career in packaging technology: Best career option in 2021

career in packaging

career in packaging technology- पैकेजिंग दुनिया भर में किसी भी कमोडिटी के बिजनेस सफलता का एक मेजर कंपोनेट है। आज के दौर में बिजनेस की सफलता इस बात पर निर्भर करती है कि उत्पाद की पैकेजिंग कितनी अच्छी है। मार्केटिंग के लिए प्रोडक्ट का पैकेजिंग एक महत्वपूर्ण पहलू है। जो खुद ब्रांड मूल्य और उत्पाद भेदभाव को बढ़ाता है। जिससे ग्राहकों को आकर्षित करने और अपनी पहचान को बनाने में हेल्प करता है।

इस लेख में आप को  पैकेजिंग कोर्स और इसके करियर अवसर के बारे में सभी महत्वपूर्ण जानकारी के साझा करने जा रहे है जो छात्र के लिए करियर लिए मार्गदर्शन हो सकती है। इस लेख में पैकेजिंग क्या (What is packaging) है, पैकेजिंग कोर्स (Packaging Course), पैकेजिंग के फील्ड में करियर का स्कोप (Career scope), आदि के बारे में जानकारी देने वाले है। आइए जानतें कैसे पैकेजिंग के फील्ड में करयर बना सकते है।

Career in packaging technology

जैसे दुनिया में विकास हो रहा है ठीक ऐसे ही कई प्रकार के उत्पाद भी बनाए जा रहे है। आज के समय में हर रोज कोई ना कोई कंपनी अपने प्रोडक्ट को लॉन्च करती है। जिसके पीछे कंपनी कई महीनों के रिचर्स के बाद में अजांम तक पहुचाती है। पैकेजिंग में केवल उत्पाद को लपेटने या उसकी सुरक्षा करने के बारे में नहीं है, यह ग्राहकों को आकर्षित करने और उत्पाद के लिए इमेज बनाने के बारे में भी है जो इसे जोड़ता है।

आज की दुनिया में, पैकेजिंग न केवल किसी उत्पाद को ट्रेस और ट्रैक करने के लिए एक सोर्स बन गया है, बल्कि यह किसी भी क़ीमती सामान के नकली को रोकने के लिए भी जिम्मेदार है। इसमें होलोग्राम जैसी महत्वपूर्ण जानकारी होती है, जो उत्पाद की सुरक्षा सुनिश्चित करती है, लेबलिंग जो खाद्य उत्पाद के पोषण संबंधी तथ्यों के लिए नियमों का पालन करती करती है। पैकेजिंग टेक्नोलॉजी के क्षेत्र में बहुत प्रगति देखी गई है।

यह भी पढ़े-

Career In Psychology: 12वीं पास करने के बाद सबसे शानदार करियर ऑप्सन

Drone Pilot kaise bane: Become a drone pilot/ Skills, Qualifications & career scope

Latest and high demand career option in 2020

Become a solopreneur: This career option like own boss

Astronomy me career kaise banaye

career in packaging technology- जैसे- जैसे प्रोडक्ट बढ़े है ठीक ऐसे ही उत्पादों के लिए पैकेजिंग टेक्नोलॉजी में कई प्रकार के सुधार देखें गए या यूं कह सकते है, दुनिया में जरुरत के आधार पर पैकेजिंग के तौर तरीके बदल गए है। आज के दौर में Product के  packaging में नई technology की प्रयोग किया जा रहा है। ऐसे में छात्रों के लिए नए अवसर खुल गए है। जिससे आप के लिए Career in packaging technology में करियर अच्छा साबित हो सकता है।

What is packaging

पैकेजिंग को एक ऐसी टेक्नोलॉजी और साइन्स कह सकते है, जिसके माध्यम से कोई प्रोडक्ट डिस्ट्रवूशन, सेल, भंड़ारण और यूज के दौरान सुरक्षित किया जाता है। इसमें डिजाइन और मुल्यांकन  की प्रकियांए भी शामिल होती है। ताकि प्रोडक्ट का आकर्षण भी बढ़ें। इसलिए इसमें ग्राफिक डिजाइन भी शामिल की जाती है। इसमें आपको कई विषयों का जानकार होना पड़ेगा क्यों कि मैटेरिय़ल की पहचान, प्रोसेसिंग. डिजाइन के साथ पार्यवरणीय मुद्दे भी ध्यान में रखने होगें।

