Brand Manager Kaise bane/ How to become a Brand Manager?

Brand Manager Kaise bane:- हम सब आज के समय में कई प्रोडक्ट को यूज करते है और प्रोडक्ट को बनाने वाली कंपनियों के ब्रांड के हमारे दिल और दिमाग छप जाता है। कंपनियों आप ने ब्रांड के लिए एड, पीआर केंपेंन, सोशल वर्क, आदि तरीके से एक्टविटी करते है।  ब्रांड मैनेजमेंट एक इंट्रेस्टिंग फील्ड है जिसमें मिलता है क्या आप Brand Manager kaise bane इस पर जानकारी चाहते है क्या इस फील्ड में करियर बनाने चाहते हैं तो इस करियर में बारे में जानकारी के लिए इस लेख को पूरा पढ़ें।

Brand Manager Kaise bane/ How to become a Brand Manager?

आज के इस लेख में करियर पिडिया आप के लिए लाया है ऐसे करियर ऑप्सन पर इन्फोरमेशन जिसका आप इंतजार था आज के इस लेख  में  Brand Manager kaise bane इस करियर पर वैरी इंपोर्टेडें इन्फोरमेशन को जानने वाले है। आज के इस लेख में Brand Manager kaise bane के तहत हम जाननें वाले है। How to become a Brand Manager, What is Brand Management, Who are Brand Manager, What does a brand manager do, become a Brand Manager step by step, education qualification, Job profile in Brand Management, Salary  and more

Brand क्या है/ What is Brand

Brand Management में करियर कैसे बनाएं इसे जाननें से पहले सबसे पहले जान लेंते  है Brand क्या है/ What is Brand,  ब्रांड शब्द एक बिजनेस और मार्केंटिंग कंसेप्ट को संदर्भित करता है जो लोगों को किसी पार्टिकूलर कंपनी,  प्रोडक्ट या परसन की पहचान करने में हेल्प करता है। ब्रांड इंटेन्जेवल हैं, जिसका अर्थ है कि आप वास्तव में उन्हें छू या देख नहीं सकते हैं। जैसे, वे कंपनियों, उनके प्रोडक्ट या परसन के बारे में लोगों की धारणाओं यानि perceptions को आकार देने में हेल्प करते हैं।  

Brand Management क्या है/What is Brand Management? 

 ब्रांड मेंनजमेंट (Brand Manager Kaise bane) किसी विशेष सर्विस या प्रोडक्ट के लिए मार्केटिंग टेक्निक को पहचानने और मेंनज करने की प्रक्रिया है, ताकि इसका मार्केट प्राइज और कस्टमर के बीच लोकप्रियता बढ़े।  इसमें एक ब्रांड के टेंनजिबल और इनटेंजिबल इलेमेंट जैसे लागत, कस्टमर सटिफेक्शन, इन-स्टोर  प्रजेनटेशेंन और कंपटीशन का मैनेजमेंट भी शामिल है।

अधिकांश कंपनियां अपने ब्रांड को बाजार के रुझान के अनुसार मैनेजमेंट  करने और बनाए रखने के लिए एक ब्रांड प्रबंधक (Brand Manager kaise bane) नियुक्त करती हैं।

Who are Brand Manager/Brand manager क्या करते है?

एक ब्रांड मैनेजर (Who are Brand Manager) वह व्यक्ति होता है जो कंपनी के प्रसाद और लक्षित बाजार के आधार पर कंपनी के लिए ब्रांड रणनीति तैयार करता है। एक ब्रांड प्रबंधक यह परिभाषित करने के लिए जिम्मेदार होता है कि एक कंपनी अपने प्रोडक्ट को अपने प्रभावी ऑडियन्स या ब़ॉयर के लिए कैसे कंम्युनिकेशन और मार्केटिंक करेगी।

ब्रांडिंग और ब्रांड मैनजमेंट  किसी भी कंपनी के लिए बहुत महत्वपूर्ण है क्योंकि यह परिभाषित करता है कि कस्टमर  उस कंपनी को कैसे देखते हैं। इसलिए, कंपनी- कस्टमर  रिलेशन में एक ब्रांड मैनेंजर एक प्रमुख भूमिका निभाता है। ब्रांड मैनेंजर (Brand Manager Kaise bane)एक कंपनी के लिए मार्केंटिंग स्ट्रेटजी का ड्राफ्ट तैयार करते हैं और उन्हें एग्जीक्यूट करते हैं।

स्टाइलिंग, मार्केटिंग, एड, सोशल मीडिया मार्केटिंग और कम्युनिकेशन आदि से लेकर जिम्मेदारियां सभी एक ब्रांड मैनेजर के दायरे में आती हैं। एक ब्रांड मैनेजर एक कंपनी में सीनियर लेवल पोस्ट में से एक है और अनुभवी कैंडिडेट को आमतौर पर इस रोलके लिए चुना जाता है। एक ब्रांड मैनेजर के लिए कंपनी के प्रोडक्टऔर सर्विस के साथ-साथ मार्केंट के बारे में अच्छी जानकारी होना बहुत जरूरी है ताकि उन्हें अपना काम अच्छी तरह से करने में मदद मिल सके।

Become a Brand Manager step by step 

Qualifications for Brand Manager

ब्रांड मैनेजर एक भूमिका है जो आमतौर पर मैनेजमेंट ग्रेजूएट को प्रदान की जाती है। फील्ड में सीनियर लेवेल के पोस्ट को हासिल करने के लिए कैडिडेंट  ग्रेजूएट मैनेजमेंट कोर्स के लिए जाने का विकल्प भी चुनते हैं।  एक कैडिडेंट  के लिए ब्रांड मैनेजमेंट में करियर बनाने के लिए क्षेत्र में इनफॉरमल एजूकेशन अनिवार्य है, लेकिन यह अनिवार्य नहीं है।

यह कहा जा सकता है कि इस क्षेत्र में एक्पिरियन्स एक डिग्री से अधिक मायने रखता है लेकिन एक स्तर का अनुभव प्राप्त करने के बाद कुछ स्किल और नॉलेज डेवेलप करने के लिए इनफॉरमल शिक्षा एजूकेशन हो जाती है।

UG Course for Brand Manager

भारत में एक ब्रांड मैनेजर के रूप में करियर के लिए  बेस्ट ग्रेजुएट कोर्स नीचे दिए गए हैं। ये सभी कोर्स 12वीं पास करने के बाद किए जा सकते हैं। 

  • ब्रांड प्रबंधन / लक्जरी  ब्रांड मैनेजमेंट में यूजी पाठ्यक्रम/UG Course in Brand Management / Luxury Brand Management
  • बैचलर ऑफ बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन (बीबीए)/Bachelor of Business Administration (BBA)
  • बैचलर ऑफ मैनेजमेंट स्टडीज (बीएमएस) /Bachelor of Management Studies (BMS)
  • बैचलर ऑफ बिजनेस स्टडीज (बीबीएस) /Bachelor of Business Studies (BBS)
  • बैचलर ऑफ मास मीडिया (बीएमएम) /Bachelor of Mass Media (BMM)

एक सामान्य ग्रेजुएट मैनेजमेंट की डिग्री पर्याप्त है। हालांकि, स्टुडमेंट अपनी स्पेशिलाइजेशन के लेवल को और बढ़ाने के लिए मार्केटिंग, एडविजमेंट  और डिजिटल मार्केटिंग जैसी  स्पेशिलाइजेशन का विकल्प चुन सकते हैं।

 PG Course for Brand Manager

खास बात यह है कि पोस्ट ग्रेजुएट करने से कैडिडेंट की और स्पेशिलाइजेशन, नॉलेज स्किल डेवेलप होती है। हालांकि कैडिडेंट को मास्टर डिग्री कोर्स के लिए जाने से पहले ब्रांड मैनेजमेंट, मार्केटिंग और एडवरटाइजिंग का कुछ प्रैक्टिकल एक्सपीरियंस प्राप्त करें।

  • मास्टर ऑफ बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन/Master of Business Administration: उम्मीदवार के पास किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय / संस्थान से किसी भी स्ट्रीम में स्नातक की डिग्री होनी चाहिए।
  • प्रबंधन में स्नातकोत्तर डिप्लोमा/Post Graduate Diploma in Management: उम्मीदवार को किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय / संस्थान से किसी भी स्ट्रीम से स्नातक होना चाहिए।
  • ब्रांड प्रबंधन में डिप्लोमा / पीजीडी Diploma / PGD in Brand Management: किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से किसी भी

Types of Job Roles Brand Manager

ब्रांड मैनेजमेंट और मार्केंटिंग एक इनऐक्टिव डेस्क जॉब नहीं है। इस फील्ड में कैडिडेंट के अपने पैरों पर होना चाहिए यानि की इसका मतलब है कि मार्केट में चल रहें ट्रेंड को समझना होगा। अपने ब्रांड के प्रति कस्टमर की ध्यान आकर्षित करना होगा। और ब्रांड के लिए एड, पीआर केंपेंन, सोशल वर्क, आदि तरीके से एक्टविटी कस्टमर से कम्युकेशन करना चापिए।  हालांकि, कैडिडेंट के लिए सबसे महत्वपूर्ण पहलू एक ब्रांड के टारगेट मार्केट की अच्छी समझ होना चाहिए।

यह भी पढ़ें-Information Officer kaise bane:-Information Officer qualification, selection process, salary & more

Statistician kaise bane/How to become statistician?

Dogecoin cryptocurrency kya hai/What is Dogecoin cryptocurrency?

Video game Journalist kaise bane/ Best career option in 2021

यही कारण है कि कई मार्केंटिंग प्रोफेशनल आमतौर पर फील्ड-वर्क और रीयल-टाइम केस स्टडीज से शुरू करते हैं। ब्रांड मैनेजमेंट में करियर से जुड़ी कुछ नौकरी की रोल यहां दिए गए हैं।

  • मैनेजमेंट ट्रेनी / इंटर्न: ब्रांड मैनेजमेंट में अपने करियर के शुरुआती चरण के दौरान, कैडिडमेंट को आमतौर पर एक एडवरडिंमेंट या मार्केटिंग फर्म में प्रशिक्षण अवधि या इंटर्नशिप पूरी करनी होती है। इंटर्न को सर्वेक्षण, डेटा संग्रह और डेटा के प्राइमरी एनलाइज का काम सौंपा जाता है।
  • मार्केट रिसर्च एनालिस्ट / एग्जीक्यूटिव: यह ब्रांड मैनेजमेंट में एंट्री लेवल का पद है। मार्केट रिसर्च एनालिस्ट या मार्केटिंग एनालिस्ट कंपनियों को यह तय करने में मदद करते हैं कि कौन से प्रोडक्ट  या केंपेन सफल होंगे। उन्हें मार्केट से डेटा कलेक्ट करने और  एनलाइज करने और कंपनी को फीडबेक  देने का काम सौंपा गया है।
  • अस्सिटेंट मार्केंटिंग / ब्रांड मैनेजर: 2 – 3 वर्षों के अनुभव के साथ, कैडिडेंटवारों को अस्सिटेंट रोल में प्रमोशन किया जाता है, जहां स्ट्रेटजी डेवेलप करने में उनके इनपुट मांगे जा सकते हैं। अस्सिटेंट मार्केंटिंग मैनेजर आमतौर पर अपनी डेली एक्टिविटी में मार्केटिंग एक्जेक्युट की एक टीम का गाइड करते हैं।
  • मार्केटिंग/ब्रांड मैनेजर: ब्रांड मैनेजमेंट के फील्ड में सीनियर लेवल की पोस्ट आमतौर पर उन कैडिडेंट के लिए आरक्षित होता है जिन्होंने 5+ वर्ष का अनुभव प्राप्त किया है। ब्रांड प्रबंधक या सीनियर मैनेजर स्ट्रेटजी बनाने और एक्जेक्युट में बहुत बड़ी रोल निभाते हैं।
  • मार्केटिंग डारेक्टर: आमतौर पर इस भूमिका के लिए 10 से अधिक वर्षों के अनुभव वाले प्रोफेशनल का सेलेक्शन किया जाता है। एक मार्केटिंग डारेक्टर एक कंपनी के ओवरऑल मार्केटिंग वर्क का कॉर्डिनेट करता है। ब्रांड स्ट्रेटजी तय करने में भी उनकी लास्ट रोल होता है।

