Career in Biomedical Engineering: Biomedical Engineer Kaise bane/ course, career scope, salary and more

Biomedical Engineer Kaise bane

Biomedical Engineer Kaise bane. बायोमेडिकल इंजीनियरिंग (Biomedical Engineering) मेडिकल के फील्ड में  करियर ऑप्सन है जिसमें करियर बनाया जा सकता है। इस लेख में आप को ऐसे ही करियर ऑप्सन के बारे में रुबरु कराने जा रहे है। जो आने वाले समय में अच्छा करियर स्कोप है। इस लेख में आप को Biomedical Engineer Kaise bane इस पर जानकारी दे रहे है। उम्मीद करते है कि यह जानकारी आप को जरुर हेल्पफुल होगी।

Biomedical Engineer Kaise bane

तेजी से बदल रही दुनिया में लोगो को कई प्रकार की प्रॉवल्म का सामना करना पड़ता है। जिसे मेडिकल जगत के लिए सुलझाना एक चुनौती होती है। वॉयोमेडिकल के फील्ड में बायोमेडिकल इंजीनियरिंग (Biomedical Engineering) यानी बीएमई इंजीनियरिंग की एक उभरती हुई शाखा है। हाल के बर्षों में इसका ज्यादा विकास देखा गया है। जिससे नए कैडिडेट के लिए यह करियर ऑप्सन अच्छा साबित हो सकता है। बायोमेडिकल इंजीनियरिंग में ऐसे मेडिकल उकरणों का का निर्माण किया जाता है जो लोगो के होने वाले बीमारियों, जांच, आदि प्रकार से जरुरत होती है।

How to become a Biomedical Engineer

आज के दौर में Medical Field में आए दिन कोई न कोई आधुनिक तकनीक एवं उपकरणों (modern technology and equipment) का प्रयोग हो रहा है। ऐसे में समय रहते जटिल प्रक्रियाओं को सुलझा लेने में आसानी होती है। हालांकि, इन उपकरणों (equipment) को संचालित करने से पहले उनकी अच्छी तरह से जांच करना, मानव शरीर के क्रियाकलापों और इन उपकरणों का प्रभाव समझना आसान काम नहीं है।

ऐसे में इंजीनियरिंग की एक अलग शाखा, इन चीजों पर ध्यान केंद्रित करती है। इस शाखा को ही ‘बायोमेडिकल इंजीनियरिंग’ (बीएमई) कहते हैं। इससे संबंधित कार्यों को अंजाम देने वाले प्रोफेशनल्स को ही बायोमेडिकल इंजीनियर कहते हैं। बायोमेडिकल इंजीनियरिंग (Biomedical Engineer Kaise bane) का क्षेत्र उन लोगों के लिए है, जो मेडिसिन एवं हेल्थकेयर में रुचि रखते हैं।

Career In Genetic Engineering: Genetic engineering kaise bane

Career in Microbiology

How to Make a Career in Biochemistry

Best Course in Medical Field After 12th

How to Make a Career in Physical Education

Biomedical Engineer Kaise bane. हम ऐसे दौर में जी रहे हैं, जहां जीवन के तमाम अनसुलझे सवालों को सुलझाने के लिए हमें वैज्ञानिक दृष्टिकोण अपनाना पड़ता है। ऐसे में बायोमेडिसिन और इंजीनियरिंग की भूमिका और भी महत्वपूर्ण हो जाती है। बायोमेडिकल इंजीनियर्स, बायोमेडिकल उपकरण बनाने का काम करते हैं। इससे रोगियों के जीवन को बचाया जाता है।

आज के दौर में आधुनिक मेडिकल पद्धति को अपनाया जा रहा है जिससे कि इस फील्ड में इनोवेशन हो रहा है। हाल ही में पिछले साल 2020 में आई कोरोना वायरस (Covid-19) विश्वभर के देशों में फैला और लोगों को तेजी से में आपने जद में ले लिया। इसके साथ ही विभिन्न देशों ने लोगों के ट्रीटमेंट के लिए तेजी से दवाइयों और मेडिकल उकरणों का निर्माण किया।

बायोमेडिकल एक ऐसा टर्म है, जिसका उपयोग मेडिकल फील्ड में किया जाता है। इसमें इलेक्ट्रॉनिक मशीनों के जरिए रोगों को दूर किया जाता है। इस चिकित्सा प्रणाली में आवश्यक जानकारी के माध्यम से कंप्यूटर और माइक्रोप्रोसेसर का उपयोग होता है। हमारे शरीर में जीवित सामग्री और ऊतकों के गुणों को समझना और जानना चुनौती भरा काम होता है। बायोमेडिकल इंजिनियरिंग के जरिए इस काम को बखूबी अंजाम दिया जाता है।

What is Biomedical Engineering

Biomedical Engineering, इंजीनियरिंग की ही एक ब्रांच है। जिसके अंतर्गत मेडिकल एप्लिकेशंस, विभिन्न तरह के इलाज या डायग्नोस्टिक टेक्नोलॉजी के  डेवलपमेंट और रिसर्च के लिए इंजीनियरिंग की मदद ली जाती है। बायोमेडिकल इंजीनियर का मुख्य कार्य मेडिकल संबंधी उपकरणों की देखरेख और उनके सही तरह से कार्य करने से संबंधित होता है। बता दें कि Biomedical Engineering ऐसा फील्ड है, एक्सपर्ट लाइफ साइंस और इंजीनियरिंग के सिद्धांतों (Principle) का इस्तेमाल करते हैं।

बायोमेडिकल इंजीनियरिंग (Biomedical Engineering)  के तहत मेडिकल उपकरणों का डिजाइन और निर्माण करते हैं। जिसके अंतर्गत व्हील चेयर, कृत्रिम हृदय, कॉन्टैक्ट लैंस, क्लिनिकल कम्प्यूटर्स, आदि आते हैं। आज के समय में मेडिकल साइंस के क्षेत्र में कृत्रिम अंगों (Artificial Limbs) के निर्माण, जीन और टिश्यू मेनिपुलेशन, सर्जिकल उपकरण, डायलिसिस उपकरण, सिटी स्कैन, एमआरआई, सोनोग्राफी, रेडियोग्राफी (Jean And tissue manipulation, surgical instruments, dialysis equipment, city scans, MRI, sonography, radiography) आदि सभी बायोमेडिकल इंजीनियरिंग की ही देन है।

Biomedical Engineering Course

Undergraduate Course

  • B.Tech in Biomedical Engineering
  • B.Tech in Biomedical Instrumentation
  • B.Sc in Biomedical Engineering
  • B.Tech in Biotechnology & Biochemical Engineering
  • BE in Biomedical Engineering

Postgraduate Courses

  • M.Sc in Biomedical Engineering
  • M.Tech in Biomedical Engineering
  • ME in Biochemical Engineering & Biotechnology
  • M.Tech in Bio-Medical Signal Processing & Instrumentation
  • MS in Biomedical Engineering
  • ME in Biomedical Engineering
  • ME in Biochemical Engineering & Biotechnology

Doctoral Course

  • Ph.D in Biomedical
  • Biomedical Engineering Branch

Biomedical Engineering Branch

बायोमेडिकल इंजीनियरिंग में खास बात यह है कि इसमें आप को कई प्रकार के ब्रांच है जो आप के रुचि के अनुसार स्पेशलाइजेशन (specialization in biomedical engineering) प्राप्त कर सकते हैं। जैसे कि-

  • बायोमटीरियल्स
  • बायोइंस्ट्रूमेंटेशन
  • सेल्यूलर
  • क्लीनिकल इंजीनियरिंग टिशू एंड जेनेटिक इंजीनियरिंग
  • ऑर्थोपेडिक बायोइंजीनियरिंग
  • रिहैबिलिटेशन इंजीनियरिंग
  • मेडिकल इमेजिंग आदि शामिल हैं।

Biomedical Engineer Salary

बायोमेडिकल इंजीनियर्स शुरुआती सैलेरी 20 से 30 हजार के बीच मे मिल जाती है। बायोमेडिकल इंजीनियर्स शुरुआत में सालाना 3 से 3.5 लाख रुपये कमा सकते हैं। 25 से 35 हजार रुपये प्रतिमाह एक प्राइवेट अस्पताल एवं क्लिनिक वेतन देता है। अनुभव होने के बाद सैलरी भी बढ़ती है। इसके अलावा कैडिडेंट कुछ वर्ष कार्य करने के बाद खुद का लैब भी स्थापित कर सकते हैं।

Career Scope

बायोमेडिकल इंजीनियरिंग में रोजगार के काफी अच्छे अवसर हैं। जिस प्रकार नए-नए अस्पताल खुल रहे। उसी प्रकार बायो-मेडिकल इंजीनियर की डिमांड भी बढ रही है। आज के समय मे भारत में सरकारें लोगों के बेहतर सुविधाओं के लिए कई चिकित्सा केन्द, रिसर्च इंस्टीट्यूट खोल रही है।

देश के कई इंजीनियरिंग विवि  स्कूल ऑफ एडवांस्ड स्टडीज (स्नातक), स्कूल ऑफ फार्मेसी एवं फार्मास्यूटिकल रिसर्च, स्कूल ऑफ बायोलॉजिकल साइंस एवं सेंटर फॉर आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस एवं बायोमेडिकल इंजीनियरिंग के क्षेत्र में नए इंस्टीट्यूट शुरू करें रहीं है। जिससे की आने वाले समय में लोगो के बेहतर बेहतर स्वास्थय सुविधाएं मिल सकें औऱ महामारी से निपटनें में सुविधा हो। इसी के साथ ही भारत भी चिकित्सा उपकरणों के निर्माण में अंतरराष्ट्रीय सेंटर बन रहा है, जिससे Biomedical Engineers की जरूरत भी बढ़ रही है।

Main Institute and collage

  • इडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (IIT) नई दिल्ली, मुंबई, रुड़की
  •  नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, रायपुर
  • नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, राउरकेला
  • बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी
  • मणिपाल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, मणिपाल
  • जेबी इंस्टीट्यूट ऑफ इंजीनियरिंग, हैदराबाद
  • नेताजी सुभाष इंजीनियरिंग कॉलेज, कोलकत्ता
  • जादवपुर यूनिवर्सिटी
  • वेल्लोर इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, वेल्लोर
  • एमिटी यूनिवर्सिटी, नोयडा
  • सेंट्रल यूनिवर्सिटी ऑफ कोलकाता

Top Recruiters Company in Biomedical Engineering

  • Larsen & Toubro Siemens Stryker Global Technology Center
  • Cipla Deloitte Consulting India Pvt Ltd
  • Texas Instruments Inc.  BPL Healthcare
  • Phillips Healthcare Wipro GE Medical System
  • General Electric Global Research, Bangalore

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *