Fake Universities in india 2021 in hindi- इन fake universities से रहें सावधान!

fake universities in india 2021 in hindi :- यूजीसी ने हाल ही में ऐसी कई यूनिवर्सिटी को सर्च किया जो फेक है यानि की यूजीसी से मान्यता प्राप्त नहीं है ऐसे में आप को इन यूनिवर्सिटी से सावधान रहें  औऱ इन यूनिवर्सिटी के बारे में आप को जरुर जानना चाहिए आज के इस लेख में  हम बात करेगें फेक यूनिवर्सिटी के बारे कैसे इनसे बचें कैसे इनकी पहचान करें आदि जानकारी के बारे में..

fake universities in india 2021 in hindi

अगर इन यूनिवर्सिटी में स्टुडेंट फंस जाते है तो स्टुडेंट की लाइफ बरबाद हो जाती है न तो अच्छी जॉब मिलती है ना ही इन डिग्री की मान्यता और स्टुडेंट का पैसै और समय में बरबाद हो जाता है ऐसे में आप के लिए जरुरी हो जाता है कि इन यूनिवर्सिटी के बारे जानना । भारत में कई फर्जी यूनिवर्सिटी हैं जो छात्रों को धोखा देने और प्रोफिट कमाने के लिए यूजीसी के नियमों के खिलाफ काम कर रहे हैं।

कैसा हुई इन फेक यूनिवर्सिटी की पहिचान दरअसल आप को बता दें कि यूजीसी को फेक यूनिवर्सिटी के बारे में शिकायतें मिलती रहती है और हाल ही के दिनों में यूजीसी को स्टुडेंट, अभिभावकों, आम जनता और इलेक्ट्रॉनिक प्रिंट मीडिया के माध्यम से कई शिकायतों मिली है और इन कंपलेन के आधार पर, यूजीसी ने 24 स्वयंभू संस्थानों को फर्जी विश्वविद्यालय घोषित किया है।

केंद्रीय शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने जानकारी दी कि विश्वविद्यालय अनुदान आयोग यानी यूजीसी ने 24  संस्थानों को फर्जी घोषित किया है और दो और संस्थानों पर नियमों के उल्लंघन का आरोप है।   केंद्रीय शिक्षा मंत्री ने लोकसभा में एक लिखित सवाल के जवाब में यह बयान दिया। बयान में बताया गया कि छात्रों, अभिभावकों, आम जनता, इलेक्ट्रॉनिक और प्रिंट मीडिया के माध्यम से प्राप्त शिकायतों के आधार पर, यूजीसी ने 24 स्वयंभू संस्थानों को फर्जी विश्वविद्यालय घोषित किया है।

 फेक यूनिवर्सिटी का क्या मतलब है?

भारत में यूनिवर्सिटी जो यूजीसी या राज्य सरकार द्वारा approved नहीं हैं, वे फेक हैं। वे किसी भी अन्य यूनिवर्सिटी की तरह कार्य करते हैं, विभिन्न कोर्स के लिए छात्रों को अंडर ग्रेजुएट (यूजी) और स्नातकोत्तर (पीजी) प्रमाणपत्र प्रदान करते हैं। लेकिन ये प्रमाणपत्र विश्वविद्यालय अनुदान आयोग या भारत सरकार के बोर्ड द्वारा approved नहीं हैं।

स्टुडेंट बगैर सोचे समझे और ये जाने विना की ये यूनिवर्सिटी यूजीसी या राज्य सरकार द्वारा approved नहीं हैं इसमें एमिशन लेतें है और स्टुडेंट इन फर्जी  यूनिवर्सिटी के जाल में फंस जाते हैं। समय समय समय पर ऐसी फेक यूनिवर्सिटी की लिस्ट जारी करता है

कैसे पता करें कि यूनिवर्सिटी फेक है या नहीं?

विभिन्न फेक यूनिवर्सिटी को देखने के बाद, अधिकांश छात्र हमेशा किसी भी  यूनिवर्सिटी में आवेदन करने से डरते हैं। क्योंकि किसी पर भी भरोसा करना मुश्किल हो जाता है। लेकिन आप यूनिवर्सिटी की प्रामाणिकता की जांच करने के लिए कुछ बातें जरुर ध्यान में रखें तो अच्छा रहेगा। जैसे आप जिस यूनिवर्सिटी में आवेदन करना चाहते हैं, उसकी आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं।

आधिकारिक वेबसाइट पर देखें कि क्या यह यूजीसी या राज्य सरकार के बोर्ड द्वारा मान्यता प्राप्त है या मान्यता प्राप्त है। आप यह जानकारी यूनिवर्सिटी के प्रमाण पत्र में भी पा सकते हैं। इन डिटेल्स की जांच करते समय सावधान रहें। नकली यूनिवर्सिटी नकली मुहर और गलत वर्तनी का उपयोग करते हैं। उनमें व्याकरण संबंधी गलतियाँ हो सकती हैं।

ये भी पढ़े- Brand Manager Kaise bane/ How to become a Brand Manager?

