Career in Economics : Top Career option in Economics in 2022

Career in Economics: ऐसे कई करियर फील्ड हैं जिसमें रोजगार के बेसुमार अवसर उपलब्ध हैं। जिसमें से इकोनॉमिक्स फील्ड एक है। अगर आप को इकोनॉमिक्स से लगाव है। तो इकोनॉमिक्स के फील्ड में करियर बनाने की सोच सकते है। इकोनॉमिक्स से जुड़ें कोर्स करके टीचिंग, इंडियन इकनोमिक सर्विसेज, फाइनेंस सेक्टर और बैंकिंग सेक्टर आदि में जा सकते हैं। तो चलिए इस ब्लॉग में बात करतें है। Career in Economics के तहत Top Career option in Economics के बारे में।

Career in Economics

इकोनॉमिक्स, दोस्तों इस क्षेत्र में नौकरी के बेसुमार अवसर हैं। सरकारी से लेकर प्राइवेट सेक्टर में इकोनॉमिक्स (Career in Economics) के लिए अच्छे अवसर  उपलब्ध है। इकोनॉमिक्स में किसी अच्छे कॉलेज और विवि से यूजी, पीजी स्पेशल कोर्स करने के बाद में रोजगार के लिए ये लिए भटकना नहीं पड़ेगा है। अर्थशास्त्र (इकोनॉमिक्स)  के तहत हर सेक्टर जुड़ा है।

ऐसे में टीचिंग से लेकर इंडियन इकनोमिक सर्विसेज,  फाइनेंस सेक्टर, बैंकिंग सेक्टर, सर्वे रिसर्च, प्रोफेशनल टैक्स कंसलटेंट और यहां तक की  इंटरनेशनल लेवल पर काम कर सकते हैं। सीधे तौर कहें तो इस क्षेत्र में रोजगार  की कोई टेंशन नहीं है, इसमें सरकारी नौकरी से लेकर निजी यानी प्राइवेट क्षेत्र में रोजगार के अनेक अवसर हैं। थोड़ा अनुभव होने पर आपको आपकी मनपंसद संस्थान और अच्छी सैलरी वाला रोजगार मिल जाएगा।

Career in Economics: Top Career option in Economics

अर्थशास्त्र (इकोनॉमिक्स) सामाजिक विज्ञान की वह शाखा है, जिसके अन्तर्गत वस्तुओं और सेवाओं के उत्पादन, वितरण, विनिमय और उपभोग का अध्ययन किया जाता है। आप को यहां पर याद दिला दें कि डॉ. अमर्त्य सेन ने प्रेसीडेंसी यूनिवर्सिटी (कोलकाता) से शिक्षा प्राप्त करने के बाद, उन्हें 1998 में अर्थशास्त्र विज्ञान में नोबेल पुरस्कार जीता। इसके बाद उन्हें 1999 में भारत रत्न से भी सम्मानित किया गया था। अर्थशास्त्र (इकोनॉमिक्स) डॉ. अमर्त्य सेन का नाम प्रमुखता से लिया जाता है। 

How to make career in Economics

इकोनॉमिक्स के क्षेत्र में करियर (Career in Economics) बनाने के लिए आप कई तरह की डिग्री ले सकते हैं। लेकिन सबसे पहले आपका 12th पास होना जरूरी है। और 12th किसी भी स्ट्रीम  हो कोई फर्क नहीं पड़ेगा। तो चलिए बात करतें है इकोनॉमिक्स कोर्स के बारे में।

U.G Course

  • इकोनॉमिक्स में बैचलर ऑफ आर्ट्स
  • बैचलर ऑफ साइंस
  • बैचलर ऑफ आर्ट्स इन बिजनेस इकोनॉमिक्स
  • बैचलर ऑफ अप्लायड इकोनॉमिक्स
  • बैचलर ऑफ आर्ट्स (ऑनर्स) इकोनॉमिक्स

P.G Course

अगर आप Economics में ग्रेजुएशन करने के बाद इसके किसी (Career in Economics) भी सेक्टर में स्पेशलाइजेशन करते हैं, तो ये आपके करियर के लिए बहुत अच्छा रहेगा। इससे आप अच्छे उच्च पदों पर काम करने का अवसर मिलेगा।

