Career in Microbiology

Career in Microbiology

Career in Microbiology:- क्या आप बायोलॉजी और केमिस्ट्री में इंटरेस्ट रखते है, क्या आप ने बायोलॉजी से 12वीं पास की है, इस लेख में हम आप को माइक्रोबायोलॉजी में करियर कैसे बनाएं इस पर जानकारी दें रहें है। माइक्रोबायोलॉजी की फील्ड में करियर की काफी संभावनाएं है। इस लेख में Career in Microbiology. क्या है माइक्रोबायोलॉजी, रोजगार की संभावनाएं, बेस्ट कोर्स, कोर्स करने के लिए संस्थान, सैलरी, करियर का स्कोप, आदि पहलूओं पर जानकारी दे रहे हैं।

Career in Microbiology

दुनिया जैसे- जैसे तरक्की कर रही है। वैसे हर साल में कोई ने कोई संक्रामक रोग फैल जाता है। जिस तरह से दुनिया भर में नई-नई बीमारियां सामने आ रही हैं, उसे देखते हुए कई सूक्ष्म जीवाणुओं का अब भी पता लगाया जाना बाकी है। इस साल 2020 में ही कोरोना वायरस के संकमण ने दुनिया के अधिकतर देशों झकझोर करने रख दिया है।

इससे पहले माइक्रोबायोलॉजी (Microbiology) के विशेषज्ञों की बदौलत ही हाल-फिलहाल में कई संक्रामक बीमारियों, जैसे जीका वायरस, एचआईवी और स्वाइन फ्लू (Infectious diseases, zika virus, HIV and swine flu) आदि की पहचान से लेकर उपचार तक में कारगर कदम उठाए जा सके हैं। वैज्ञानिक एवं माइक्रोबायोलॉजिस्ट (Microbiologist) इस दिशा में कार्य कर रहे हैं। वे महामारियों से लड़ने में अहम भूमिका निभा रहे हैं। माइक्रोबायोलॉजिस्ट की मांग मेडिकल के अलावा, फार्मा, कृषि, डेयरी, फूड से लेकर तमाम अन्य क्षेत्रों में बढ़ गई है। वहीं, हेल्थकेयर सेक्टर में निवेश के बढ़ने से भी उम्मीदों को नए पंख लगे हैं…

What is Microbiology?

यह बायोलॉजी की एक शाखा है, जिसमें सूक्ष्म जीवाणुओं, प्रोटोजोआ, शैवाल (एल्गी), बैक्टीरिया, वायरस आदि के बारे में स्टडी की जाती जाता है। इन सूक्ष्म जीवों को सिर्फ माइक्रोस्कोप के जरिये ही देखा जा सकता है। माइक्रोबायोलॉजिस्ट इन जीवाणुओं के इंसानों, पौधों व जानवरों पर पड़ने वाले सकारात्मक एवं नकारात्मक प्रभावों को जानने की कोशिश करते हैं। इससे बीमारियों आदि के कारण को जानने में मदद मिलती है। इसके अलावा, जीन थेरेपी से जेनेटिक डिसॉर्डर्स के बारे में भी पता लगाया जा सकता है।

Education Qualification

देश के कई विश्वविद्यालयों में माइक्रोबायोलॉजी में अंडरग्रेजुएट एवं पोस्टग्रेजुएट कोर्सेज उपलब्ध हैं। इसके लिए स्टूडेंट्स को साइंस (बायोलॉजी) से 12वीं पास होना चाहिए। वहीं, पोस्ट ग्रेजुएशन के लिए माइक्रोबायोलॉजी या लाइफ साइंस में ग्रेजुएशन की डिग्री होनी चाहिए।

बायोलॉजी विषय से 12वीं पास करने के बाद स्टुडेंट माइक्रोबायोलॉजी के विभिन्न स्पेलाइजेशन वाले कोर्सों में एडमिशन लें सकते है, जैसे-इंडस्ट्रियल माइक्रोबायोलॉजी, मेडिकल माइक्रोबायोलॉजी, एग्रो माइक्रोबायोलॉजी, जेनेटिक्स, इम्युनोलॉजी आदि। जो हायर स्टडीज में जाना चाहते हैं, वे माइक्रोबायोलॉजी में डीएनबी कर सकते हैं। कई स्टूडेंट्स जीआरई एवं टॉफेल के जरिये विदेश से पीएचडी या पोस्ट डॉक्टोरल कर सकते हैं।

यह भी पढ़े-:

5 Books to Improve English Language Skills

How to make career in Mining engineering

 How to become a data scientist

 How to Become a Translator/Interpreter

दुनिया भर में नई-नई बीमारियों के सामने आने से आज माइक्रोबायोलॉजिस्ट की जरूरत कई इड्रस्टी में पड़ रही है। ये अवसर गवर्नमेंट व प्राइवेट निजी, दोनों क्षेत्रों में मिल रहे हैं। साइंस एवं टेक्नोलॉजी फील्ड में नए प्रयोग, इनोवेशन होने के बाद से अब अस्पतालों में होने वाले संक्रमण की रोकथाम के लिए इनका काफी सहयोग लिया जा रहा है।

माइक्रोबायोलॉजिस्ट्स के लिए हॉस्पिटल, लेबोरेट्री, फार्मा, डेयरी, कृषि, फूड प्रोसेसिंग इंडस्ट्री में अच्छे अवसर बने हैं। वे चाहें, तो कॉस्मेटिक्स, हेल्थकेयर, क्लीनिकल रिसर्च, वॉटर इंडस्ट्री, केमिकल टेक्नोलॉजी, बायोटेक, पर्यावरण से जुड़े संस्थानों, मेडिसिन, इम्युनोलॉजी, जेनेटिक्स इत्यादि सेक्टर में भी कार्य कर सकते हैं।