Employment Sector/Industry

किसी भी बिजनेस को चलाने के लिए मार्केंटिंग महत्वपूर्ण है, ब्रांड मैनेजर एक कंपनी के लिए एक आवश्यक रिक्वरमेंट है। ब्रांड मैनेजर को आमतौर पर ऑग्रेनाइजेशन के सेल्स और मार्केंटिंग डिमार्टमेंट में काम पर रखा जाता है। आज के समय में हर कोई कंपनी और नए स्टार्टअप, सेवा-एग्रीगेटर और ऐप-आधारित कंपनियां में सेल्स और मार्केंटिंग  डिमार्टमेंट होता है

खास कर ऐसी कंपनियां आमतौर पर अपने खुद के मार्केंटिंग डिपार्टमेंट चलाती हैं और मार्केंटिंग एक्जक्यूटिंव हॉयर करती है मार्केटिंग और क्लाइंट सर्विसिंग एजेंसियां ​​एक अन्य प्रमुख क्षेत्र है जिसमें ब्रांड मैनेजर प्रोफेशनल के लिए करियर के अवसर हैं।

अन्य छोटे इडंस्ट्री और फर्म जिनके पास एक अलग मार्केंटिंग डिपार्टमेंट  चलाने के लिए ज्यादा बजट या प्लेस नहीं है आमतौर पर ये एडवरटाइजमेंट एजेंसियों को आउटसोर्स करते हैं। ब्रांड मैनेजर के कुछ टॉप भर्ती क्षेत्रों में शामिल हैं:

  • ई-कॉमर्स कंपनियां
  • टेक-आधारित स्टार्टअप
  • सर्विस एग्रीगेटर कंपनियां
  • एडवरटाइजमेंट एंड मार्केंटिंग एजेंसियां
  • पीआर एजेंसियां
  • टेलीकॉम कंपनियों के विपणन विभाग आदि।

Top Colleges 

  • भारतीय प्रबंधन संस्थान, बेंगलुरू/ Indian Institute of Management, Bengaluru
  • भारथिअर विश्वविद्यालय, कोयंबटूर/ Bharathiar University,Coimbatore
  • भारतीय प्रबंधन संस्थान, इंदौर/Indian Institute of Management,Indore
  • भारतीय प्रबंधन संस्थान, इंदौर/Indian School of Business,Hyderabad
  • भारतीय प्रबंधन संस्थान, कोझीकोड/Indian Institute of Management,Kozhikode
  • नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ सिक्योरिटीज मार्केट्स, नवी मुंबई/National Institute of Securities Markets,Navi Mumbai
  • भारतीय प्रबंधन संस्थान अहमदाबाद, अहमदाबाद/ Indian Institute of Management Ahmedabad,Ahmedabad
  • माइका, अहमदाबाद/ MICA,Ahmedabad

salary

मार्केटिंग और ब्रांड मैनेजमेंट में शुरुआती सैलरी काफी कम है लेकिन अनुभवी कैडिडेंट(Brand Manager Kaise bane) को इस फील्ड में अच्छी सैलरी मिलती हैं। इस फील्ड में प्रोफेशनल को भारत में औसतन ब्रांड मैनेजर का सैलरी 10 लाख का सालाना पैकेज मिल सकता है। हालांकि प्लेस, स्किल और अनुभव जैसे कई फैक्टर के आधार पर इस फील्ड सैलरी 3.84 लाख रुपये प्रति वर्ष से लेकर 30 लाख रुपये सालाना है।

Career Pedia को उम्मीद है कि इस पोस्ट में दी गई  जानकारी आपको पसंद आई होगी। अगर आपके कोई भी सवाल, सुझाव या इस लेख में कोई त्रुटि रह गई है तो हमे कॉमेंट और Email कर सकते हैं। हमारे You Tube Channel, Facebook page Linkdin page, Instragram और  Telegram channel पर जुड़ सकते है। वहां से करियर जानकारी के पोस्ट व वीडियों के लेटेस्ट नोटिफिकेशन पा सकते है। धन्यवाद !!

 

Leave a Comment