  • मास्टर ऑफ आर्ट्स इन फाइनेंशियल इकोनॉमिक्स
  • मास्टर ऑफ आर्ट्स इन इकोनॉमिक्स
  • मास्टर ऑफ आर्ट्स इन बिजनेस इकोनॉमिक्स
  • मास्टर ऑफ आर्ट्स इन अप्लायड इकोनॉमिक्स

MBA Course

Econamics में ग्रेजुएशन के  (Career in Economics)बाद आप MBA भी कर सकते हैं। आप अलग-अलग सेक्टर में स्पेशलाइजेशन कर सकते हैं।  Fv स्पेशलाइजेशन कर अपनी योग्यता और स्किल बढ़ा सकते हैं।

  • बिजनेस इकोनॉमिक्स
  • एनालिटिकल एंड एप्लाइड इकोनॉमिक्स
  • इंडस्ट्रियल इकोनॉमिक्स
  • एग्रीकल्चर इकोनॉमिक्स
  • बैंकिंग इकोनॉमिक्स
  • रूरल इकोनॉमिक्स

Career Opportunities in Economics

दोस्तों अब बात करतें है। इसमें रोजगार की संभावनाएं क्या हैं (Career Opportunities in Economics) और बैचलर्स या पीजी की डिग्री लेने के बाद जॉब्स के कई अवसर मिलते हैं। स्टूडेंट कई फील्ड्स में जा सकते हैं।

Top Career option in Economics in 2022

Scope of Economics in Academic Sector/ शैक्षणिक क्षेत्र में स्कोप

इकोनॉमिक्स (Career in Economics) में बीए और एमए के साथ अगर आप बीएड कर लेते हैं तो आप एक टीचर बन सकते हैं। अब इकोनॉमिक्स एक अलग सब्जेक्ट के रूप में पढ़ाया जाता है। इकोनॉमिक्स में 55 परसेंट से एमए करने के बाद नेट या पीएचडी करके कॉलेज और विश्वविद्यालयों एक प्रोफेसर बन सकते हैं। रिसर्च संस्थानों में फेलो भी बन सकते हैं।

ये भी पढ़ें-

Assistant Professor kaise bane / How To Become Assistant Professor

Cartographer kaise bane :- How to become Cartographer

Nuclear Physicist Kaise Bane : Career in Nuclear Physics, become a Nuclear Physicist?

Machine Learning Engineer kaise bane / मशीन लर्निंग इंजीनियर कैसे बनें?

 Career in food technology: फूड टेक्नोलॉजी में कैसे बनाए करियर?

Indian Economics Services/ इंडियन इकोनोमिक सर्विसेज में स्कोप

इंडियन इकोनोमिक सर्विसेज  इकोनॉमिक्स की सबसे बड़ी जॉब है और आईएएस के बराबर है। अगर आपने इकोनॉमिक्स में 55 प्रतिशत अंकों के साथ एमएससी या एमए किया है। आपकी उम्र 21-30 वर्ष है, तब भारतीय आर्थिक सेवा परीक्षा में शामिल हो सकते हैं। इस परीक्षा का आयोजन केन्द्रीय लोकसेवा आयोग हरसाल करता है।  इस परीक्षा में पास होने के बाद  अधिकारियों को केन्द्रीय वित्त मंत्रालय व आर्थिक मामलात मंत्रालय के विभिन्न विभागों, नीति आयोग और सीएसओ आदि में तैनात किया जाता है।

Scope for Economics in Banking Sector/ बैंकिंग सेक्टर में अर्थशास्त्र का स्कोप

भारतीय रिजर्व बैंक बड़ी संख्या में इकोनॉमिस्ट की भर्ती करता है। ये भर्ती विभिन्न लेवल पर होती है। एक लेवल 21 से 28 वर्ष तक के युवाओं के लिए होता है, जिसमें समय समय पर भर्ती परीक्षा होती है। दूसरा सीनियर इकोनोमिस्ट के लिए , जिसमें अनुभव और योग्यता के आधार पर भर्ती होती है।

इसके आलावा सरकारी और प्राइवेट बैंकों में इकोनॉमिस्ट के पद होते हैं। इसमें इकोनोमिक्स में पीजी और एमबीए डिग्री वालों को लिया जाता है। साथ ही आर्थिक सलाहकार, ग्रामीण विकास अधिकारी जैसे पदों पर भी भर्ती की जाती है। यदि आप पीजी इन इकोनोमिक्स के साथ एमबीए हैं तो आपके चांस और बढ़ जाते हैं। बैंकों में प्रोबेशनरी अधिकारी, क्लर्क आदि की सीधी भर्ती होती है।

Jobs in Finance Sector/ वित्तीय सेक्टर में जॉब्स का स्कोप

इकॉनोमिक्स में एमए-एमएससी के साथ आप फाइनेंस में एमबीए हैं तो वित्तीय संस्थानों में आसानी से अपना करियर बना सकते हैं।  फाइनेंस और  इनश्योरेंस क्षेत्र की कंपनियां(सरकारी और प्राइवेट) दोनों में इकोनॉमिक्स के स्टूडेंट्स को अच्छी संख्या में लिया जाता है।

इसके जिन छात्रों को पूंजी बाजार, मुद्रा बाजार, कमोडिटी बाजार और म्यूचुअल फंड सेवा क्षेत्र का कुछ ज्ञान है, वे निवेश सलाहकार के रूप में काम कर सकते हैं।

International Economics Organizations/ अंतरराष्ट्रीय आर्थिक संगठनों में स्कोप

दोस्तों एक इकोनॉमिस्ट के रूप में लंबे समय तक काम करते हुए अगर आप अपने क्षेत्र में एक सक्सेसफुल प्रोफेशनल बन जाते हैं और आपका नाम एक फेमस इकोनॉमिस्ट के रूप जाए तो आप अपने अनुभव और लोकप्रियता के आधार पर अंतरराष्ट्रीय संस्थानों यानी International Organizations में जा सकते हैं।

विश्व बैंक(World Bank), अंतर्राष्ट्रीय श्रम संगठन (International Labour Organizations)और अंतराष्ट्रीय मुद्रा कोष(IMF) जैसे प्रतिष्ठित अंतरराष्ट्रीय संगठन अच्छी खासी संख्या में इकोनॉमिस्ट को रोजगार उपलब्ध कराता है। एनजीओ(Non-Government Organizations) में भी आर्थिक स्नातक काम कर सकते हैं।

Professional tax consultant/स्वतंत्र कर सलाहकार की भूमिका

इकोनॉमिक्स के स्टूडेंट अपनी स्किल डवलप करके स्वतंत्र आर्थिक सलाहकार की भूमिका निभा सकते हैं। टैक्सेशन में एक सर्टिफिकेट / डिप्लोमा कोर्स करने के बाद  सलाहकार के रूप में भी काम कर सकते हैं। इंवेंस्टमेंट सलाहकार का काम भी कर सकते हैं।

Scope of Jobs in Survey and Research/ सर्वे और शोध क्षेत्र में करियर का स्कोप

अब दोस्तों अगर आपको आंकड़ों से खेलने में इंट्रेस्टेड हैं या कुछ नया करने की है तो सर्वे और रिसर्च क्षेत्र में अपार संभावनाएं हैं। इकोनॉमिक्स  स्टेटिस्टिक्स से पीजी व पीएचडी करने के बाद आप कई इकोनॉमिक्स रिसर्च इंस्टीटूशन्स जैसे नेशनल काउसिंल ऑफ एप्लाइड इकोनोमिक्स एंड रिसर्च, सोशल साइंस रिसर्च इंस्टिट्यूट और इंस्टिट्यूट ऑफ इकोनोमिक ग्रोथ आदि संस्थानों में अप्लाई कर सकते हैं।

दरअसल दोस्तों आजकल कई कंपनियां मार्केट रिसर्च पर बहुत निवेश करती है। दरअसल कंपनियां अपने प्रोडक्ट को कंस्यूमर के मनमाफिक बनबाने के लिए मार्केट रिसर्च कंपनियों से फील्ड सर्वे और रिसर्च कराती हैं। इकोनॉमिक्स के स्टूडेंट्स के लिए इस फील्ड में बहुत ज्यादा स्कोप है।

 Career in Agriculture Economics and Environmental Economics/एग्रीकल्चर इकोनोमिक्स, पर्यावरण इकोनोमिक्स में करियर

आजकल देश विदेश में एग्रीकल्चर और पर्यावरण पर काफी जोर दिया जा रहा है। इकोनोमिक्स में पीजी करने के बाद इन क्षेत्रों में कुछ स्पेशलाइजेशन करके इसमें करियर की संभावनाएं खोज सकते हैं।

इसके आलावा दोस्तों और भी क्षेत्र हैं जहां जॉब की काफी संभावनाएं हैं। जैसे कि-

  • आर्थिक पत्रकारिता (Economics Journalism)
  • डेटा एनालिस्ट(Data Analyst)
  • फाइनेंसियल प्लानर और कंट्रोलर(Financial Planner)
  • बिजनेस इकोनोमिस्ट(Business Economist)
  • इनवेस्टमेंट इकोनोमिस्ट(Investment Economics)

Skills

अब दोस्तों ये (Career in Economics)  तो हम सभी जानते हैं कि अगर ज्यादा सक्सेस फुल होना है तो आपके पास अच्छी स्किल का भी होना जरूरी है। आइए आपको बताता हूं क्या स्किल होनी चाहिए। अब दोस्तों अगर आपको बेस्ट इकोनॉमिस्ट बनना है तो आपके पास क्रिटिकल थिंकिंग का अच्छा होना जरुरी है। एक इकोनॉमिस्ट के इतनी क्षमता होनी कि वह कठिन से कठिन समस्याओं को हल कर सके।

उन्हें यह भी पता होना चाहिए कि आर्थिक रुझान किसी संगठन यानी ओर्गनइजेशन को कैसे प्रभावित कर सकते हैं। साथ ही उन्हें दूसरों को अपना काम समझाने में सक्षम होना चाहिए। इकोनॉमिस्ट की राइटिंग स्किल भी अच्छी होनी चाहिए। कई इकोनॉमिस्ट पत्रिकाओं में या समाचार मीडिया में प्रकाशन के लिए लिखते हैं।

 सैलरी

इकोनॉमिक्स में करियर (Career in Economics) बनाने वाले को एक अच्छी पैकेज की सैलरी ऑफर की जाती है। करियर की शुरूआत में आपक 4 से 5 लाख रुपये प्रति साल का पैकेज मिलता है। इसके बाद आपके अनुभव और स्किल के साथ-साथ आपका पैकेज बढ़ता जाता है।वहीं इकोनॉमिक्स में करियर बनाने वाले को एक अच्छी पैकेज की सैलरी ऑफर की जाती है। करियर की शुरूआत में आपक चार से पांच लाख रुपये प्रति साल का पैकेज मिलता है।

इसके बाद आपके अनुभव और स्किल के साथ-साथ आपका पैकेज बढ़ता जाता है। सरकारी विभागों मेंं सैलरी सरकारी नियमों के अनुसार मिलती है। वहीं कॉरपोरेट सेक्टर की एमएनसी और बड़ी कंपनियों में उच्च पदों पर प्रति माह लाखों का पैेकज होता है।

Colleges and Universities

देश के लगभग हर कॉलेज और विश्वविद्यालय में इकोनॉमिक्स की पढ़ाई होती है, लेकिन जो बेस्ट टॉप 10 कॉलेज हैं उनके नाम बता रहा हूं। तरह-तरह के समाचार पत्रों, मैगजीन यथा इंडिया टुडे और मार्केट रिसर्च कंपनियों ने अपने सर्वे में इन संस्थाओं को शामिल किया है।

  • लेडी श्रीराम कॉलेज, दिल्ली
  • मिरांडा हाउस, नई दिल्ली
  • सेंट जैवियरर्स कॉलेज कोलकाता
  • लॉयला कॉलेज, चैन्नई
  • क्रिस यूनिवर्सिटी,बंगलोर
  • प्रसिडेंसी यूनिवर्सिटी, कोलकाता
  • मद्रास क्रिश्चियन कॉलेज, चैन्नई
  • हिंदू कॉलेज, दिल्ली
  • इंडियन स्कूल ऑफ इकोनोमिक्स, दिल्ली
  • इंडियन इंस्टिूयूट ऑफ स्टेटिस्टिकस, नई दिल्ली

Career Pedia को उम्मीद है कि इस पोस्ट में दी गई  जानकारी आपको पसंद आई होगी। अगर आपके कोई भी सवाल, सुझाव या इस लेख में कोई त्रुटि रह गई है तो हमे कॉमेंट और Email कर सकते हैं। हमारे You Tube Channel, Facebook page Linkdin page, Instragram और  Telegram channel पर जुड़ सकते है। वहां से करियर जानकारी के पोस्ट व वीडियों के लेटेस्ट नोटिफिकेशन पा सकते है। धन्यवाद !!

Leave a Comment