MTech in defense technology in hindi

Information Officer kaise bane:-Information Officer qualification, selection process, salary & more

Dogecoin cryptocurrency kya hai/What is Dogecoin cryptocurrency?

ओरिजनल यूनिवर्सिटी में सील के साथ सर्टिफिकेट देख  सकते है जीसी या राज्य सरकार के बोर्ड  से संपर्क कर सकते है। कैडिडेंट इन विश्वविद्यालयों को यूजीसी या एआईसीटीई को भी रिपोर्ट कर सकते हैं।

यदि आप भारत में इन फेक संस्थानों के जाल में पड़ जाते हैं, तो आपका सर्टिफिकेट कहीं भी स्वीकार नहीं किया जाएगा। आपका समय और पैसा बर्बाद होगा और आपकी डिग्री का कोई मूल्य नहीं होगा। इसलिए यह सुनिश्चित करना बहुत महत्वपूर्ण है कि आपके द्वारा चयनित यूनिवर्सिटी  फेक नहीं है।

fake universities in india 2021 in hindi

उत्तर प्रदेश में सबसे ज्यादा आठ ऐसे फर्जी यूनिवर्सिटी मिले है जिनमें-

  • वाराणसी संस्कृत विश्वविद्यालय, वाराणसी
  • महिला ग्राम विद्यापीठ, इलाहाबाद
  • गांधी हिंदी विद्यापीठ, इलाहाबाद
  • नेशनल यूनिवर्सिटी ऑफ इलेक्ट्रो कॉम्प्लेक्स होम्योपैथी, कानपुर
  • नेताजी सुभाष चंद्र बोस मुक्त विश्वविद्यालय, अलीगढ़
  • उत्तर प्रदेश विश्वविद्यालय, मथुरा;
  • महाराणा प्रताप शिक्षा निकेतन विश्वविद्यालय, प्रतापगढ़
  • इंद्रप्रस्थ शिक्षा परिषद, नोएडा

राजधानी दिल्ली में चल रहे हैं ये सात फर्जी यूनिवर्सिटी मिले है राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र दिल्ली एनसीआर भी ऐसे संस्थानों से मुक्त नहीं हैं। यहां भी सात यूनिवर्सिटी ऐसी हैं जो फर्जी हैं और यूजीसी के मानक नियमों का उल्लंघन कर रही हैं-

  • कमर्शियल यूनिवर्सिटी लिमिटेड
  • संयुक्त राष्ट्र विश्वविद्यालय
  • व्यावसायिक विश्वविद्यालय
  • एडीआर केंद्रित न्यायिक विश्वविद्यालय
  • भारतीय विज्ञान और इंजीनियरिंग संस्थान
  • विश्वकर्मा मुक्त विश्वविद्यालय
  • आध्यात्मिक विश्वविद्यालय

ओडिशा और पश्चिम बंगाल में दो-दो यूनिवर्सिटी मिले है। ओडिशा और पश्चिम बंगाल में दो-दो ऐसे फर्जी विश्वविद्यालय हैं।

  • इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ अल्टरनेटिव मेडिसिन, कोलकाता, पश्चिम बंगाल
  • इंस्टीट्यूट ऑफ अल्टरनेटिव मेडिसिन एंड रिसर्च, कोलकाता, पश्चिम बंगाल
  • नवभारत शिक्षा परिषद, राउरकेला, ओडिशा
  • नॉर्थ उड़ीसा यूनिवर्सिटी ऑफ एग्रीकल्चर एंड टेक्नोलॉजी, ओडिशा

कर्नाटक, केरल, महाराष्ट्र, पुडुचेरी और महाराष्ट्र में एक-एक फर्जी यूनिवर्सिटी मिलें है

  • श्री बोधि एकेडमी ऑफ हायर एजुकेशन, पुडुचेरी
  • क्राइस्ट न्यू टेस्टामेंट डीम्ड यूनिवर्सिटी, आंध्र प्रदेश
  • राजा अरबी विश्वविद्यालय, नागपुर
  • सेंट जॉन्स यूनिवर्सिटी, केरल
  • बड़गंवी सरकार वर्ल्ड ओपन यूनिवर्सिटी एजुकेशन सोसाइटी, कर्नाटक

Leave a Comment