Helicopter Pilot Kaise bane/How to become a helicopter pilot?

Helicopter Pilot Kaise bane: आमतौर पर बचपन में सभी बच्चे कागज के हेलीकॉप्टर (Helicopter ) को उड़ाते हैं और उनमें से कुछ बच्चे बड़े होकर हेलीकॉप्टर पायलट(Helicopter Pilot) बनने की चाहत रखते हैं क्योंकि इस प्रोफेशन में सैलरी भी अच्छा मिलती है और शोहरत भी। यदि आप भी एक ऐसे कैंडिडेट हैं जो इस फील्ड में जाना पसंद करते हैं तो हमारे आज के इस पोस्ट को अंत तक पढ़े क्योंकि Helicopter Pilot Kaise bane/How to become a helicopter pilot? इस करियरऑप्सन पर जानकारी सर्च कर रहें है तो आप सही आट्रिकल पढ़ रहे हैं। इस ब्लॉग में हम आपको बताएंगे कि आप किस प्रकार से 12वीं के बाद हेलीकॉप्टर पायलट बन सकते हैं।

आज के इस लेख में Helicopter Pilot Kaise bane/How to become a helicopter pilot? करियर ऑप्सन के तहत हेलीकॉप्टर पायलट कैसे बनें/How to become a helicopter pilot, हेलीकॉप्टर पायलट क्या होता है/What is helicopter pilot in Hindi,आयु सीमा/ Age Limit, भारत में पायलट ट्रेनिंग सेंटर/pilot training center in india,Best Indian Colleges for helicopter pilot Course, करियर स्कोप/ Career scope हेलीकॉप्टर पायलट के कार्य /helicopter pilot Work, हेलीकॉप्टर पायलट सैलरी/Helicopter Pilot Salary आदि के बारे में जानेगें।

Helicopter Pilot Kaise bane/How to become a helicopter pilot?

आज तेजी से ग्लोबलाइजेशन के कारण एविएशन इंडस्ट्री सबसे तेज गति से बढ़ने और उभरने वाला इंडस्ट्री में से एक है। भारत दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा एविएशन मार्केट है। ऐसे में माना जा सकता है कि एविएशन इंडस्ड्री तेजी से उभरती इंडस्ड्री में से एक है। भारत में विदेशी देशों के अपेक्षा Helicopter को कम काम में लिया जाता है। हांलाकि भारत में इसके ग्रोथ को देखकर यह कहा जा सकता है कि एविएशन इंडस्ट्री में कैरियर निर्माण के शानदार अवसर मौजूद हैं। इस क्षेत्र में रोजगार की अपार संभावनाएं हैं।

एक करियर के रूप में हेलीकाप्टर पायलट अतीत की अपनी मनोरंजक गतिविधि छवि को त्यागते हुए बहुत तेज गति से आगे बढ़ रहा है। वास्तव में, इसे आजकल ट्रांसपोटेशन के सबसे प्रमुख रूपों में से एक माना जा रहा है। कुछ बर्षों तक ज्यादातर रक्षा संगठन में हेलीकाप्टर का प्रयोग सीमित था लेनिक और आज के दौर में ये बढ़ता जा रहा है। जरुरत के चलते कई फील्ड में इसके प्रयोग किया जाएगा। जिसमें हेलीकॉप्टर के उपयोग की आवश्यकता होती है जिससे हेलीकॉप्टर उड़ान लाइसेंस वाले पेशेवरों के लिए बहुत सारे विकल्प खुल जाते हैं।

अग्निशमन (firefighting ), अपतटीय सहायता (offshore support), कानून प्रवर्तन (law enforcement), अग्रिकल्चर, पाइपलाइन और यूटिलिटि हेल्प कार्यकारी परिवहन (executive transport), दर्शनीय स्थलों की यात्रा, मछली पकड़ने, इमेरजेंन्सी मेडिकल सर्विस, सर्च रेस्के,यू कार्गो लिफ्ट, न्यूज मीडिया, फोटोग्राफी के क्षेत्र में एक हेलीकॉप्टर पायलट के रूप में नौकरी पाने के अलावा हवाई सर्वेक्षण, वानिकी, खेल नियंत्रण, यातायात रिपोर्टिंग वे विभिन्न उड़ान संस्थानों में हेलीकॉप्टर उड़ान प्रशिक्षक और परीक्षण पायलट के रूप में अपना करियर बनाते हैं।

हेलीकॉप्टर पायलट बनने के लिए (helicopter pilot kaise bane) इच्छुक कैडिडंट को वास्तव में डेडिकेशन, मेहनती और दृढ़निश्चयी होना चाहिए। एक हेलीकाप्टर पायलट की जॉव (helicopter pilot kaise bane) के लिए प्रतिकूल परिस्थितियों में सौंपे गए कार्य को पूरा करने के लिए अतिरिक्त जिम्मेदारी के साथ गहन ट्रेनिंग की आवश्यकता होती है। इसके लिए डिस्पलिन, धैर्य से परिपूर्ण, जिम्मेदार, प्रतिबद्ध और सेल्फकॉन्फिडेंस होना चाहिए। जॉव के लिए कठिन टाइम टेबल का पालन करने के लिए बहुत मेहनत, सहनशक्ति, दिमाग की सतर्कता और अनुकूलन क्षमता की आवश्यकता होती है।