Course- इस फील्ड में आपको सभी स्तर के कोर्स मिल जाएगें। जैसे कि तीन महीने का इंसेंटिग कोर्स, पैकेजिंग टेक्नॉलॉजी में तीन साल का फुल टाइम डिप्लोमा कोर्स, एक साल का पैकेंजिंग मैनेजिंग कोर्स चार साल के डिग्री कोर्स आदि है। इन कोर्स में प्रवेश लेने के लिए किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से 12वीं (विज्ञान विषयों के साथ ) पास होना चाहिए है।

Course and duration

पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा इन पैकेजिंग दो वर्षीय
बीटेक इन पैकेजिंग टेक्नोलॉजी   चार वर्षीय
डिप्लोमा इन पैकेजिंग टेक्नोलॉजी तीन वर्षीय
सर्टिफिकेट प्रोग्राम इन पैकेजिंग  तीन माह
डिस्टेंस एजुकेशन प्रोग्राम इन पैकेजिंग डेढ़ वर्षीय
इन्टेंसिव कोर्स इन पैकेजिंग  तीन माह

Career scope

पैकेजिंग इंडस्ट्री एसोसिएशन ऑफ इंडिया के अनुसार यह सबसे तेजी से विकास करने वाले इंडस्ट्री में से एक है क्योंकि इसका तालुक हर इंडस्ट्री से है। चाहे वो खाने के उत्पाद हों मेडिसिन हों, खतरनाक या नाजुक प्रोडक्ट हों बीतें सालों में इस इडस्ट्री में दोगुना की बढ़ोत्तरी हुई है। एक अनुमान के मुताबिक, 2025 तक दुनिया में भारतीय पैकेजिंग बाजार में चौथे नंबर का सबसे बड़ा बाजार हो जाएगा। भारत में अभी भी इस इंडस्ट्री का बड़ा हिस्सा असंगठित है। जिस कारण से इस फील्ड में पैकेजिंग इंजीनियरों की मांग बढ़ी है। पैकेजिंग सांइस और टेक्नोलॉजी की डिग्री से लैस कैडिडेट के लिए देश में ही नहीं विदेश में भी अवसरों की कमी नही होगी।

लगातर बढ़ रही इंडस्ट्री के वजह से उत्पादों के उनके तौर-तरीकों में बदलाव देखा गया है। जिससे जरुरत के हिसाब से इस इंडस्ट्री ने भी अपने आप को बदला है। आप को बता दें कि यह क्षेत्र इंजीनियरिंग ग्रेजुएट्स और पोस्ट ग्रेजुएट्स के लिए तो अवसर देता ही है, अब पैकेजिंग तकनीक के कई संस्थान अलग से इस क्षेत्र के लिए प्रोफेशनल्स तैयार कर रहे हैं, जिनकी भारी डिमांड भी है।

देश में एक अनुमान के अनुसार लगभग 35000 से भी ज्यादा पैकेजिंग इकाइयां हैं, जिनमें वार्षिक रूपसे 3000 से ज्यादा पैकेजिंग इंडस्ट्री को समझने वाले ट्रेंड युवाओं की जरूरत है। ग्राफिक और डिजाइन आर्टिस्ट्स की भी इस क्षेत्र में खूब मांग रहती है। बीटेक के बाद आप प्रॉसेस इंजीनियर्स, पैकेजिंग टेक्नोलॉजिस्ट, पैकेजिंग डेवलपमेंट मैनेजर, रिसर्चर के तौर पर काम कर सकते हैं। पैकेजिंग टेक्नोलॉजी के इंजीनियरों को कई बार अपनी केमिकल और मैकेनिकल इंजीनियरिंग की