अध्यापन कार्य जाने के इच्छुक यूनिवर्सिटीज या साइंटिस्ट्स के साथ जुड़कर काम कर सकते हैं। इन सबके अलावा, नेशनल एयरोनॉटिक्स एवं स्पेस एडमिनिस्ट्रेशन में भी इनकी सेवाएं ली जाती हैं। इस साल 2020 में कोविड-19 (Covid-19) के बाद कंपनियां विभिन्न प्रकार के किट के निर्माण एवं वैक्सीन तैयार करने में लगी हुई हैं। इससे भी माइक्रोबायोलॉजिस्ट्स की मांग काफी बढ़ गई है।

Job Profile in Microbiology

मेडिकल माइक्रोबायोलॉजिस्ट: ये शरीर में होने वाले संक्रमण व इन्हें नियंत्रित करने वाले उपायों की तलाश पर जोर देते हैं। ये नए रोगाणुओं की खोज भी करते हैं।

माइक्रोबियल इकोलॉजिस्ट: इनकी बदौलत सूक्ष्म जीवों की उत्पत्ति एवं मिट्टी व पानी के रासायनिक चक्र में उनके महत्व को परखा जाता है। ये वातावरण को प्रदूषित होने से भी बचाते हैं।

पब्लिक हेल्थ माइक्रोबायोलॉजिस्ट: ये पेशेवर पानी एवं खाद्य पदार्थों की आपूर्ति के दौरान उनमें फैलने वाली बीमारियों का अध्ययन करते हैं तथा उन पर समय रहते नियंत्रण की कोशिश करते हैं।

फूड एंड डेयरी माइक्रोबायोलॉजिस्ट: ये पेशेवर खाद्य पदार्थों एवं डेयरी उत्पादों पर सूक्ष्म जीवों के प्रतिकूल प्रभावों की जांच करते हैं। डेयरी उत्पाद की गुणवत्ता बनाए रखने का जिम्मा भी इन्हीं का होता है।

बायोमेडिकल साइंटिस्ट: यह लैब से जुड़ा हुआ काम होता है। ये पेशेवर जीवों मे ंबीमारियों का अध्ययन करने व जैविक सूचनाओं का सही प्रबंधन करते हुए उनके हानिकारक तत्वों को कम करते हैं।

एग्रीकल्चर माइक्रोबायोलॉजिस्ट: ये पेशेवर फसलों कीसेहत सुधारने, उन्हें हानिकारक न होने देने, मृदा परीक्षण कर उसकी उत्पादकता बढ़ाने आदि पर ध्यान देते हुए अपने काम को गति देते हैं।

छात्र अपनी ग्रेजूअशन के स्टडी के बाद में क्लीनिकल व डायग्नोसिस लैबोरेट्री में बतौर असिस्टेंट या रिसर्च असिस्टेंट के रूप में काम कर सकते हैं। फार्मा व फूड इंडस्ट्री में उसके लिए बेहतरीन मौके हैं।

Salary

कोर्स कर चुके प्रोफेशनल को सरकारी से लेकर निजी सेक्टर में रोजगार के मौके होते है। दोनों फील्ड के सेक्टर में अच्छी सैलरी मिलती है। खासकर बहुराष्ट्रीय कंपनियों में सबसे अच्छा सैलरी मिलती है। मास्टर या पीजी डिप्लोमा कोर्स के बाद किसी चिकित्सा संस्थान से जुड़ने पर पेशेवर को 40-45 हजार रुपए प्रतिमाह मिलते हैं। शोध या अध्यापन में यही आमदनी 70-80 हजार प्रतिमाह के करीब पहुंच जाती है। हालांकि यह भी निर्भर करता है कि आप का सस्थान कितना बड़ा है, और अनुभव कितना है। कुछ बर्षों का अनुभव होने के बाद में सैलरी पैकेज में इजाफा होता जाता है।

Institute

वैसे तो हर शहर के कॉलेज और यूनिवर्सिटी माइक्रोबायोलॉजी में बैचलर से लेकर पीएचडी तक की डिग्री करवाते है लेकिन फिर भी इन प्रमुख कॉलेज से पढ़ाई करने के बाद आपको कैंपस प्लेसमेंट में बेहतर जॉब मिल सकता है।

यूनिवर्सिटी-

-दिल्ली यूनिवर्सिटी, नई दिल्ली
-चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी, चंडीगढ़
-डॉ भीमराव अंबेडकर विश्वविद्यालय, आगरा
-चौधरी चरण सिंह विश्वविद्यालय, मेरठ
-पुणे विश्वविद्यालय, पुणे
-हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय, शिमला

कॉलेज-

-सेंट जेवियर्स कॉलेज, मुंबई
-मद्रास क्रिश्चन कॉलेज, चेन्नई
-फरगुसन कॉलेज, पुणे
-गार्गी कॉलेज, दिल्ली

Career Pedia को उम्मीद है कि इस पोस्ट में दी गई  जानकारी आपको पसंद आई होगी। अगर आपके कोई भी सवाल या सुझाव हैं तो हमे कॉमेंट कर सकते हैं। हमारे You Tube Channel, Facebook page Linkdin page और Instragram पर जुड़ सकते है। वहां से करियर जानकारी के पोस्ट व वीडियों के लेटेस्ट नोटिफिकेशन पा सकते है।

Leave a Reply