अपने ड्युटी का कुशलतापूर्वक और प्रभावी ढंग से निर्वहन करने के लिए उन्हें हवाई नेविगेशन, वेदर संबंधी रिपोर्टों की व्याख्या, परिष्कृत इलेक्ट्रॉनिक और यांत्रिक नियंत्रण के संचालन जैसे क्षेत्र में स्पेशल ट्रेनिंग और नॉलेज की आवश्यकता होती है, जिससे हेलीकॉप्टर को प्रतिकूल परिस्थितियों जैसे जलवायु और अन्य इमेरजेंसी स्थितियों में ले जाया जाता है।

हेलीकॉप्टर पायलट क्या होता है (What is helicopter pilot in Hindi)

हेलीकॉप्टर पायलट (What is Helicopter Pilot) वह होता है जो हेलीकॉप्टर को चलाने में एक्सपर्ट होने के साथ-साथ यात्रियों को सुविधापूर्वक उनकी मंजिल तक पहुंचाने का काम करता है। यह पोस्ट बहुत ही ज्यादा जिम्मेदारी वाला होता है इसलिए हेलीकॉप्टर पायलट बनने के लिए कोर्स में दाखिला केवल तभी मिलता है जब कैंडिडेट प्रवेश परीक्षा में सफल हो जाता है।  पायलट बनने के लिए (Helicopter Pilot Kaise bane) किसी भी कैंडिडेट को बहुत ही ज्यादा मेहनत करनी पड़ती है जिसके लिए उसे 2 वर्ष का कोर्स सफलता पूर्वक पास करना होता है।

 

हेलीकॉप्टर पायलट बनने के लिए कैंडिडेट को आईजीआरयूए (IGRUA) एंट्रेंस एग्जामिनेशन को पास करना होता है जिसको इंदिरा गांधी राष्ट्रीय उड़ान अकैडमी परीक्षा भी कहा जाता है। यह परीक्षा डीजीसीए (DGCA) यानी डायरेक्टरेट जनरल ऑफ सिविल एविएशन गवर्नमेंट ऑफ इंडिया (Directorate General of Civil Aviation Government of India) के द्वारा कंडक्ट करवाई जाती है। इस लिखित परीक्षा में पास होने वाले कैंडिडेट को मेडिकल टेस्ट दिया जाता है तो उसके बाद उसे मेडिकल टेस्ट के लिए बुलाया जाता है और फिर इंटरव्यू के लिए आमंत्रित किया जाता है। सफलतापूर्वक परीक्षा को पास करने वाले उम्मीदवारों को हेलीकॉप्टर पायलट बनने के कोर्स में दाखिला मिल जाता है। ‌

हेलीकॉप्टर पायलट के लिए योग्यता/Qualification for Helicopter Pilot

  • कैडिडेट ने 12वीं कक्षा में फिजिक्स, केमिस्ट्री और मैथ (PCM) जैसे  सब्जेक्ट के साथ पास की हो।
  • कैंडिडेट के 12वीं में मिनिमम 50% मार्क्स आने चाहिए।
  • कैंडिडेट को अंग्रेजी भाषा का ज्ञान होना जरूरी है। ‌

आयु सीमा/ Age Limit

  • अगर कैंडिडेट स्टूडेंट पायलट लाइसेंस पाना चाहता है तो उसके लिए उसकी आयु मिनिमम 16 साल तक होनी जरूरी है।
  • इसी प्रकार प्राइवेट पायलट लाइसेंस पाने के लिए कैंडिडेट की उम्र 17 साल तक होना आवश्यक है।
  • कमर्शियल पायलट लाइसेंस के लिए कैंडिडेट की उम्र 18 साल तक होनी चाहिए।

यह भी पढ़े-

Marine Biologist kaise bane: How to become a Marine biologist?

Fake Universities in india 2021 in hindi- इन fake universities से रहें सावधान!

Brand Manager Kaise bane/ How to become a Brand Manager?

Information Officer kaise bane:-Information Officer qualification, selection process, salary & more

Statistician kaise bane/How to become statistician?

