स तैयार करते हैं ताकि मरीन वाटर के साथ-साथ और समुद्री जीवन (व्हेल्स, डॉल्फिन्स, सील्स, सी ग्रास, एलगी, केल्प, पेंगुइन्स, गल्स, अल्बाट्रोस पेलिकंस आदि) को सुरक्षित रखा जा सके।

संरक्षण वैज्ञानिक/Conservation Scientist- ये प्रोफेशनल प्राकृतिक संसाधनों के लिए संभावित खतरों और मानव पर इसके प्रभाव की पहचान करने में महत्वपूर्ण रोल निभाते हैं। अपनी टिप्पणियों के आधार पर, वे आगे की कार्रवाई के लिए समाधान या निर्देश प्रदान करते हैं।

रिसर्च हाइड्रोलॉजिस्ट/Research Hydrologist – ये प्रोफेशनल विभिन्न वाटर रिसोर्सेज को सुरक्षित रखने के नए-नए तरीके तलाशने के लिए वाटर सैंपल्स कलेक्ट करके रिसर्च करते हैं, और ग्राउंड वाटर लेवल तथा पानी की शुद्धता में सुधार लाने के लिए अपनी रिसर्च फाइंडिंग्स के आधार पर रिपोर्ट्स और प्रेजेंटेशन्स तैयार करते हैं।

भूवैज्ञानिकों/Geoscientists- ये प्रोफेशनल पृथ्वी के अतीत को निर्धारित करने के उद्देश्य से रॉक संरचनाओं का विश्लेषण करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। वे विभिन्न स्थानों में तेल स्रोतों की खोज भी करते हैं।

सरफेस वाटर हाइड्रोलॉजिस्ट/Surface Water Hydrologist – ये प्रोफेशनलसरफेस वाटर रिसोर्सेज जैसेकि, स्ट्रीम्स, रीवर्स. लेक्स और स्नो-फिल्ड एरियाज़ के बारे में रिसर्च और एनालिसिस करते हैं ताकि सरफेस वाटर को प्योर और सुरक्षित रखा जा सके।

ग्राउंडवाटर हाइड्रोलॉजिस्ट/Groundwater Hydrologist – ये प्रोफेशनल जमीन के नीचे उपलब्ध पानी के बारे में स्टडी और रिसर्च करते हैं, ताकि जमीन में वाटर लेवल को मेंटेन रखने के साथ ही अंडरग्राउंड लेवल पर वाटर को फैक्ट्री, गैस स्टेशन और एअरपोर्ट आदि के कारण होने वाले पोल्यूशन के साथ-साथ हैंडपम्पस और ट्यूबवेल्स के माध्यम से एक्स्ट्रा कंज़म्पशन आदि से बचाया जा सके।

इसके अलावा पर्यावरण वैज्ञानिक के रुप में काम कर सकते है प्रदूषण के स्तर को निर्धारित करने और उसके समाधान निकालने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। पर्यावरण इंजीनियर के रुप में, जो पानी की समस्याओं जैसे प्रदूषण, प्रदूषण और भूजल स्तर में सुधार के तरीकों के समाधान प्रदान करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं।

अगर कैडिडेंट की रूचि अध्यापन में है तो जल विज्ञान में स्नातक यूजीसी नेट परीक्षा या पीएच.डी. करने किसी शिक्षण संस्थान में प्रोफेसर के रुप में पढ़ा सकते है।

यह भी पढ़ें-

Helicopter Pilot Kaise bane/How to become a helicopter pilot?

Marine Biologist kaise bane: How to become a Marine biologist?

Fake Universities in india 2021 in hindi- इन fake universities से रहें सावधान!

Brand Manager Kaise bane/ How to become a Brand Manager?

Information Officer kaise bane:-Information Officer qualification, selection process, salary & more

जल विज्ञान नौकरियों के लिए भर्ती/ Recruiters for Hydrology Jobs

भारत में हाइड्रोलॉजिस्ट के प्रमुख नियोक्ताओं में शामिल हैं:

  • मिनिस्ट्री ऑफ़ वाटर रिसोर्सेज, भारत सरकार/ Ministry of Water Resources, Government of India
  • स्टेट लेवल के वाटर रिसोर्सेज डिपार्टमेंट्स/ State level water resources departments
  •  डिपार्टमेंट ऑफ़ साइंस एंड टेक्नोलॉजी/ Department of Science and Technology
  • भारतीय भूवैज्ञानिक सर्वेक्षण/The Geological Survey of India
  • राष्ट्रीय जलविज्ञान संस्थान, रुड़की,
  • मौसम विभाग/Meteorological departments
  • राष्ट्रीय जल विज्ञान संस्थान – रुड़की/National Institute of Hydrology – Roorkee
  • यूपीएससी (संघ लोक सेवा आयोग)/UPSC (Union Public Service Commission)
  • नगर निगम/Municipal Corporations
  • निर्माण एजेंसियां/Construction Agencies
  • एकेडेमिक एंड रिसर्च इंस्टीट्यूशंस – वाटर रिलेटेड स्टडीज़ एंड रिसर्च वर्क
  • इंटरनेशनल ऑर्गेनाइजेशन्स – वाटर रिलेटेड मैटर्स
  • नॉन-गवर्नमेंट ऑर्गेनाइजेशन्स – जो वाटर कंजर्वेशन के लिए काम कर रहे हैं।
  •  मल्टीमीडिया चेनल्स – नेशनल जियोग्राफिक, डिस्कवरी, एनिमल प्लानेट

Top University & institute

  •  अन्ना विश्वविद्यालय, चेन्नई/Anna University, Chennai
  • भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी रुड़की), रुड़की/Indian Institute of Technology (IIT Roorkee), Roorkee
  •  राष्ट्रीय जल विज्ञान संस्थान, रुड़की/National Institute of Hydrology, Roorkee
  • आंध्र विश्वविद्यालय, विशाखापत्तनम/Andhra University, Vishakapatnam
  • अन्ना विश्वविद्यालय: इंजीनियरिंग कॉलेज, चेन्नई/Anna University : College of Engineering, Chennai
  • एसआरएम विश्वविद्यालय, अमरावती/SRM University,Amaravati
  • लोयोला कॉलेज, चेन्नईLoyola College,Chennai
  • टाटा इंस्टीट्यूट ऑफ फंडामेंटल रिसर्च, मुंबई/Tata Institute of Fundamental Research,Mumbai
  • सेंट जेवियर्स कॉलेज, मुंबई/St. Xaviers College,Mumbai
  • एस एस जैन सुबोध पीजी कॉलेज, जयपुर/S. S. JAIN SUBODH P. G. COLLEGE,Jaipur
  • तेजपुर विश्वविद्यालय, तेजपुर/TEZPUR UNIVERSITY,Tezpur
  • भारतीय विज्ञान शिक्षा और अनुसंधान संस्थान, पुणे/Indian Institute of Science Education and Research,Pune

Salary

एक हाइड्रोलॉजिस्ट की सैलरी असाइनमेंट, कॉडिशन और संस्थान पर निर्भर करता है। हालांकि, सामान्य तौर पर,हाइड्रोलॉजिस्ट अपने करियर की शुरुआत में लगभग 5 लाख का सालाना पैकेज की उम्मीद कर सकते हैं। इस फील्ड में जैसे उच्च अनुभव प्राप्त होता कैडि़डेंट की सेलरी में बढ़ोत्तरी होती है। कई बार इन प्रोफेशनल को मास मीडिया चेनल्स में उनके किसी बहुत महत्वपूर्ण वाटर रिलेटेड रिसर्च प्रोजेक्ट के लिए 1 लाख रुपये तक भी मिलते हैं। अगर कैडिडेंट की रुचि पढ़ाने में है तो तो भी अच्छी सैलरी की उम्मीद कर सकते है।

 

Career Pedia को उम्मीद है कि इस पोस्ट में दी गई  जानकारी आपको पसंद आई होगी। अगर आपके कोई भी सवाल, सुझाव या इस लेख में कोई त्रुटि रह गई है तो हमे कॉमेंट और Email कर सकते हैं। हमारे You Tube Channel, Facebook page Linkdin page, Instragram और  Telegram channel पर जुड़ सकते है। वहां से करियर जानकारी के पोस्ट व वीडियों के लेटेस्ट नोटिफिकेशन पा सकते है। धन्यवाद !!

Leave a Comment