Agriculture Engineer kaise Bane : Career in Agriculture Engineering

Agriculture Engineer kaise Bane: दुनिया लगातार तरक्की कर रही है। जिसमें एग्रीकल्चर सेक्टर भी पीछे नहीं है। एग्रीकल्चर सेक्टर ही ऐसा सेक्टर है जो हमारी भूख मिटता है। इस सेक्टर को करियर के लिहाज से नजरअदांज नहीं किया जा सकता है। आज के दौर में लेटेस्ट मशीनरी, उपकरण के साथ एग्रीकल्चर सेक्टर तेजी से बढ़ रहा है। क्या एग्रीकल्चर सेक्टर में करियर बनाने की रुचि रखतें है, क्या इंजीनियरिंग कैसे करें ? इस करियर ऑप्सन पर जानकारी चाहतें तो आप सही ब्लॉग पढ़ रहें है।

Agriculture Engineer kaise Bane

हमारा देश भारत कृषि प्रधान देश है, और कृषि हमारे देश की अर्थव्यवस्था की नींव है। लोगों की भूख तो एग्रीकल्चर के माध्यम से ही मिटती है। करियर के लिहाज से एग्रीकल्चर सेक्टर अपनी अलग जगह रखता है। एग्रीकल्चर सेक्टर में एंप्लॉयमेंट के अवसर है। आज के मार्डन दौर में ज्यादातर काम मशीनों से हो रहा है। ऐसे में Agriculture Engineering में कुछ बेहतर कर सकतें है।

पिछले कई दशकों से एग्रीकल्चर फील्ड में युवाओं ने गहन अध्ययन, शोध व प्रयोग करके एग्रीकल्चर सेक्टर को मार्डन बनाने का प्रयास किया है। यही वजह है कि आज के समय में काफी काम लेटेस्ट टेक्लोलॉजी से हो रहा है। अगर आप एग्रीकल्चर फील्ड में अपना कॅरियर बनाना चाहते हैं तो आपको इंजीनियरिंग कोर्स के बाद नौकरियों के अच्छे विकल्प प्राप्त हो सकते हैं।

एग्रीकल्चर इंजीनियरिंग क्या है/ What is Agriculture Engineering

एग्रीकल्चरल इंजीनियरिंग, इंजीनियरिंग की वह ब्रांच है जो एग्रीकल्चर एक्यूमेंट और एग्रीकल्चर के फील्ड में काम आने वाली मशीनरी के मैन्युफैक्चरिंग, डिजाइन और सुधार से रिलेटिड है। एग्रीकल्चर इंजीनियरिंग में  स्किल्ड स्डुडेंट नए और परिष्कृत (refined) एग्रीकल्चर एक्यूमेंट डिजाइन करते हैं जो अधिक कुशलता से काम करते हैं।

एग्रीकल्चर इंजीनियरों का काम बेहतर इंजीनियरिंग मैथट, इन्वेंशन, टेक्नोलॉजी और एक्यूमेंट के माध्यम से एग्रीकल्चर प्रोडक्शन में सुधार करना है, जिससे बेहतर कॉर्प प्रोडक्शन और फॉर्मिग में बेहतर मुनाफा प्राप्त हो सके। आने वाले वर्षों में एग्रीकल्चर में ऐसे इंजीनियरिंग की डीमांड बढ़ने वाली है। ऐसे में ऐसे कैडिडेंट जो एग्रीकल्चरल इंजीनियरिंग में जूनन रखतें है तो उनके लिए या करियर फील्ड अच्छा साबित हो सकता है।

Agriculture Engineer kaise Bane : Career in Agriculture Engineering

एग्रीकल्चर इंजीनियरिंग में के लिए आप के पास कई कोर्स है। जिसे आप कर सकतें है। जिसमें डिप्लोमा, ग्रेजुएशन, पोस्ट ग्रजूएशन कोर्स और पीएचडी भी कर सकतें है। एग्रीकल्चर फील्ड में डिप्लोमा या बीटेक के बाद जॉब ज्वाइन कर सकते हैं इसके अलावा पोस्टग्रेजुएशन डिग्री यानि एमटेक करके भी आप इस फील्ड में विशेषज्ञ बन सकते हैं।

एग्रीकल्चर इंजीनियरिंग में प्रवेश के लिए पात्रता मानदंड

एग्रीकल्चर इंजीनियरिंग में कॅरियर बनाने के लिए 10वीं और 12वीं के बाद पॉलीटेक्निक डिप्लोमा भी किया जा सकता है। ये 3 साल का डिप्लोमा कोर्स होता है।

एग्रीकल्चर इंजीनियरिंग में बी.टेक कोर्स में एडमिशन प्राप्त करने के लिए न्यूनतम शैक्षणिक आवश्यकता 10+ 2 में साइन्सन स्ट्रीम के साथ न्यूनतम 50 प्रतिशत अंक या इससे ज्यादा  प्राप्त होना अनिवार्य है। ये 4 साल का ग्रेजुएट कोर्स होता है।

इसके बाद पोस्टग्रेजुएशन कोर्स यानि एमटेक या एमई किया जा सकता है जोकि 2 साल का कोर्स होता है।

Agricultural Engineering Course

  • Diploma in Agricultural Engineering
  • Postgraduate Diploma in Agriculture
  • BE in Agricultural Engineering
  • B.Tech in Agricultural Engineering
  • M.Tech in Agricultural Engineering
  • B. Tech in Agricultural Engineering
  • M. Tech. in Agricultural and Food Engineering
  • PhD in Agricultural Engineering

परीक्षा का नाम/ Name of exam

  • इंडियन काउंसिल ऑफ़ एग्रीकल्चरल रिसर्च ऑल इंडिया एंट्रेंस एग्जाम
  • IIT-JAM (भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान-संयुक्त प्रवेश परीक्षा)
  • ऑल इंडिया इंजीनियरिंग एंट्रेंस एग्जाम
  • ग्रेजुएट एप्टीट्यूड टेस्ट इन इंजीनियरिंग (गेट)
  • इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी बीएचयू एंट्रेंस एग्जाम
  • इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी, ज्वाइंट एंट्रेंस एग्जाम
  • नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी, कंबाइंड प्री-एंट्रेंस टेस्ट
  • गुजरात कॉमन एंट्रेंस टेस्ट
  • केरल इंजीनियरिंग एग्रीकल्चरल मेडिकल (KEAM)
  • महाराष्ट्र कॉमन एंट्रेंस टेस्ट (MHCET)
  • नार्थ ईस्टर्न रीजनल इंस्टिट्यूट ऑफ़ साइंस एंड टेक्नोलॉजी एंट्रेंस एग्जाम

 Collage & University

  • Indian Institute of Technology,Roorkee
  • SRM University,Amaravati
  • Birla Institute of Technology and Science,Pilani
  • Indian Institute of Technology Delhi,Delhi
  • Amity University,Noida
  • Indian Institute of Technology,Kharagpur
  • Indian Institute of Technology,Kanpur
  • Lovely Professional University,Phagwara
  • Indian Institute of Science,Bengaluru

कृषि इंजीनियरों के लिए टॉप रिक्रूटर्स

कई कंपनियां एग्रीकल्चर इंजीनियरिंग (Agriculture Engineering) ग्रेजुएट्स को जॉब पाने का अवसर देती हैं। कुछ टॉप लेवल के संस्थान और कंपनियों इस प्रकार हैं।

  • भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद
  • पीआरएडीएएन
  • भारतीय खाद्य निगम
  • वैज्ञानिक और औद्योगिक अनुसंधान परिषद
  • राष्ट्रीय बीज निगम
  • राष्ट्रीय डेयरी विकास बोर्ड
  • डेयरी कम्पनीज (जैसे मदर डेयरी, अमूल)
  • नेस्ले इंडिया
  • आईटीसी
  • नाबार्ड

जॉब प्रोफाइल

एग्रीकल्चर इंजीनियरिंग कर

नीचे दिए गए कुछ जॉब प्रोफाइल दिए गए हैं जिन्हें कृषि इंजीनियर आमतौर पर कृषि इंजीनियरिंग में ग्रेजुएशन करने के बाद अपनाते हैं। इन प्रोफाइल्स में एग्रीकल्चर इंजीनियर्स (Agriculture Engineering) को किन स्किल्स की जरूरत होती है इसके बारे में नीचे टेबल में जानकारी दी गयी है:

  • एग्रीकल्चरल इंजीनियर
  • एग्रीकल्चर फील्ड ऑफिसर
  • सब्जेक्ट मैटर स्पेशलिस्ट
  • खाद्य और पेय पर्यवेक्षक
  • एग्रोनॉमिस्ट
  • सॉयल साइंटिस्ट
  • सर्वे रिसर्च एग्रीकल्चरल इंजीनियर

 एग्रीकल्चर इंजीनियर की सैलरी

एग्रीकल्चर इंजीनियरिंग (Agriculture Engineering) से संबधित कार्स कर चुके कैडिडेंट की सैलरी शुरुआत में 4 लाख से 5 लाख तक सालाना हो सकती है जो कि अनुभव के साथ बढ़कर 10 लाख तक हो सकती है।

Career Pedia को उम्मीद है कि इस पोस्ट में दी गई  जानकारी आपको पसंद आई होगी। अगर आपके कोई भी सवाल, सुझाव या इस लेख में कोई त्रुटि रह गई है तो हमे कॉमेंट और Email कर सकते हैं। हमारे You Tube Channel, Facebook page Linkdin page, Instragram और  Telegram channel पर जुड़ सकते है। वहां से करियर जानकारी के पोस्ट व वीडियों के लेटेस्ट नोटिफिकेशन पा सकते है। धन्यवाद !!