भारत में पायलट ट्रेनिंग सेंटर/pilot training center in india

  • एशियाटिक इंटरनेशनल एविएशन एकेडमी, इंदौर
  • ब्लू डायमंड एविएशन, पुणे
  • एक्यूमेन स्कूल ऑफ पायलट ट्रेनिंग, दिल्ली
  • इंटरनेशनल स्कूल ऑफ एविएशन, नई दिल्ली
  • इंडियन एविएशन एकेडमी, मुंबई

Best Indian Colleges for helicopter pilot Course

भारत में ये कुछ स्मान्यता प्राप्त कॉलेज, विश्वविद्यालय और अकादमियां हैं जो एक पेशेवर पायलट के रूप में आपके करियर के निर्माण के लिए आवश्यक मूलभूत और तकनीकी कौशल प्रदान करती हैं:

  • इंदिरा गांधी राष्ट्रीय उड़ान अकादमी/Indira Gandhi National Flying Academy
  • बॉम्बे फ्लाइंग क्लब/Bombay Flying Club
  • राजीव गांधी एकेडमी ऑफ एविएशन टेक्नोलॉजी/Rajiv Gandhi Academy of Aviation Technology
  • मध्य प्रदेश फ्लाइंग क्लब/Madhya Pradesh Flying Club
  • राष्ट्रीय उड़ान प्रशिक्षण संस्थान/National Flight Training Institute
  • अहमदाबाद एविएशन एंड एरोनॉटिक्स लिमिटेड/Ahmedabad Aviation And Aeronautics Limited
  • सीएई ऑक्सफोर्ड एविएशन अकादमीCAE Oxford Aviation Academy
  • इंडिगो कैडेट प्रशिक्षण कार्यक्रमindigo cadet training program
  • सरकारी विमानन प्रशिक्षण संस्थान/government Aviation Training Institute
  • गवर्नमेंट फ्लाइंग क्लब/Government Flying Club/
  • ओरिएंट फ्लाइंग स्कूल/Orient Flying School
  • उड्डयन और विमानन सुरक्षा संस्थान/Aviation and Aviation Safety Institute
  • पुडुचेरी ठाकुर कॉलेज ऑफ एविएशन/Puducherry Thakur College of Aviation

करियर स्कोप/ Career scope

हेलीकॉप्टर पायलट बनने के बाद कैंडिडेट को बहुत सारे कैरियर विकल्प मिल जाते हैं जैसे कि वह प्राइवेट पायलट बन सकता है या फिर वह इंडियन एयर फोर्स पायलट के रूप में भी काम कर सकता है। उसे इस प्रकार प्राइवेट और निजी कंपनियों में काम करने का अवसर मिल जाता है जहां पर वह अपनी योग्यता के अनुसार तरक्की पा सकता है

हेलीकॉप्टर पायलट के कार्य/ helicopter pilot Work?

  • यात्रियों को एक स्थान से दूसरे स्थान तक ले ले जाने का काम।
  • यात्रियों की सुरक्षा और जान की जिम्मेदारी पायलट के ऊपर ही होती है।
  • हेलीकॉप्टर को टेकऑफ और लैंडिंग करने की जिम्मेदारी।
  •  हेलीकॉप्टर को कुशलता पुर्वक चलाना। इमेरजेंसी हालात में सुरक्षित उड़ान भरना।
  • यदि कोई खतरनाक स्थिति उत्पन्न हो जाए तो उस समय बहुत ही शीघ्रता से फैसला लेना

हेलीकॉप्टर पायलट सैलरी/Helicopter Pilot Salary

हेलीकॉप्टर पायलट बनने के लिए (helicopter pilot kaise bane) कैंडिडेट को शुरू में 80,000 रुपए से लेकर 1.5 लाख रुपए तक हर महीने सैलरी मिलती है। जब कैंडिडेट को इस क्षेत्र में एक्सपीरियंस हो जाता है तो तब उसे 3.5 लाख रुपए तक का वेतन मिलता है।  इस प्रकार आकर्षक वेतन के साथ साथ एक हेलीकॉप्टर पायलट को कुछ अन्य सुविधाएं भी दी जाती हैं जो कि उसकी कंपनी के ऊपर निर्धारित करती हैं।

सरकारी क्षेत्र में हेलीकॉप्टर पायलटों को भी आकर्षक पारिश्रमिक और प्रोत्साहन मिलता है जिसमें अंशदायी भविष्य निधि, ग्रेच्युटी, चिकित्सा सुविधाएं और मुफ्त/रियायती हवाई मार्ग आदि शामिल हैं। उन्हें आवास सुविधाओं, चिकित्सा व्यय और बाहरी सुविधाओं के अलावा कई प्रकार के लाभ और भत्ते भी प्रदान किए जाते हैं। स्टेशन भत्ते आदि।

Career Pedia को उम्मीद है कि इस पोस्ट में दी गई  जानकारी आपको पसंद आई होगी। अगर आपके कोई भी सवाल, सुझाव या इस लेख में कोई त्रुटि रह गई है तो हमे कॉमेंट और Email कर सकते हैं। हमारे You Tube Channel, Facebook page Linkdin page, Instragram और  Telegram channel पर जुड़ सकते है। वहां से करियर जानकारी के पोस्ट व वीडियों के लेटेस्ट नोटिफिकेशन पा सकते है। धन्यवाद !!

 

Leave a Comment