Job Profile

पैकेजिंग इंजीनियर:  ये विभिन्न सामग्रियों में से आवश्यकतानुसार उपयुक्त पैकेजिंग मैटीरियल का चयन कर इस्तेमाल करते हैं। इसमें यह देखा जाता है कि उत्पाद की गुणवत्ता को कोई हानि न पहुंचे।

पैकेजिंग डिजाइनरः इनका काम पैकेजिंग के लिए प्रोडक्ट और कंज्यूमर की पसंद को ध्यान में रखते हुए आकर्षक पैकेजिंग डिजाइन तैयार करना है। ये ग्राफिक डिजाइनिंग अथवा साज-सज्जा की अन्य विधाओं में माहिर हो सकते हैं।

पैकेजिंग मैकेनिक : कंपनी की पैकेजिंग संबंधित मशीनों के रखरखाव और मरम्मत करने का दायित्व इन पर होता है।

पैकेजिंग प्रोडक्ट टेस्टर: अन्य इंडस्ट्रीज में जिस तरह से तैयार प्रोडक्ट्सको बाजार भेजने से पहले उनका क्वालिटी टेस्ट किया जाता है, ठीक उसी तरह से पैकेजिंग प्रोडक्ट्स की मजबूती तथा अन्य कसौटियों पर इनकी टेस्टिंग का काम किया जाता है, ताकि बाद में नुकसान की नौबत न आए। इसके लिए अनुभवी लोगों को पैकेजिंग टेस्टर के रूप में नियुक्त किया जाता है।

Salary

शुरुआप के तौर प्रोफेशनल को सैलरी उसके अनुभव के आधार 3 से 5 लाख का सालाना पैकेज मिल सकता है। इस फील्ड में हर कंपनी और प्रोफेशनल के हिसाब से सैलरी अगल-अगल हो सकती है।

Institute and university

 Indian Institute of Packaging : यह संस्थान Central Commercial & Ministry of Industry, भारत सरकार के अधीन वर्ष 1966 से है। संस्थान द्वारा पैकेजिंग पर आधारित कई तरह के कोर्स संचालित किये जाते हैं। इनमे दो साल का Post Graduation Diploma in Packaging, तीन महीने का Certificate Course in Packaging और 18 महीने का पत्राचार से संचालित Packaging Diploma Course शामिल है। दो साल वाले Post Graduation course में अखिल भारतीय स्तर पर आयोजित चयन परीक्षा के आधार पर दाखिले किये जाते हैं।

देश में ऐसे कई संस्थान है, जो पकैंजिंग टेक्नोलॉजी में कोर्स उपलब्ध करा रहे हैं। इसमें इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ पैकेजिंग; अन्ना यूनिवर्सिटी, तमिलनाडु, गुरु जंभेश्वर यूनिवर्सिटी हिसार, एसआईईएस स्कूल ऑफ पैकेजिंग, कुरुक्षेत्र यूनिवर्सिटी और आईआईटी रुड़की कोर्स उपलब्ध कराने वाले प्रतिष्ठित संस्थानों में से हैं।   इसके अलावा एसआईएस स्कूल ऑफ पैकेजिंग नावी महाराष्ट्र, इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, रुडकी गवर्मेंट पॉलिटेक्नीक, नागपुर, महाराष्ठ्र जे एन गवर्मेंट पॉलिटेक्नीक रामनाथपुर, हैदराबाद संस्थानों में भी packaging technology संबधित कोर्स कराए जाते है।

Career Pedia को उम्मीद है कि इस पोस्ट में दी गई  जानकारी आपको पसंद आई होगी। अगर आपके कोई भी सवाल या सुझाव हैं तो हमे कॉमेंट कर सकते हैं। हमारे You Tube Channel, Facebook page Linkdin page और Instragram पर जुड़ सकते है। वहां से करियर जानकारी के पोस्ट व वीडियों के लेटेस्ट नोटिफिकेशन पा सकते है। धन्यवाद !!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *