How to become a solar engineer

How to become a solar engineer

How to become a solar engineering Full details: मानव लगातार पारंपरिक ऊर्जा का दोहन कर रहा है। ऐसे में खत्म हो रहें इन उर्जा स्त्रोतों के चलते गैर पारंपरिक स्रोत में सोलर एनर्जी एक बेहतर ऑप्सन बनने वाला है। इसी के चलते इस क्षेत्र में बेहतर करियर की संभावनाएं है। इस लेख में How to become a solar engineer पर बात करेगें। इस क्षेत्र में करियर बनाने के लिए कोर्स, कोर्स के लिए योग्यता, कोर्स कराने वाले संस्थान, जॉब प्रोफाइल, सैलरी के बारे में।

How to become a solar engineer

आज पूरा विश्व ऊर्जा संकट से जूझ रहा है । लगातार बढ़ रही ऊर्जा खपत और बिजली दरों में बढ़ोतरी हर कोई निजात पाना चाहता है। हम ऊर्जा पर चलने वाले संसाधन से इतना निर्भर हो गये है, कि ऊर्जा ना होने पर सारा कामकाज ठप हो जाता है। पारंपरिक ऊर्जा स्रोतों के निर्भरता से बहुत दुष्परिणाम सामने आये है । ग्लोबल वार्मिंग भीषण गर्मी बाढ़ और प्राकृतिक आपदाओं का सामना करना पड़ता है । जिससे कि बेहतर है कि गैर पारंपरिक ऊर्जा स्रोत सोलर एनर्जी का उपयोग किया जाए ।

Also read-How to become a data scientist

इसलिए भारत सहित दुनिया के कई देश सोलर एनर्जी का उपयोग में बढ़ोतरी कर रहे हैं।  जगह-जगह सौर ऊर्जा प्लांट स्थापित किए जा रहे हैं । सरकार का फोकस जरूरतों को पूरा किया जाए। इसके लिए विभिन्न योजनाएं चला रही है। इस क्षेत्र में औद्योगिक घराने के लोग भी कदम रख रहे हैं। सोशल अंतर भी क्षेत्र में आकर्षित हो रहे हैं । इसी को देखते हुए करियर बनाने के लिए ढ़ेर संभावनाएं हैं ।

भारत सरकार व राज्य सरकारें सोलर प्लांट स्थापित कर रही है। भारत ने रिन्यूवल एनर्जी आने वाले समय में 2022 तक 175 गीगावॉट करने का लक्ष्य रखा है । जिससे सोलर एनर्जी कि अकेले 100 गीगावॉट की भागीदारी होगी। इसी को देखते हुए कुशल  पेशेवरों की मांग बड़ी है।

इस क्षेत्र में तकनीकी कार्यों के लिए सोलर इंजीनियर के अलावा इलेक्ट्रॉनिक इंजीनियर, इंजीनियर और सोलर एनर्जी मैनेजमेंट अवसर पैदा होंगे। सोलर एनर्जी के क्षेत्र में सरकार द्वारा स्थापित प्लांट, प्राइवेट सेंटर, सोशल एंटरप्रेन्योर, प्राइवेट सेक्टर, की रूचि आने से काफी संभावना मौजूद है।

कहां है जॉब की संभावनाएं

इन जगहों पर मिल सकते हैं  मौके सोलर एनर्जी सेंटर विंड एनर्जी टेक्नोलॉजी सेंटर, हाइड्रो एनर्जी सेंटर, इंडियन रिन्यूवल एनर्जी डेवलपमेंट एजेंसी, पावर ट्रांसमिशन एनर्जी, पावर इंफ्रास्ट्रक्चर एनर्जी सेक्टर, कंसल्टिंग सर्विस, NGO जैसी इन जगहों पर इन पदों पर मैनेजर ऑपरेशन मैनेजर एनर्जी ऑडिट जैसे पदों पर अपना करियर बना सकते हैं ।

कोर्स व योग्यता

इस क्षेत्र में करियर बनाने के लिए कैंडिडेट को 12 वीं में फिजिक्स, केमिस्ट्री के साथ 60 प्रतिशत अकों के साथ पास होना अनिवार्य है।इसके लिए छात्र को मैकेनिकल या केमिकल इंजीनियरिंग में बैचलर डिग्री ले सकते है। सौर ऊर्जा के क्षेत्र में उच्च पदों पर कैरियर बनाने के लिए बीटेक, एमटेक डिग्री सर्वाधिक उपयुक्त शैक्षिक योग्यता मानी जाती है ।

Also read:How to Become a Translator/Interpreter

ये कोर्स कर सकते है

यूजी कोर्स

बीएससी इन इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग
बीई/बीटेक इन इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग

पीजी कोर्स

एमई/एमटेक इन इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग
एमएससी इन इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग
बीटेक सोलर एंड अल्टरनेटिव एनर्जी
एम टेक एन रिन्यूबल एनर्जी

ऑनलाइन कोर्स के लिए यहां क्लिक करें

कोर्स करने के लिए प्रवेश परीक्षाएं

देश के सबसे बड़े इंजीनियरिंग संस्थानों आईआईटी, एनआईटी में प्रवेश लेने के लिए आप को जेईई की परीक्षा में बैठना पड़ेगा। जेईई एग्जाम दो चरणों में होता है जेईईमेन मेन क्लियर होने के बाद में ही छात्रों के जेईई एडवांस में बैठने का मौका मिलता है।

इसके अलावा वेल्लूर इंस्टीट्यूट आफ टेक्नोलॉजी इंजीनियरिंग एंट्रेंस एग्जाम, बिटसेट एंट्रेंस एग्जाम, महाराणा कॉमन एंट्रेंस टेस्ट इंजीनियर इंजीनियरिंग,कर्नाटक कॉमन एंट्रेंस टेस्ट की तैयारी कर सकते हैं।

इसके अलावा कई यूनिवर्सिटी में पोस्ट ग्रेजुएट लेवल एनर्जी एंड मैनेजमेंट तथा इससे संबंधित कोर्स संचालित करती है। वहां से भी कोर्स कर सकते है।

सैलरी

इस क्षेत्र में भरपूर मौके हैं। शुरुआत से ही फ्रेशर को साढ़े तीन लाख से सालाना का पैकेज मिलता है जैसे-जैसे इस क्षेत्र में अनुभव बढ़ता है सैलरी में भी बढ़ोतरी हो जाती है 6 से 7 साल का अनुभव होने पर प्रोफेशनल को 10 से 16 लाख का सालाना पैकेज मिल सकता है।

One Reply to “How to become a solar engineer

Leave a Reply